दिव्यांग बच्चों ने सांस्कृतिक कार्यक्रम प्रस्तुत किया

अंतरराष्ट्रीय दिव्यांगजन दिवस के मौके पर जिला शिक्षा एवं प्रशिक्षण संस्थान परिसर, रायबरेली में दिव्यांग बच्चों की जिला स्तरीय खेलकूद एवं सांस्कृतिक प्रतियोगिता हुई इसमें दृष्टिबाधित एवं मूक बधिर मानसिक मंद और अन्य प्रकार के दिव्यांग बच्चों ने अपने क्षमता का जौहर दिखाया बेसिक शिक्षा विभाग द्वारा डायट में संचालित एक्सीलेरेटेड लर्निंग कैंप के मूक बधिर बच्चों ने देश भक्ति और अन्य गीत पर बिना सुने नृत्य से धमाल मचा दिया बच्चों को नृत्य एवं गायन बहुत ही कम समय में कैंप की ही विशेष शिक्षिका आशा मिश्रा और मीना वर्मा ने अपनी कड़ी मेहनत से बच्चों को कैंप में ही सिखाया गया कार्यक्रम का शुभारंभ डायट के वरिष्ठ प्रवक्ता जेपी सिंह द्वारा  सरस्वती प्रतिमा पर दीप प्रज्वलित कर कार्यक्रम का शुभारंभ किया गया। कार्यक्रम में मुख्य अतिथि उप जिलाधिकारी सदर शशांक त्रिपाठी व कार्यक्रम के अध्यक्ष जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी पी.एन. सिंह ने की और डायट के वरिष्ठ प्रवक्ता जेपी सिंह कार्यक्रम के विशिष्ट अतिथि रहे खेलकूद प्रतियोगिता में जनपद के सभी विकास खंडों से लगभग 150 बच्चे ने प्रतिभाग किया बच्चों के साथ उनके अभिभावकों ने भी बढ़-चढ़कर बच्चों का उत्साहवर्धन करने हेतु उपस्थित रहे सभी अभिभावकों और विकास खंडों से आए दिव्यांग बच्चों को लंच पैकेट और प्रथम द्वितीय तृतीय स्थान प्राप्त करने वाले बच्चों को पुरस्कार दिया गया आवासीय एक्सीलेरेटेड लर्निंग कैंप के लगभग 60 बच्चों ने प्रतियोगिता मैं प्रतिभाग किया प्रतियोगिता में गुब्बारा युद्ध मैं अमन प्रथम स्थान 100 मीटर दौड़ कमलेश प्रथम स्थान रस्साकशी कुर्सी मूक बधिर बच्चों की टीम ने जीत हासिल की चित्रकला मैं जितेंद्र कुमार ने प्रथम स्थान प्राप्त किया रंगोली मधु प्रथम स्थान दृष्टिहीन बच्चों के लिए ब्रेल लेखन मैं दीपक यादव ने प्रथम रहे छूकर पहचानो में आशिया ने प्रथम स्थान प्राप्त किया, दिव्यांग बच्चों ने सराहनीय प्रदर्शन करके यह साबित कर दिया कि दिव्यांगता बाधक नहीं योग्यता है। हम भी सामान्य बच्चों की तरह मौका मिलने पर पीछे नहीं रहेंगे। एक्सीलेरेटेड लर्निंग कैंप के दृष्टिबाधित बालिका प्रांसी, अंजलि, शिवानी व बालकों में अरबाज, जुबेर ने अपने गीतों से कार्यक्रम में उपस्थित सभी अतिथियों का मन मोह लिया कैंप से शिक्षा प्राप्त कर लखनऊ चित्रकूट आदि स्थानों पर पढ़ रहे बच्चों जिसमें अजय, रामदत्त, विनय, अमित आदि दिव्यांग  बच्चों ने भी हिस्सा लिया प्रतियोगिता स्थल पर दृष्टिबाधित मूक बधिर मानसिक मंद बच्चों से संबंधित उपकरण और शिक्षण सामग्री का स्टाल लगाया गया कार्यक्रम का समापन मुख्य अतिथि शशांक त्रिपाठी,, जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी वरिष्ठ प्रवक्ता डायट जेपी सिंह खंड शिक्षा अधिकारी सलोन विश्वनाथ प्रजापति व खंड शिक्षा अधिकारी डीह शिवशंकर मिश्रा की उपस्थिति में सभी दिव्यांग बच्चों को पुरस्कार वितरण किया गया। जिला  समन्वयक समेकित शिक्षा शुभा शुक्ला ने सभी अतिथियों और अभिभावकों का आभार व्यक्त किया उन्होंने बताया कि जनपद में सभी तहसीलों पर इसी तरह के प्रतियोगिताओं का आयोजन किया जा चुका है जिसमें दिव्यांग बच्चों का खेलकूद और संस्कृतिक कार्यक्रमों का आयोजन कराया गया है कार्यक्रम को सफल बनाने के लिए कैंप के वार्डन अरविंद कुमार सिंह और सहयोगी शिक्षक मनीष कुमार  नाजिश अनवर का महत्वपूर्ण योगदान रहा कार्यक्रम में भूपेंद्र सिंह अनूप मौर्या, बृजेश कुमार यादव, जयदेव शुक्ला राजेश, विजय पांडे सुमन जया शुक्ला नवीन पांडे शैलेश अजय जितेंद्र रावेंद्र नरेश, राकेश सिंह मलिका सक्सेना निर्मल चंद्रप्रकाश, वंदना त्रिपाठी आदि विशेष शिक्षक उपस्थित रहे।