हरी मटर स्वाद दुगुना कर देती है

सर्दियों के मौसम में सब्जियों की बहार होती है जिसके कारण भोजन के प्रति आपकी रुचि के दुगुना कर देती है। गोभी, सोया-मेथी, बथुआ और मटर से भोजन का स्वाद और सेहत दोनों तरह से ठंड का मौसम सर्वोच्च माना जाता है, सर्छियों के मौसम में ताजी हरी मटर खाने आमतौर पर पहली पसंद होती है। मटर औषधीय गुण भी पायी जाती है, मटर में जीवाणुरोधी और रोगाणुरोधी गुण छिपे हुए हैं, यह तपेदिक रोगियों के लिए एक उत्पाद के रूप में निर्धारित है जो रोगजनक बैक्टीरिया को गुणात्मक रूप से समाप्त करता है, आइयें जाने मटर के फायदे:-
- मटर कैंसर जैसी बीमारियों में भी आपको छुटकारा दिला सकता है। इसे नियमित खाने से कैंसर की बीमारी का खतरा कम होता है। खासतौर से पेट के कैंसर में मटर  लाभकारी है।  
- मटर कोलेस्ट्रॉल की मात्रा को कम करता है और आपको मोटापे के साथ-साथ कई अन्य बीमारियों से भी बचाने के साथ ही यह ब्लड कोलेस्ट्रॉल को भी कम करता है।
- शरीर में और रक्त में कोलेस्ट्रॉल के स्तर को कम करता है, मटर को खाने से दिल की बीमारियों का खतरा भी कम होता है। 
- मटर के दाने फाइबर से भरपूर होते हैं, जो आपको उर्जावान बनाए रखते हैं। हरी मटर को नियमित खाने से आप लंबे समय तक स्वस्थ्यं दिखाई देंगे और बढ़ती आयु का प्रभाव जल्दी दिखाई नहीं देता।
- चेहरे पर झाइयों से परेशान हैं, तो मटर के पेस्ट को चेहरे पर लगाकर आधे घंटे के बाद धो लें। नियमित मटर के आटे का प्रयोग भी कर सकते हैं।   
- मटर के दानों का दरदरा पेस्ट त्वचा के लिए बेहतरीन स्क्रब है। इससे आपकी त्वचा को पोषण मिलेगा और चेहरा बेदाग होगा। शनैः शनैः चेहरे की चमकने लगेगा।
- गर्भवती महिला के लिए हरी मटर काफी लाभदायक है। इसके अलावा सामान्य महिलाओं में माहवारी की समस्याओं से छुटकारा दिलाने में सहायक है। 
- हरी मटर में प्रोटीन के साथ ही विटामिन-के की मात्रा भरपूर होती है, जो हड्डयिों की बीमारियों और खासतौर से ऑस्टयिोपोरोसिस से बचाव करने में भी लाभकारी है।
अधिकांश अन्य उत्पादों की तरह, मटर में भी अपने मतभेद होते हैं। इसके अलावा, एक सब्जी मानव शरीर को महत्वपूर्ण नुकसान पहुंचा सकती है। गर्भावस्था के दौरान, फलियां बड़ी मात्रा में हैं। चूंकि मटर गैस के गठन का कारण बनता है, भविष्य की मां की एक समान स्थिति उसके के व्यवहार पर प्रतिकूल प्रभाव डाल सकती है। मटर की अधिक मात्रा पेट में एक निश्चित असुविधा का कारण बन सकती है।