चन्द्रशेखर जी ने सदैव गरीबों, मजलूमों की भलाई हेतु समतामूलक समाज की स्थापना हेतु प्रयास किया

देश के प्रधानमन्त्री चन्द्रशेखर की बारहवीं पुण्यतिथि पर समाजवादी पार्टी कार्यालय पर जिलाध्यक्ष रामबहादुर यादव की अध्यक्षता में एक विचार गोष्ठी का आयोजन किया गया। इस अवसर पर पार्टीजनों ने चन्द्रशेखर जी के चित्र पर पुष्पांजलि अर्पित कर उनकी जीवनी पर विचार व्यक्त किया। जिलाध्यक्ष रामबहादुर यादव ने कहा कि चन्द्रशेखर जी ने सदैव गरीबों, मजलूमों की भलाई हेतु समतामूलक समाज की स्थापना हेतु प्रयास किया। वह बलिया जनपद के एक सामान्य परिवार में जन्म लेकर देश के प्रधानमन्त्री पद तक का सफर तय किया, वह महान समाजवादी नेता थे।
पार्टी महासचिव नगर पालिका के पूव्र अध्यक्ष मो0 इलियास ने उनके व्यक्तित्व पर बोलते हुए कहा हमें चन्द्रशेखर जी के विचारों सिद्धान्तों पर चलकर समाज में भलाई के कार्य करने चाहिए, उन्होनें कभी भी सत्ता के लोगों से समझौता नहीं किया।
विचार गोष्ठी को सम्बोधित करते हुए जिला उपाध्यक्ष ई0 वीरेन्द्र यादव ने कहा कि चन्द्रशेखरजी देश के ऐसे नेता थे, जिन्होनें जनहित में अपनी आवाज सड़क से लेकर संसद तक बुलन्द की, उन्होनें चर्चित ऐतिहासिक पदयात्रा कश्मीर से लेकर कन्याकुमारी तक की। वह पद लोलुप नहीं थे, लोकसभा में लोकहित के मुद्दे अक्सर बेबाकी से उठाया करते थे, अपनी संघर्ष की बदौलत देश के प्रधानमन्त्री बने हमें उनसे प्रेरणा लेनी चाहिए।
उपाध्यक्ष रामसेवक वर्मा ने कहा कि चन्द्रशेखर जी हमारे नेता मुलायम सिंह यादव के समाजवादी आन्दोलन के साथी थे, उन्होनें सदैव समाजवाद को आगे बढ़ाने का कार्य किया। देश के बड़े समाजवादी आन्दोलन के नायक जय प्रकाश नारायण के साथ मिलकर उन्होनें 1977 में तत्कालीन काँग्रेस सरकार को हटाने का कार्य किया था।
इस अवसर पर उपाध्यक्ष राजेश मौर्या, रंजीत यादव, विनय यादव, मो0 साहिल, विनोद यादव, मो0 हसीन, जीतेन्द्र मौर्या, अखिलेश माही, मो. फहीम, बब्लू यादव, सुरजीत सिंह, मनोज यादव आदि ने अपने विचार व्यक्त किये।
कार्यक्रम में मो. इकराम, देवतादीन, पवन यादव, समर बहादुर, जयहिन्द पाल, सुशील यादव, नफीस अहमद, गौरव मिश्र, अजय यादव, रमेश मौर्या आदि उपस्थित रहे।