छात्र-छात्राओं की छोटी-छोटी समस्याओं को गम्भीरता से लिया जाये

जिलाधिकारी, रायबरेली शुभ्रा सक्सेना ने निर्देश दिये है कि विद्यालय एवं स्कूल कालेजों आदि संस्थाओं में पठ्न-पाठन की व्यवस्था दुरूस्त रखने के साथ ही सभी छात्र-छात्राओं में परस्पर एक दूसरे के प्रति सम्मान व भाईचारे को बढ़ावा को बल देने के साथ ही बालिकाओं-महिलाओं की सुरक्षा एवं संरक्षा प्रत्येक दशा में सर्वोपरि है जिसमें किसी भी प्रकार की शिथिलता व लापरवाही न बरती जाये। छात्र-छात्राओं की छोटी-छोटी समस्याओं को गम्भीरता से लिया जाये। महिलाओं के प्रति अभद्र व्यवहार/टिप्पणी किसी भी दशा में बर्दाश्त नहीं किया जायेगा। जिलाधिकारी ने निर्देश दिया है कि छात्राओं-महिलाओं के साथ अभद्रता पर कठोरता से कार्यवाही की जायेगी। प्रत्येक दशा में विद्यालय एवं स्कूल कालेज आदि में अनुशासन बना रहे तथा छात्र-छात्राओं में ऐसा वातावरण उत्पन्न रहे जिससे उनमें परस्पर पठ्न-पाठन व भाईचारे का महौल में वृद्धि हों, छात्र-छात्राओं को संस्कारवान बनाकर उनका सर्वागीण विकास की ओर अधिक ध्यान दें।
 डीएम ने विगत नवम्बर माह में नवोदय विद्यालय बल्ला रायबरेली के कक्षा 11 के 6 छात्रों द्वारा विद्यालय की छात्राओं के प्रति अभद्र टिप्पणी तथा अमर्यादित व्यवहार किये जाने बात को गम्भीरतापूर्वक लेते हुए नवोदय विद्यालय अनुशासन समिति को निर्देश दिये है कि वे छात्र-छात्राओं में समझा-बुझाकर उनके गलत आचरण के प्रति चेतायें और चेतावनी दें ताकि आपस में कोई मनमुटाव न हों और मेहनत व लगन के साथ अपनी पढ़ाई पर ध्यान दें। 
 छात्राओं की तत्कालीन प्रभारी प्राचार्य की शिकायत पर जवाहर नवोदय विद्यालय की अनुशासन समिति ने बैठक कर इस प्रकरण को गम्भीरतापूर्वक लिया है जिसमें ऐसे सभी 6 छात्रो को अनुशासनहीनता करने पर विद्यालय से निष्कासित कर उन्हें टीसी निर्गत किये जाने का निर्णय लेते हुए अनुशासन समिति का प्रस्ताव उपायुक्त नवोदय विद्यालय समिति क्षेत्रीय कार्यालय लखनऊ को कार्यवाही हेतु भेजने का निर्णय लिया गया है। विद्यालय की बालिकाओं/महिलाओं के साथ प्रत्येक दशा में व्यवहार एवं अचरण अच्छा व संतोषजनक होना चाहिए।