मेथी से हानि कम लाभ अधिक

सर्दियां आते ही मेथी बहुतायत नजर आने लगती है, सब्जी से लेकर पराठे तक में इसका प्रयोग किया जाता है। मेथी पत्ते और दानों को आयुर्वेदिक औषधि के रूप में प्रयोग किया जा रहा है। 
- कब्ज रोग में मेथी की सब्जी खाने से लाभ होता है।
- मेथी का पानी पीने के फायदे डायबिटीज को नियंत्रित करने में मदद मेथी में मौजूद गेलेक्टोमैनन नामक फाइबर, खून में शुगर के अवशोषण को कम करता है। इससे शरीर का ब्लड षुगर लेवल नियत्रित रहता है और डायबिटीज से बचाव होता है। 
- जिन लोगों को एसिडिटी या गैस की समस्या है उनके लिए मेथी का पानी रामबाण इलाज है। रोजाना सुबह खाली पेट एक गिलास मेथी का पानी पीने से पेट की जलन दूर होती है और अपच या एसिडिटी से तुरंत आराम मिलता है।
- मेथी के पानी का सबसे महत्वपूर्ण फायदा यह है कि इसके नियमित सेवन से किडनी की पथरी में आराम मिलता है। मेथी में मोजूद तत्व पथरी को गलाने में अहम भूमिका निभाते हैं। हालांकि पथरी दूर करने का यह सिर्फ एक घरेलू उपाय है, इसके अलावा डॉक्टर की मदद अवश्य लें। 
- मेथी में एंटी बैक्टीरियल गुण पाए जाते हैं। इसी वजह से मेथी का पानी सर्दी-जुकाम या वायरल से बचाने में बहुत सहायक है। मेथी का पानी शरीर में मौजूद हानिकारक बैक्टीरिया को खत्म करते हैं और संक्रामक रोगों से आपको बचाते हैं।
- कई अध्ययनों में पाया गया है कि मेथी के दानों से निकला तेल कैंसर से लड़ने में सहायक होता है।
- अगर आप वजन कम करना चाहते हैं, तो मेथी आपकी मदद कर सकती है। इसे आप अपनी डाइट में जरूर शामिल करें।
- उच्च रक्तचाप कई तरह की बीमारियों का कारण बन सकता है। रक्तचाप अधिक होने पर ह्रदय रोग हो सकते हैं। इससे निपटने के लिए मेथी का सेवन किया जा सकता है।
- कई वैज्ञानिक षोधों में इस बात का दवा किया गया है कि किडनी के लिए मेथी फायदेमंद है। मेथी को अपने भोजन में शामिल करने से किडनियां अच्छी तरह काम कर पाती हैं।
- जिन्हें अक्सर कील-मुंहासों की शिकायत रहती है, उन्हें मेथी का प्रयोग जरूर करना चाहिए। मुंहासों को खत्म करने में मेथी मददगार साबित हो सकती है।
- मेथी के बीजों में पाए जाने वाले पोषक तत्व आपके दिल के स्वास्थ्य को बनाए रखने में काफी फायदेमंद होते है। ये ह्रदय के रक्त प्रवाह को नियमित कर उसे स्वस्थ बनाता है और ब्लड क्लॉट से बचाव करता है और ह्रदय रोग को भी कम करता है। इसका सेवन करने के लिए एक ग्लास में एक चम्मच मेथी के दानें डालें, अब उन्हें उबाल कर छान लें और अपने स्वादानुसार उसमें शहद मिला लें। षहद मिलाने से मेथी की पानी की कड़वाहट थोड़ी कम हो जाएगी और ये पीने में आसान रहेगा। इसे रोज पीने से आपको जरूर फायदा मिलेगा।
- शरीर की त्वचा को कोमल बनाना चाहती हैं तो तो मेथी के पत्तों के रस में नींबू का रस मिलकर त्वचा पर मलिए। इससे त्वचा पर निखार आता है और वो कोमल बनती है।
मेथी से हानि:- अगर किसी चीज के फायदे होते हैं तो उसके नुकसान भी जरूर होते हैं। यही बात मेथी के साथ भी लागू होती है। 
- मेथी की तासीर गरम होती हैं इसलिए इसके अधिक सेवन से आपको दस्त की समस्या हो सकती है। स्तनपान कराने वालीं महिलाओं को दस्त की शिकायत है तो उन्हें मेथी का सेवन तत्काल रूप से बंद कर देना चाहिए, इससे बच्चे को भी दस्त की शिकायत हो सकती है।
- इसके घरेलू उपायों को त्वचा पर लगाने से पहले थोड़ा आजमा लें, देख लें कहीं आपको इसे लगाने से किसी प्रकार की एलर्जी तो नहीं है। पूरी तरह से संतोष होने के बाद ही इसे त्वचा पर लगाएं।
- मेथी का ज्यादा सेवन खट्टी डकार, पेट में सूजन आदि समस्याएं पैदा कर सकता है। इसलिए जब भी मेथी खाएं कम मात्रा में ही खाएं।
- प्रेगनेंसी के दौरान मेथी का सेवन बिलकुल न करें। इससे इंटरनल ब्लीडिंग की समस्या हो सकती है।
- अगर आप किसी बीमारी से संबंधित दवाइयां ले रहे हैं तो डॉक्टर से परामर्ष के बाद ही नियमित रूप से मेथी का सेवन करें।