11 वाहनों का चालान, 8 वाहन जब्त

कोविड-19 के अन्तर्गत महामारी की रोकथाम हेतु प्रदेश के समस्त जनपदों में से 40 जनपदों में हाॅट-स्पाट (संवेदनशील क्षेत्र) चिन्हित/घोषित किये गये है। जिसमें रायबरेली नगर क्षेत्र में मोहल्ला खालिसहाट को हाॅट-स्पाट के रूप में चिन्हित किया गया है। इस क्षेत्र का पूर्णरूप से लाॅकडाउन के अन्तर्गत सील कर दिया गया है। साथ ही पूरा जनपद लाॅकडाउन है। हाॅट-स्पाट क्षेत्र में लाॅकडाउन का प्रभावी अनुपालन सुनिश्चित कराया जा रहा है। इस दौरान आमजन मानस को किसी कठनाई का सामना न करना पड़े आवश्यक वस्तुओं को डोर-टू-डोर सप्लाई की व्यवस्था की गई है। दुग्ध आपूर्ति हेतु 10 वाहन, राशन हेतु 6 वाहन फल एवं सब्जी हेतु 25 ई-रिक्श/ठेलों की व्यवस्था की गई है।
 जिलाधिकारी, रायबरेली शुभ्रा सक्सेना व पुलिस अधीक्षक स्वप्निल ममगई ने सयुक्त रूप से देते हुए बताया है कि आमजन मानस को जागरूक करने हेतु पुलिस/प्रशासन के वाहनों के अतिरिक्त ध्वनि विस्तारक यंत्रों से युक्त अन्य 9 वाहनों की व्यवस्था की गई है साथ ही आमजन मानस में कोविड-19 महामारी के बचाव हेतु प्रचार-प्रसार भी करवाया जा रहा है एवं आमजनमानस को घरों में रहने के लिए भी निरन्तर कहा जा रहा है। कोरोना पाजिटिव पाये गये व्यक्तियों के प्रथम एवं द्वितीय सम्पर्क में आने वाले 63 व्यक्तियों को संस्थागत कोरेन्टाइन किया गया है। सम्पूर्ण क्षेत्र में फायर टेण्डरों से सेनेटाइजर का छिड़काव, नगर पालिका की टीम द्वारा निरन्तर साफ-सफाई के साथ ही स्वास्थ्य विभाग की टीमों तथा पुलिस विभाग की रैपिड ऐक्शन टीमों द्वारा डोर-टू-डोर जांच कर आवश्यक कार्यवाही करने के साथ ही दिशा-निर्देश दिये जा रहे है। लाॅकडाउन का उल्लघंन करने वाले व्यक्तियों के विरूद्ध नियामानुसार दण्डात्मक कार्यवाही करने के साथ ही 11 वाहनों का चालान, 8 वाहनों को जब्त करने के साथ ही 188 भादवि के अन्तर्गत 2 एफआईआर भी दर्ज की गई है। 
 डीएम-एसपी ने बताया है कि लाॅकडाउन के दौरान जनमानस की सुचनाओं/शिकायतों को गम्भीरता से लिया जा रहा है साथ ही उनका निवारण एवं निस्तारण करने के साथ ही आवश्यक वस्तुओं को अमाजन.मानस तक पहुचाने हेतु जनपद स्तर पर इण्टीगे्रटेड कंट्रोल रूम भी स्थापित किया गया है जो कि पूरी तरह से सक्रिय है। हाॅट-स्पाट क्षेत्र में मजिस्टेªट एव पुलिस अधिकारी नियुक्त किये गये है। जो कि नियमित भ्रमणशील रहकर जन सुविधाओं की आपूर्ति एवं लाकडाउन की स्थिति पर निरन्तर सतर्क दृष्टि रखी जा रही है।