समाज के हर तबके की सुरक्षा व उन्हें न्याय दिलाना पुलिस का परम कर्तव्य है

प्रदेश में कानून व्यवस्था सुदृढ़ करना सरकार की सर्वोच्च प्राथमिकता है। कानून व्यवस्था को अधिक चुस्त दुरूस्त करने के लिए नित नई-नई चुनौतियों का सामना करना भी परम आवश्यक है। पुलिस एवं प्रशासन प्रबन्धन सुचारू प्रणाली का एक महत्वपूर्ण अंग है। समाज में कानून के शासन एवं शान्ति व्यवस्था की स्थापना में पुलिस की महत्वपूर्ण भूमिका है। समाज के हर तबके की सुरक्षा व उन्हें न्याय दिलाना पुलिस का परम कर्तव्य है। हर पीड़ित व्यक्ति पुलिस से कुछ अपेक्षाएं रखता है और हमें किसी भी भेदभाव को अपनाए बिना उन्हें न्याय दिलाने को वचनबद्ध रहना है। पुलिस जनता से पुलिस मित्र, मृदुल व्यवहार, गरीब असहाय की मदद करें तथा अपनी शक्ति का असमाजिक तत्वों से निपटने अहंकार गुण्डों, शरारती तत्वों के विरूद्ध कार्यवाही करें। अपने कर्तव्यों का अनजाम जातिय, धर्म, सम्रदाय से उठकर करें। वर्दी के अहंकार में न रहें। प्रदत्त अधिकारों का दुरूपयोग न करें, जब भी जनता के बीच जायें तो आपकी मौजूदगी वर्दी से सुरक्षा महसूूस हो। उनके बीच आत्मविश्वास बडे़। 
मुख्य अतिथि जिलाधिकारी रायबरेली शुभ्रा सक्सेना ने 25वीं वाहिनी पीएसी के परेड ग्राउण्ड में आयोजित दीक्षांत समारोह (पासिंग आउट परेड) को सम्बोधित करते हुए कहा कि पासिंग आउट परेड के बाद पीएसी/पुलिस की वर्दी का महत्व बढ़ जाता है। आज से पीएसी पुलिस परिवार में शामिल हो गये है। ऐतिहासिक दिवस है। परिवार में शामिल होने पर जिम्मेदारियां भी बड़ जाती है। व्यक्तिगत लाइफ से लेकर पब्लिक लाइफ, मीडिया तथा आमजनता की नजर में आज से निरंतर समीक्षा होती रहेगी। पत्नी के प्रति माता पिता के प्रति, साथियों के प्रति, वर्दी के प्रति आदि पर भी पब्लिक आदि की नजर रहेगी। परिवार में शामिल होने का मतलब यदि कोई उंगली उठेगी तो ये पूरे परिवार पुलिस/पीएसी फोर्स महकमें पर उठेगी। अपना ही नही इससे विभाग का नाम भी जुड जायेगा। 
जिलाधिकारी शुभ्रा सक्सेना, सेनानायक डा. अरविन्द्र भूषण पाण्डेय व उप सेनानायक बृजेश कुमार गौतम आदि की दीक्षांत परेड समारोह में उपस्थित पीएसी के जवानों को कर्तव्य निष्ठा, भारतीय संविधान के प्रति सच्ची श्रद्धा रखने के साथ ही राष्ट्रीय एकता व अखण्डता को अक्षुण्ण रखने की शपथ दिलाई। उन्होंने पीएसी के जवानों द्वारा परेड की सलामी ली तथा परेड का अवलोकन किया। सेना नायक डा0 अरविन्द भूषण पाण्डेय, उपसेना नायक बृजेश कुमार गौतम, सहायक सेना नायक देव नारायण यादव, चिकित्साधिकारी डा0 विपिन गुप्ता व सेवा निवृत्त पुलिस उपाधीक्षक कालू सिंह को स्मृति चिन्हि प्रदान किया गया। इसके अलावा सर्वोत्तम रिक्रूट आरक्षियों व विभिन्न समूह विभिन्न विषयों में अच्छे अंक प्राप्त करने दिनेश कुमार, प्रांशू यादव, रोहित कुमार, अखिलेश जसवन्त, शुभम सिंह, नागेन्द्र सिंह, हेमन्त कुमार यादव, पंकज यादव, भूपेन्द्र नाथ शुक्ल, ज्ञानेन्द्र बाल विद्याधर, वीरेन्द्र प्राप्त सिंह, रवि कुमार, मनोज कुमार साहू, शशिकान्त, सुशील कुमार, वीरेन्द्र प्रताप सिंह, अमित पवार, रोहित कुमार गुरूप्रीत सिंह आदि को भी रिक्रूट आरक्षियों को दीक्षांत समारोह परेड में प्रशस्ति पत्र दिया गया। इसके अलावा उन्होंने पासिंग आउट पीएसी जवानों को भविष्य की शुभकामनाएं देते हुए कहा आहवान किया कि वे निश्चित तौर पर समाज के प्रति निष्ठावान होकर सेवा करेंगे। सेनानायक डा. अरविन्द्र भूषण पाण्डेय ने कहा कि 253 रिक्रूट आरक्षियों को सकुशल प्रशिक्षण दिया गया। आरक्षियों को आटोमेडिक प्रणाली, सर्विलांस, तामिला, गिरफ्तारी, वारंट, वीपेन टेªनिक, एके 47, थ्री नाट थ्री, एमपी 3, स्मोक ग्रेनेड चुनाव ड्यूटी, मानवधिकार, जनता के प्रति कर्तव्य तथा कानून एवं शांति व्यवस्था सहित फिजिकल टेस्ट प्रेटिकल आदि की भी ज्ञान दिया गाया। सेनानायक डा. अरविन्द्र भूषण पाण्डेय ने आए हुए अन्य अतिथियों, अधिकारियों, पत्रकारों आदि सहित कई अन्य अधिकारी व कर्मचारियों व पीएसी के जवानों का आभार प्रकट किया।