विश्व एकता सत्संग आयोजित

सिटी मोन्टेसरी स्कूल, गोमती नगर (प्रथम कैम्पस), लखनऊ में आयोजित विश्व एकता सत्संग में अपने  विचार रखते हुए विभिन्न धर्मावलम्बियों ने एक स्वर से कहा कि मानव जीवन ईश्वर की बहुमूल्य देन है, अतः इसका उद्देश्य मूल्यों पर आधारित होना चाहिए। सत्य बोलना, सबसे प्यार करना, माता-पिता तथा उनके माता-पिता का आदर करना तथा उनकी सेवा करना तथा परमात्मा को जानने का प्रयास करना और उनके बताये रास्तों पर चलना आदि ही मानव धर्म है। विद्वजनों का कहना था कि ईश्वर को जान लेने से मनुष्य को सभी प्रकार के सुख प्राप्त हो सकते हैं। सत्संग करके ईश्वर को उसके अवतारों के माध्यम से जानने का अवसर मिलता है। ईश्वर चाहते हैं कि पूरी दुनिया के लगभग सात अरब लोगों के हृदय एक हो जाएं। ईश्वर ने हमें जीवित रहने के लिए सभी भौतिक वस्तुएं उपलब्ध कर दी हैं, अब मनुष्यों को ईश्वर को जानने का प्रयास करना चाहिए।
 ़़़़़ विश्व एकता सत्संग मे आज सीएमएस राजेन्द्र नगर (प्रथम कैम्पस) के छात्रो ने अनेक शिक्षात्मक-साँस्कृतिक कार्यक्रम प्रस्तुत कर सभी को मंत्रमुग्ध कर दिया। बच्चों ने स्कूल प्रार्थना, लघु नाटिका, भक्ति गीत, सुविचार इत्यादि प्रस्तुत किये। नुक्कड़ नाटक के माध्यम से छात्रों ने देश प्रेम की भावना को दर्शाया तो वहीं राधा-कृष्ण पर सुन्दर नृत्य प्रस्तुति से सभी का दिल जीत लिया। प्रार्थना नृत्य 'हर जगह हर कहीं पर है उसी का नूर', गीत 'तुम समय की रेत पर छोड़ते चलो निशां' एवं देशभक्ति गीत 'ऐ वतन, वतन मेरे आबाद रहे तू' आदि को सभी ने खूब सराहा। सत्संग में बड़ी संख्या में बच्चों के अभिभावक भी उपस्थित थे। सत्संग का समापन संयोजिका श्रीमती वंदना गौड़ द्वारा धन्यवाद ज्ञापन से हुआ।


इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

पक्षी आपका भाग्य बदले

परिवर्तन योग से करें भविष्यवाणी

जेल जाने के योग