नाभि हटने पर

कभी भारी सामान उठाने से या गलत ढंग से संभोग करने से या गलत खान पान के कारण स्त्री पुरूषांे की नाभि हट जाती है। जो अनेक असाध्य रोगों को जन्म देती है। लोग डाक्टरो के पास भागते हैं। किन्तु उनके पास इसका कोई इलाज ना होने के कारण वे उल्टा सीधा इलाज करवा के अपना पैसा, समय और स्वास्थ बर्बाद करते हैं। इस रोग मे नाभि उपर, नीचे दांये बांये चार दिषा मे खिसक जाती है। जो स्त्री व पुरूषों मे निम्न रोग देती है। ऊपर खिसकने पर रक्तचाप व गैस का उपर चढना नाभि नीचे आने पर दस्त दांये जाने पर कब्ज व गैस का उपर चढना तथा बांये आने पर मूत्र रोग या हर्निया स्त्रियों मे ल्यूकोरिया व मासिक धर्म की गड़बड़ी देता है। इसका सरल उपाय है। कि जमीन या तख्त पर चित लेट कर नाभि मे एक चम्मच तेल डाल लेट जाये नाभि स्वतः अपनी जगह आ जायेगी यदि नाभि कठिन रूप से हटी है तो यह प्रयोग तीन चार दिन करें।