बाबा साहब ने शिक्षित बनों, सुसंगठित बनो तथा संघर्ष करो का नारा दिया

संविधान शिल्पी बाबा साहब डा0 बी0आर0 अम्बेडकर के जन्म दिवस अवसर पर आनन्द नगर स्थित क्षेत्रीय आयुवैदिक कार्यालय में डा0 अम्बेडकर के चित्र पर सहायक निदेशक सूचना प्रमोद कुमार क्षेत्रीय आयुवैदिक एवं यूनानी अधिकारी डा0 अरूण कुरील आदि ने सामाजिक दूरी बनाते हुए माल्यापर्ण किया गया। संविधान षिल्पी भारतरत्न बाबा साहब डा0 भीमराव अम्बेडकर के चित्र पर माल्यार्पण कर श्रद्धासुमन अर्पित किये। चित्र पर माल्यर्पण कर श्रद्धासुमन अर्पित करते हुए सहायक निदेशक सूचना ने कहा कि बाबा साहब डा0 भीमराव रामजी अम्बेडकर द्वारा विष्व के सबसे बडे़ लोकतन्त्र के संविधान के निर्माण में भूमिका को कभी नहीं भुलाया जा सकता। उन्होंने देष को नई दिषा और दुनिया का सबसे बड़ा संविधान दिया जिसके लिए सम्पूर्ण राष्ट्र उनका ऋणी है। 
 क्षेत्रीय आयुवैदिक एवं यूनानी अधिकारी अरूण कुरील ने कहा कि किसी भी समाज के चैमुखी विकास के लिए आर्थिक सामाजिक व राजनीतिक रूप से समाज के कमजोर वर्ग के लोगों के उत्थान की जरूरत है इसके लिए सरकार ने कल्याणकारी अनेकों योजनाएं चला रखी हैं जिनका समाज के सभी वर्गों को लाभ दिलाना है। गरीबों को गरीबी से मुक्ति दिलाने के लिए बाबा साहब ने शिक्षित बनों, सुसंगठित बनो तथा संघर्ष करो का नारा दिया। उन्होंने कहा कि लाॅकडाउन का शतप्रतिशत पालन करना है जो भी कार्य करें घरों में समाजिक दूरी बनाकर करें। सरकार शासन प्रशासन के दिशा निर्देशों के अनुरूप कार्य करना है। समाजिक दूरी बनाते हुए अवधेश कुमार त्रिपाठी, डा0 सुनील कुमार आदि ने भी डा0 भीमराव अम्बेडकर के चित्र पर माल्यापर्ण कर श्रद्धासुमन अर्पित किये। सहायक निदेशक सूचना द्वारा भारत रत्न डा0 अम्बेडकर की जयन्ती के अवसर पर क्षेत्रीय आयुवैदिक एवं यूनानी अधिकारी डा0 अरूण कुरील को शासन द्वारा जनपद के 6 विधानसभाओं की विकास एवं सुशासन के 3 वर्ष की विकास पुस्तिका, सूचना डायरी आदि भेट की तथा चल रहे लाॅकडाउन का शत-प्रतिशत पालन करने तथा समाजिक दूरी बनाते हुए कार्य करने पर जोर दिया। कोरोना वायरस की कड़ी को घरों में रहकर तोड़ जा सकता है। इस मौके पर ज्ञान प्रकाश तिवारी, राकेश कुमार भी उपस्थित थे।