नन्दिनी दारूक को 99.84 परसेन्टाइल अर्जित कर बालिका वर्ग में सिटी टापर

सिटी मोन्टेसरी स्कूल, लखनऊ के मेधावी छात्रों ने अभी हाल ही में घोषित हुए ‘आई.आई.टी.-जे.ई.ई. मेन्स’ परीक्षा परिणाम में अभूतपूर्व सफलता का परचम लहराकर विद्यालय का नाम पूरे देश में गौरवान्वित किया है। अभी तक मिली जानकारी के अनुसार, इस वर्ष सी.एम.एस. के 84 छात्र ‘आई.आई.टी.-जे.ई.ई. मेन्स’ परीक्षा में सफल हुए हैं, जिसमें सी.एम.एस. छात्रा नन्दिनी दारूक ने 99.84 परसेन्टाइल अर्जित कर बालिका वर्ग में सिटी टापर का गौरव अपने नाम किया है जबकि 17 छात्रों ने 99 परसेन्टाइटल से अधिक अंक अर्जित कर विद्यालय के गौरवमयी इतिहास में नया आयाम जोड़ा है। इन मेधावी छात्रों में नन्दिनी दारूक (99.84 परसेन्टाइल), आयुष कुमार द्विवेदी (99.85 परसेन्टाइल), श्रेयांस सिंह (99.85 परसेन्टाइल), पार्थ बंसल (99.73 परसेन्टाइल), आदर्श गोयल (99.71 परसेन्टाइल), विवान मैत्रेय (99.60 परसेन्टाइल), खुशी वर्मा (99.60 परसेन्टाइल), कनद (99.55 परसेन्टाइल), अनुभा त्रिपाठी (99.54 परसेन्टाइल), यश पन्त (99.50 परसेन्टाइल), आर्यन अग्रवाल (99.59 परसेन्टाइल), आदर्श कुमार (99.48 परसेन्टाइल), सत्विक चंद्र शुक्ला (99.42 परसेन्टाइल), अमृतांश नारायन (99.26 परसेन्टाइल), पियूष (99.24 परसेन्टाइल), ज्योदिरादित्य (99.22 परसेन्टाइल), श्रेया भगत (99.07 परसेन्टाइल) शामिल हैं। इंजीनियरिंग की प्रवेश परीक्षा में चयनित सी.एम.एस. छात्रों ने अपनी अभूतपूर्व सफलता के लिए सी.एम.एस. शिक्षकों के प्रति हार्दिक आभार व्यक्त किया है। 
 सी.एम.एस. संस्थापक डा. जगदीश गाँधी ने सभी सफल छात्रों को हार्दिक बधाई देते हुए उनके उज्जवल भविष्य की कामना की और कहा कि सी.एम.एस. के प्रतिभाशाली छात्रों की बदौलत ही पूरे विश्व में सी.एम.एस. की एक अलग पहचान बनी है।
 सी.एम.एस. के मुख्य जन-सम्पर्क अधिकारी श्री हरि ओम शर्मा ने बताया कि शुरूआती जानकारी के अनुसार, ‘आई.आई.टी.-जे.ई.ई. मेन्स’ परीक्षा में अभी तक सी.एम.एस. के 84 छात्रों की सफलता की जानकारी मिली है, जबकि काफी बड़ी संख्या में सफल छात्रों की जानकारी आनी अभी शेष है। उम्मीद है कि इस वर्ष सर्वाधिक संख्या में सी.एम.एस. छात्र इस प्रतिष्ठित परीक्षा में चयनित होकर नया कीर्तिमान स्थापित करेंगे।
 श्री शर्मा ने बताया कि सी.एम.एस. में आई.एस.सी. की पढ़ाई के दौरान ही छात्रों को प्रोफेशनल कोर्सो की तैयारी हेतु प्रोत्साहित किया जाता है। इसके अलावा, छात्रों की प्रतिभा को निखारने व संवारने के लिए प्रत्येक वर्ष विभिन्न अन्तर्राष्ट्रीय प्रतियोगिताओं के माध्यम से छात्रों को अन्तर्राष्ट्रीय मंच उपलब्ध कराया जाता है जिससे उनमें विभिन्न विषयों के ज्ञान के साथ साथ आत्मविश्वास का संचार भी होता है। इन्ही प्रयासों का प्रतिफल है कि विगत वर्षों की भाँति इस वर्ष भी सी.एम.एस. के मेधावी छात्रों ने आई.आई.टी.-जे.ई.ई. मेन्स परीक्षा में अपने मेधात्व का परचम लहराया है।