भारतीय संविधान देश में सर्वोपरि है

रायबरेली। लोकतंत्र की पहचान भारतीय संविधान है भारत का संविधान ऐसा संविधान है जो विश्व में सबसे बड़ा व लोकप्रिय है जिसमें सभी के मौलिक अधिकारों को सुरक्षित कानून है संविधान शिल्पी बाबा साहब डाॅ0 भीमराव अम्बेडकर द्वारा भारतीय संविधान को 2 साल 11 महीनें और 18 दिन में बनाया गया। भारतीय संविधान देश में सर्वोपरि है हम सभी को संविधान का पालन करते हुए अपने कर्तव्यों को पूरी तरह व ईमानदारी से निभाना चाहिए तथा राष्ट्रीय एकता व अखण्डता को अधिक मजबूत कराना चाहिए। सरकार व प्रशासन के दिशा निर्देशों का अनुपालन करने के साथ ही स्वच्छता, पठन-पाठन को बढ़ावा देने के साथ ही देश का एक अच्छा नागरिक बनने की ओर अग्रसर रहते हुए देश व समाज को विकास व उन्नति के रास्तों पर ले जाने का मार्ग चुनना चाहिए। यह विचार देर साय हार्थी पार्क, रायबरेली स्थित संविधान शिल्पी डाॅ0 भीमराव अम्बेडकर की मूर्ति के पास आयोजित संविधान दिवस विचार एवं काव्य गोष्ठी कार्यक्रम में व्यक्ति किये गये। उपस्थित जनों द्वारा संविधान शिल्पी बाबा साहब डाॅ भीमराव अम्बेडकर की मूर्ति पर माल्यार्पण व मोमबत्तियां जलाकर उनको श्रद्धासुमन अर्पित करने के साथ ही भारतीय संविधान और बाबा साहब की जीवन पाठय की महत्ता पर प्रकाश डाला गया। आमजन को प्रदेश सरकार की विकास एवं सुशासन के 30 माह सबका साथ, सबका विकास, सबका विश्वास की महत्वपूर्ण पुस्तिका में सरकार की उपलब्धियों की भी बताया गया।
 इस मौके पर एडी सूचना प्रमोद कुमार सहित राजेश, कुरील, रोहित चैधरी, अलोक कुमार, विजय कनौजिया, रेखा, अनिलकान्त, शिव शंकर वाल्मिकी, दिनेश वाल्मिकी, आशोक प्रियदर्शी, आशाराम रावत, दीप्ति राज, अंकिता राज, रोशनी आदि ने भी बाबा साहब डाॅ0 भीमराव अम्बेडकर की मूर्ति पर माल्यार्पण किया।