युवा महोत्सव सम्पन्न

युवा महोत्सव उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ में सम्पन्न हुआ, जिसमें उत्तर प्रदेश के 25 विश्वविद्यालय एवं व्यवसायिक शिक्षण संस्थानों से लगभग 400 युवा विभिन्न प्रतियोगिताओं में भाग लेंगे तथा हजारों युवा कार्यक्रम में शामिल हुये।
 युवा महोत्सव के द्वितीय दिन राज्यपाल श्रीमती आनन्दीबेन पटेल ने मुख्य अतिथि के रूप में भाग लिया व समारोह का समापन किया। इस अवसर पर पूर्व मुख्यमंत्री, उत्तराखण्ड विजय बहुगुणा, रवि किशन, सांसद एवं लोकप्रिय अभिनेता, प्रो0 रीता बहुगुणा जोशी, सांसद प्रयागराज, नगर की प्रथम नागरिक संयुक्ता भाटिया एवं कुलपति, लखनऊ विश्वविद्यालय, श्री शेखर बहुगुणा एवं मंयक जोशी ने कार्यक्रम की शोभा बढ़ायी।
आल इण्डिया हेमवतीनन्दन बहुगुणा स्मृति समिति द्वार ाबहुगुणाजी के जीवन पर आधारित एक लघु फिल्म दिखायी जायेगी तथा 200 पृष्ठों का एक भव्य स्मृतिग्रंथ का विमोचन राज्यपाल द्वारा किया गया।
 समारोह के समापन के अवसरपर राज्यपाल श्रीमती आनन्दीबेन पटेल ने वहां उपस्थित युवाओं को सम्बोधित करते हुए कहा कि सब से पहले मैं स्व0 हेमवतीनन्दन बहुगुणाजी को जन्मशताब्दी के अवसर पर अपनी श्रद्वांजली अर्पित करती हँॅू, बहुगुणाजी का व्यक्तित्व हम सब के लिए एक आर्दश है।उन्होने छात्र जीवन से ही 1942 में भारत छोड़ो आंदोलन में इलाहाबाद के छात्रों का नेतृत्व किया।जिसके बाद उन्हे जेल भेज दिया गया था।बहुगुणाजी ने केन्द्रीय मंत्री एवं मुख्यमंत्री के रूप में कई उल्लेखनीय कार्य किये था। बहुगुणाजी अपने प्रशासनीक एवं संगठनात्क क्षमता के लिए जाने जाते है। आज बहुगुणाजी के जन्म शताब्दी वर्ष पर युवा महोत्सव का अयोजन उन्हे सच्ची श्रद्वांजली का प्रतीक है। हम सब जाने है कि आज भारत की 65 प्रतिशत आबादी 35 वर्ष से कम आयुवालों की है। हमारे युवा बहुत प्रतिभाशाली है उनकी प्रतिभा का सही इस्तेमाल देश हित में कैसे किया जाय इस पर विचार करना चाहिए।उनकी उचित शिक्षा कैसे हो यह हमारी जिम्मेदारी है। युवाओं के ऊर्जा एवं क्षमता को सही दिशा देकर राष्ट्र निर्माण के कार्य में लगाना जरूरी है। देश को नई ऊचांई पर ले जाने हेतु युवा पर्याप्त रूप से हमारे देश में है। युवाओं में जोश है, ताकत है, उचित क्षमता है उन्हे सिर्फ सही दिशा, जानकारी एवं उचित अवसर देने की जरूरत है जिससे देश को पूरी दुनिया में एक अलग पहचान मिलेगी। जब हम युवावर्ग की बात करते है तो हमें यह नही भूलना चाहिए की युवाओं में 50 प्रतिशत आबादी महिलाओं की है। हमें विकसित भारत का निर्माण करने के लिए महिलाओं को भी समान अवसर प्रदान उपलब्ध कराना होगा। मुझे उम्मीद है कि हम सभी को केन्द्र एवं राज्य सरकार की योजनाओं में ज्यादा से ज्यादा भागीदारी करनी चाहिए। मुझे उम्मीद है कि यहां उपस्थित सभी युवाओं को स्व0 हेमवतीनन्दन बहुगुणा के कृतित्व एवं व्यक्तित्व से प्रेरणा लेकर देश और प्रदेश के विकास में आगे आना होगा।