वो कौन है

मुझे तुझसे प्यार हो गया, 
तुझे मुझसे प्यर हो गया।।
वो मेरी हो गई,
मै उसका हो गया।
मंदिर
मस्जिद
मयखाना छूट गया
मुझे तुझसे प्यार हो गया,
कभी गद्य,
कभी गीत,
कभी षायरी,
तो कभी कहानी
मुझे तुझसे प्यार हो गया,
मुझे बिंदू से सिंधु की 
सैर कराती है।,
अब तो मै
तुझमे खोया रहता हूँ। 
तू मुझमे खोयी रहती है।, 
वो कौन है,
 मेरी कलम।