उत्पीड़न के खिलाफ झांसी में गरजे पत्रकार दी प्रशासन को कड़ी चेतावनी

झांसी मीडिया क्लब के तत्वावधान में जिला मुख्यालय पर इलाइट चैराहे पर जिले के प्रिंट व इलेक्ट्रॉनिक मीडिया के पत्रकारां ने एक जुट होकर प्रदेश में पत्रकारों के उत्पीड़न, फर्जी मुकदमें दर्ज करने व मिर्जापुर के पत्रकार के खिलाफ मिड डे मील योजना में गड़बड़ी की खबर उजागर करने व बिजनोर में पत्रकारों पर दर्ज मुकदमें, पब्लिक पावर के सम्पादक पर उन्नाव में गुंडा एक्ट की कार्यवाही तथा दैनिक जनता यूनियन के सम्पादक नत्थू कुशवाहा का नाम हिस्ट्री शीट में दर्ज करने के विरोध में जंगी प्रदर्शन कर धरना देकर एक स्वर में पत्रकारों के उत्पीड़न के खिलाफ आंदोलन का विगुल फूंक दिया। इतना ही नहीं पत्रकारों ने बिजनोर व मिर्जापुर के प्रसाशन का पुतला फूंक कर आक्रोश व्यक्त किया। झाँसी मीडिया क्लब के अध्यक्ष मुकेश वर्मा के आव्हान पर झाँसी मुख्यालय पर जिले भर के मीडिया कर्मियों का जमाबड़ा हुआ। मीडिया कर्मियों ने इलाइट चैराहे पर धरना प्रदर्शन कर प्रदेश सरकार की पत्रकार विरोधी नीतियों पर करारा प्रहार किया। पत्रकारों ने प्रदेश भर में विविध जिलों में पत्रकारों पर हुए उत्पीड़न व फर्जी मुकदमे दर्ज किए जाने को चैथे स्तम्भ पर कुठारा घाट बताया, और चेतावनी दी कि यही इस तरह के मामलों की पुनरावर्ती हुई तो पत्रकार जिलों से निकल कर प्रदेश व देश स्तर पर आंदोलन की अलख जगायेगें। इतना ही नहीं इस दौरान सरकार की जन कल्याण कारी नीतियों में किये जा रहे घपलों को उजागर कर आइना दिखाया जाएगा।
प्रारम्भ में मीडिया क्लब के अध्यक्ष मुकेश वर्मा ने मिर्जापुर व बिजनोर जिलों में पत्रकारों पर दर्ज मुकद्मों तथा उन्नाव जिले में दैनिक पब्लिक पावर के सम्पादक पर गुंडा एक्ट की कार्यवाही व झाँसी के दैनिक जनता यूनियन के सम्पादक नत्थू कुशवाहा का हिस्ट्री शीटर लिस्ट में लिखे नाम के आदि की विस्तार से जानकारी देते हुए सम्बंधित जिला व पुलिस प्रसाशन को कठघरे में खड़ा किया। उंन्हांने स्पस्ट किया कि गड़बड़ियां उजागर करने वाले पत्रकारों का दमन करने के लिए सोची समझी साजिश के तहत कुचक्र किया जा रहा है। इसे मीडिया कर्मी किसी भी हालत में बर्दास्त नहीं करेंगे और सभी एक जुट होकर जिले से लेकर प्रदेश व देश तक उत्पीड़न के खिलाफ आवाज बुलंद करेंगे। उंन्हांने सभी मीडिया संगठनों से एक जुट होकर एक मंच पर आकर संघर्ष में साथ देने का आव्हान किया। इसके साथ ही उन्होंने ने पत्रकार सुरक्षा कानून व पत्रकारों की सुरक्षा सुविधा आदि की मांग पुरजोर तरीके से उठाई। सभी पत्रकार साथियों ने प्रदर्शन व नारे बाजी करते हुए एक जुटता के साथ सड़क पर उतर कर संघर्ष करने का संकल्प दोहराया। इस प्रदर्शन में उपस्थित महिला पत्रकार साथियां ने कदम से कदम मिलाकर आंदोलन में साथ देने का वायदा किया। वही राजनीतिक संघठन स्वंय सेवी संस्था सहित गणमान्य नागरिकों ने भी धरना स्थल पर अपनी उपस्थिति दर्ज कराकर पत्रकारों के स्वंर में स्वंर मिलाया व देश के चैथे स्तम्भ को दमन किये जाने की निंदा की। इस दौरान धरना स्थल पर पहुँचे नगर मजिस्ट्रेट रामप्रकाश को मीडिया क्लब के अध्यक्ष मुकेश वर्मा व ग्रामीण पत्रकार एसोसिएशन के अध्यक्ष डा. बीबी गौर के नेतृत्व में पत्रकारों ने मांग सम्बन्धी ज्ञापन दिया। साथ ही चेतावनी दी कि यदि पत्रकार उत्पीड़न नहीं थमा तो आर-पार की लड़ाई होगी। ज्ञापन देने के बाद आक्रोशित पत्रकारों ने बिजनोर व मिर्जापुर प्रसाशन का पुतला फूंका। धरने को वरिष्ठ पत्रकार हरिकृष्ण चतुर्वेदी, रामकुमार साहू, रामगोपाल शर्मा, कमलेश बिहारी पाण्डेय, पवन झा, शीतल तिवारी, प्रवीण जैन, चन्द्रकांत यादव, दीपक चंदेल, रवि शर्मा, नवल किशोर शर्मा, दीपचंद चैबे, सूरज यादव, मनोज तिवारी, राजेश चैरसिया, पवन जैन, सुल्तान आब्दी, नाजमा आब्दी, विनोद पंण्डा, हनीफ खान, शमीम राईन, तौशीफ कुरैशी, नीरज साहू, ग्रामीण पत्रकार एसोसिएशन के जिलाध्यक्ष डा. बीबी गौर, गुर्जर महेन्द्र नागर, अभिन्दन कुमार जैन, धीरेन्द्र रायकवार, अवध बिहारी, आराधना नामदेव के अलावा पूर्व केन्द्रीय मंत्री प्रदीप जैन आदित्य, कांग्रेसी नेता सुनील तिवारी, बुन्देलखण्ड निर्माण मोर्चा के अध्यक्ष भानु सहाय, प्रजाशक्ति पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष पंकज रावत, बुन्देलखण्ड मुक्ति मोर्चा के लियाकत अली, गुलाम गौस खां यूथ बिग्रेड के प्रदेश अध्यक्ष रिजवान राईन, आसरा ग्रुप की पूजा शर्मा, अमन मानव समाज सेवी संस्था की राष्ट्रीय अध्यक्ष रिजवाना गौरी, संतराम पेन्टर आदि ने संम्बोधित किया। इस दौरान श्याम राजपूत, इमरान खान, प्रभात साहनी, रोहित झा, रानू साहू, विजय कुशवाहा, भरत कुलश्रेष्ठ, चन्द्रशेखर तिवारी, उमेश शर्मा, मनीष अली, बबलू रमैया, आकाश राठौर, रवि शंकर सेठी, आशीष दुबे, अतर सिंह परिहार आनन्द मोदी, आलोक श्रीवास्तव, रवि साहू, मुकेश झा, गोविन्द यादव, मो. हनीफ खान, नईम खान, शाहिद खान, संजीव सोनी, अजीत चैधरी, सूरज, मनीष साहू, ओम प्रकाश परिहार, उमेश रजक, आकाश कुलश्रेष्ठ, अमर सिंह, कलाम कुरैशी, नवीन यादव, यशपाल सिंह, राहुल कोष्टा, आशीष उपाध्याय, पंकज भारती, अरूण वर्मा, बृजेश साहू,मनीराम वर्मा, आफरीन, तारिक, विकास विश्वकर्मा, अरविन्द श्रीवास, जितेन्द्र श्रीवास, रिंकू सेंगर, इदरीश खान, अखिलेश राज, राजकुमार तिवारी, मिलन परिहार, प्रदीप शर्मा, लोकेन्द्र सिंह,दीपक चैहान, उदय कुशवाहा, अरबाज दानिश, दुर्गाशंकर दीक्षित, अतुल वर्मा, प्रहलाद गौतम, मुख्तार खान समेत शहरी व ग्रामीण क्षेत्र के तमाम पत्रकार मौजूद रहे।