प्रेम और सौन्दर्य दाता शुक्र ग्रह

ज्योतिष के अनुसार शुक्र ग्रह विवाह, सेक्स, मकान, कार नये वस्त्र, रत्न, आभूषण, फिल्म, नृत्य, गायन, संगीत, नाटयकला, लव एफेयर, कलात्मक वस्तुओं, उत्सव, सिनेमाघर, मैरिजहाल व मैरिजलान, ंगीन वस्त्र, रेशमी कपड़े, घी, सुगंध, चीनी, खाद्य तेल, चंदन, कपूर का दान, शारीरिक खूबसूरती, स्टेडियम, विज्ञापन, फूल, इत्र, फैशन, रेस्ट्रा शराब, पिकनिक स्पाॅट, वीर्य, ओवरी, जननांग, बहन, पत्नी, पुत्री, बहन, युवा स्त्री, कास्मेटिक, धोबी, इत्र व पान विक्रेता, डांस बार, भोग विलास की वस्तुओ का कारक ग्रह है शुक्र स्त्री गृह है, मनुष्य की प्रेम का प्रतीक, कामुकता से इसका सीधा संबंध भी है और हर प्रकार के सौंदर्य और ऐश्वर्य से ये सीधे संबंध रखता है। यदि किसी की कुंडली में शुक्र शुभ प्रभाव देता है तो वह जातक आकर्षक, सुंदर और मनमोहक होता है। अशुभ शुक्र की शांति के लिए जातक को शुक्रवार को सांयकाल के समय ओपल, हीरा, स्फटिक धारण करना चहिये, इस ग्रह के पीड़ित होने पर, सफेद रंग का घोड़ा दान देना चाहिए. रंगीन वस्त्र, रेशमी कपड़े, घी, सुगंध, चीनी, खाद्य तेल, चंदन, कपूर का दान करना चाहिये।
 पुराणों के अनुसार शुक्र दानवों के गुरु हैं, इनके पिता का नाम कवि और इनकी पत्नी का नाम शतप्रभा है। दैत्य गुरु शुक्र दैत्यों की रक्षा करने हेतु सदैव तत्पर रहते हैं, ये शास्त्रों च संजीवनी विद्या के ज्ञाता, तपस्वी और कवि हैं। शुक्र बली हो तो ऐसा व्यक्ति ऐश-ओ-आराम में अपना जीवन व्यतीत करता है। फिल्म या साहित्य में रुचि रहती है। अशुभ शुक्र गुप्त रोग, मूत्र रोग मधुमेह, त्वचा में विकार, गुप्त रोग, पत्नी से अनावश्यक कलह देता है। शुक्र से पीड़ित रोगी व्यक्ति इलायची के पानी से स्नान करें, थोड़े से पानी में बड़ी इलायची उबाल लें, इसे ठंडा करके अपने नहाने के पानी में मिलाएं और आखिरी बार इससे स्नान करें, इस दौरान शुक्रदेव का ध्यान करते हुए इस मंत्र का जाप करें -
ऊँ द्रां द्रीं द्रौं सः शुक्राय नमः!
 चांदी या प्लैटिनम का छल्ला पहनें या अंगूठे में चांदी का छल्ला पहनें, खाने में सफेद वस्तु, साबूदाना तथा दूध और इनसे बनी चीजों को प्रयोग करें और शुक्रवार के दिन नमक का त्याग करें। 
- लक्ष्मी की उपासना करें, सफेद वस्त्र दान करें।  
- देवी लक्ष्मी की उपासना करते समय इस मंत्र का जाप करें।
महालक्ष्म्यै नमः का जाप करे।
 संगीत का शुक्र ग्रह से खास जुड़ाव है, लेकिन इसमें एक बात का विषेश ध्यान रखा जाना चाहिए। सुरीला और मधुर संगीत जहां आपका शुक्र मजबूत करता है, वहीं भर्भराता या कानफोड़ू संगीत इसे कमजोर करता है। इसलिए सुगम संगीत सुनने से आपका शुक्र मजबूत होगा।
- काली चींटियों को चीनी खिलानी चाहिए।
- शुक्रवार के दिन सफेद गाय को आटा खिलाना चाहिए।.
- काने व्यक्ति को सफेद वस्त्र एवं सफेद मिष्ठान का दान करना चाहिए।
- महत्त्वपूर्ण कार्य के लिए जाते समय 10 वर्ष से कम आयु की कन्या का चरण स्पर्श करके आशीर्वाद लेना चाहिए।
- घर में सफेद पत्थर लगवाना चाहिए।
- कन्या के विवाह में कन्यादान का अवसर मिले तो अवश्य स्वीकारना चाहिए।
- शुक्रवार के दिन गौ को दुग्ध से स्नान करना चाहिए।