रिफलेक्शन-2019 का भव्य समापन

सिटी मोन्टेसरी स्कूल, महानगर कैम्पस, लखनऊ द्वारा आयोजित चार दिवसीय अन्तर्राष्ट्रीय इतिहास एवं नागरिक शास्त्र महोत्सव 'रिफलेक्शन-2019' का समापन सी.एम.एस. कानपुर रोड आॅडिटोरियम में पुरस्कार वितरण के साथ हुआ। रंगारंग शिक्षात्मक-साँस्कृतिक कार्यक्रमों के बीच सम्पन्न हुए पुरस्कार वितरण समारोह में देश-विदेश के विजयी छात्रों को शील्ड, मैडल व सार्टिफिकेट प्रदान कर पुरस्कृत कर सम्मानित किया। 'रिफलेक्शन-2019' में नवरचना स्कूल, वड़ोदरा, गुजरात की छात्र टीम ने ओवरआॅल चैम्पियनशिप जीतकर अपने ज्ञान विज्ञान का परचम लहराया जबकि रिचमण्ड कालेज, श्रीलंका की टीम रनरअप रही। सी.एम.एस. प्रेसीडेन्ट प्रो. गीता गाँधी किंगडन ने विजयी प्रतिभागियों को पुरस्कृत कर सम्मानित किया।
 समापन समारोह में सी.एम.एस. छात्रों ने रंगारंग शिक्षात्मक-साँस्कृतिक कार्यक्रमों की सतरंगी छटा बिखेर कर देश-विदेश से पधारे छात्रों, टीम लीडरों व प्रख्यात विशेषज्ञों को झूमने पर मजबूर कर दिया। भारतीय संस्कृति से सराबोर शिक्षात्मक-साँस्कृतिक कार्यक्रमों से विदेशी मेहमान गद्गद व प्रफुल्लित दिखाई दिये साथ ही तालियों की गड़गड़ाहट से पूरा आॅडीटोरियम गूँज उठा। कार्यक्रम का शुभारम्भ सर्व-धर्म व विश्व शान्ति प्रार्थना से हुआ। भारतीय संस्कृति में छिपी अनेकता में एकता को सुन्दर नृत्यों द्वारा मंच पर प्रस्तुत किया गया। 
  इस अवसर पर देश-विदेश से पधारे प्रतिभागी छात्रों ने भी अपने विचार व्यक्त किए। प्रतिभागी छात्रों का कहना था कि हम सी.एम.एस. के आभारी हैं, जिसने हमें अपने ज्ञान-विज्ञान के प्रदर्शन हेतु अन्तर्राष्ट्रीय मंच दिया। हम यहाँ से बहुत कुछ सीखकर जा रहे हैं।
 रिफलेक्शन-2019 की संयोजिका व सी.एम.एस. महानगर कैम्पस की प्रधानाचार्या डा. कल्पना त्रिपाठी ने देश-विदेश से पधारे प्रतिभागियों एवं टीम लीडरों के प्रति हार्दिक धन्यवाद ज्ञापित करते हुए कहा कि शिक्षा द्वारा हमें ऐसे बीज बोने है जिससे विश्व एकता व विश्व शान्ति पर आधारित एक नया समाज गठित हो। सी.एम.एस. संस्थापक व प्रख्यात शिक्षाविद् डा. जगदीश गाँधी ने सभी प्रतिभागी छात्रों को अपना आशीर्वाद दिया व उन्हें सभी मतभेद मिटाकर विश्व नागरिक बनकर समाज की सेवा करने के लिए प्रेरित किया। उन्होंने कहा कि यह अन्तर्राष्ट्रीय महोत्सव युवा पीढ़ी का रुझान सम्पूर्ण मानवता के कल्याण हेतु प्रेरित करने में निश्वित ही सफल हुआ है।