डेंगू जागरूकता जानकारी दी जाये

जिलाधिकारी, रायबरेली शुभ्रा सक्सेना ने देर सायं कैम्प कार्यालय में आयुषमान भारत योजनान्तर्गत पात्र लाभार्थियों को युद्ध स्तर पर गोल्डन कार्ड बनाकर व वितरण की प्रगति खराब पाये जाने पर सीएमओ एमओआईसी, खण्ड विकास अधिकारी आदि अधिकारियों को कड़ी फटाकर लागते हुए निर्देश दिये कि अपने-अपने क्षेत्रों में बेहतर सामन्जस्य बनाकर एक माईक्रोप्लान तैयाकर गोल्डन कार्ड बनाने व पात्र लाभार्थियों ज्यादा से ज्यादा वितरण करें। उन्होंने निर्देश दिये कि एमओआईसी सरेनी और रोहनिया के कार्ड वितरण की कार्यवाही क्रम से 9 व 6.6 प्रतिशत है जिसकी प्रगति अत्यधिक खराब है उन्होंने मुख्य विकास अधिकारी को निर्देश दिये कि सरेनी व रोहनिया के सम्बन्धित अधिकारी को कारण बताओं नोटिस व प्रतिकूल प्रविष्टि के दिये जाने के निर्देश दिये साथ ही यह भी कहा कि लक्ष्य के अनुरूप कार्यो में प्रगति लाकर लक्ष्य की पूर्ति करें। उन्होंने निर्देश दिये कि अधिकारीध्कर्मचारी अपने-अपने कर्तव्यों का निर्वहन भली-भांति करें। यदि शासन की मंशा के अनुरूप कार्य में रूची नही ली न ही लक्ष्य के अनुरूप प्रगति न होने पर ऐसे सभी अधिकारियोंध्कर्मचारियों का वेतन रोकना व उनके विरूद्ध दण्डात्मक कार्यवाही में किसी भी प्रकार की गुरेज नही होगी। उन्होंने कहा कि वेतन रोकना किसी भी समस्या का समाधान नही है अतः अधिकारीध्कर्मचारी स्वतं अपने कार्यो में रूची लेकर टीम भावना से कार्य करें। गोल्डन कार्ड बनाने की किस स्तर पर समस्या उत्पन्न हो रही है उसको स्पष्ट बताया जाये ताकि समस्या का समाधान किया जा सके। उन्होंने कहा कि एमओआईसी द्वारा जो कार्य किये जा रहे है उसकी प्रतिदिन परिर्वतन होते डाटा को देखा जाये। ग्राम प्रधानध्ग्राम सचिवों से सहयोग भी दिलाने का निर्देश खण्ड विकास अधिकारियोध्डीपीआरओ को दिया गया। 
 जिलाधिकारी शुभ्रा सक्सेना ने आयोजित बैठक में कहा कि गोल्डन कार्ड बनाने व वितरण के साथ-साथ ही मुख्यमंत्री कन्या सुमंगला योजना के पंजीकरण में भी प्रगति लाई जाये। उन्हांेने कहा कि ग्राम पंचायत स्तर पर सरकार की महत्वपूर्ण योजनाओं की सफलता के लिए जागरूकता कार्यक्रम आयोजित कर प्रत्येक दशा में प्रगति लाई जाये। इसके अलावा स्वच्छता अभियान डेंगू जागरूकता आदि का भी जानकारी दी जाये। इसके अलावा किसानों आमजन को बताया जाये सरकार द्वारा पराली व कुड़ा जलाये जाने पर प्रतिबद्ध है अतः किसी भी दशा में पराली व कुड़ा न जलाये जाये। पराली व कुड़ा जाने वालों पर एफआईआर, जुर्माना, व दण्डात्मक कार्यवाही भी की जायेगी। 
 इस मौके पर मुख्य विकास अधिकारी राकेश कुमार, मुख्य चिकित्साधिकारी डाॅ0 शरद कुमार वर्मा, अपर मुख्य चिकित्साधिकारी डा0 नागेन्द्र सहित समस्त खण्ड विकास अधिकारी, एमओआईसी आदि अधिकारीध्कर्मचारी उपस्थित थे।