झांसी शस्यश्यामला वृक्ष सेवा संस्थान द्वारा दो हजार वृक्षारोपण


शस्यश्यामला वृक्ष सेवा संस्थान, झांसी द्वारा दो हजार से अधिक वृक्षारोपण किया गया पूर्व में संस्थान ने 1000 पौधे लगाने का संकल्प लिया था विकास के कारण मानव जीवन में सुविधाओं और संसाधनों की बढ़ोतरी तो होती जा रही है सुविधाओं और संसाधनों के चलते वातावरण दूषित और विषैला होकर तरह-तरह की बीमारियों को जन्म दे रहा है। जिस को कम करने का एकमात्र उपाय अधिक से अधिक संख्या में वृक्षारोपण ही है साथ में वृक्षों की अंधाधुंध कटान को रोकते हुए वृक्षों के साथ रोपित किए गए पौधों का संरक्षण भी अत्यंत आवश्यक है। इसी वृक्षों के संरक्षण को ध्यान में रखते हुए संस्थान ने सर्वप्रथम ग्राम पंचायत खैरा बबीना में झांसी-ललितपुर रोड पर स्थित हनुमान मंदिर के प्रांगण में सागौन, चितवन, कंजी सहजन, आंवला और बहेड़ा आदि के लगभग 300 पौधों का सुमित पांडे के संरक्षण में वृक्षारोपण किया गया। गेटसो संस्थान द्वारा नगर निगम क्षेत्र के सी-34 रेलवे इंस्टीट्यूट झांसी में लगभग 200 वृक्षों के पौधों का पायल शरना के संरक्षण में वृक्षारोपण किया गया। पाल कॉलोनी में कमल किशोर साहू के संरक्षण में 150 पौधे एवं सारंध्रा नगर हंसारी में वहीं सबसे अधिक संख्या में मदरसीता स्कूल के पास बीना तलवार के संरक्षण में लगभग 300 पौधों का रोपण किया गया। वहीं सबसे अधिक संख्या में वार्ड नं. 24 भगवन्तपुरा झांसी में राकेश यादव एवं मोहित यादव के संरक्षण में लगभग 1100 वृक्षों की पौध का रोपण किया गया। उक्त सभी संरक्षकों से संस्थान द्वारा वृक्षों के संरक्षण की शपथ दिलाई गई।
इन सभी अवसरों पर अमित कुमार, पंकज रावत, श्रीमती श्रुति चड्ढा, रामस्वरूप, कौशल किशोर सोनी, दीपक, राजूमाली, नीरज, करन सिंह, रूपसिंह, साहब सिंह, श्रीमती- केशकली, कामिनी जैन, आरधना श्रीवास्तव, दीपा यादव, रेखा, सीमा, अंकित, कृष्ण कुमार, राहुल सहित तमाम व्यक्तियों ने वृक्षारोपण में सहायता की।


 


इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

पक्षी आपका भाग्य बदले

परिवर्तन योग से करें भविष्यवाणी

जेल जाने के योग