डीएम ने कहा लापरवाही न बरती जाए

जिलाधिकारी, रायबरेली शुभ्रा सक्सेना ने बचत भवन के सभागार, रायबरेली में कोविड-19 के संक्रमण को रोकने व बचाव के लिए अधिकारियों को निर्देश दिये है कि भारत सरकार की गाईड लाइन के अनुरूप ही गठित टीमें कार्य योजना बनाकर कार्यो को युद्ध स्तर पर कार्य करें। उन्होंने कहा कि हाॅट-स्पाटस क्षेत्रों सहित अन्य क्षेत्रों में भी आरोग्य सेतु एप डाउनलोड कराना जरूरी है, और 65 वर्ष से अधिक आयु के व्यक्ति, रोगी, 10 से छोटे बच्चों को घर से बिल्कुल बाहर न निकलने दिया जाये। उन्होंने उपायुक्त उद्योग को निर्देश दिये कि नियामानुसार उद्योगों जिसमें लालगंज स्थिति रेल कोच आदि उद्योगों से उनकी व्यवस्थाओं की जानकारी लेकर व उद्योग वाले क्षेत्रों में सोशल डिस्टन्सिंग कैसे पूरी करायेंगे कितना स्टाफ वहा पर कार्य करेंगे। इसकी पूरी जानकारी लेकर फाईल तैयार करें। उन्होंने मुख्य विकास अधिकारी व मुख्य चिकित्सा अधिकारी को निर्देश दिए कि कोरोना वायरस के संक्रमण को रोकने के लिए अवस्थापना सुविधाओं में कोई भी कमी ना रहे। सभी क्वॉरेंटाइन केंद्र आश्रय स्थल, एल-1 समकक्ष क्वॉरेंटाइन केंद्रों आदि चेक लिस्ट के अनुरूप सभी व्यवस्थाएं दुरुस्त रहें। उन्होंने सीएमओ को निर्देश दिए कि कोविड-19 के संक्रमण व बचाव के लिए जिला अस्पताल में सभी आवश्यक उपकरणों से दुरुस्त कर ले। 
 जिलाधिकारी ने सीएमओं को निर्देश दिये कि वेंटीलेटर, ऑक्सीजन सप्लाई आदि की पूर्ण व्यवस्थाओं के साथ कोविड केयर की समुचित उपकरण आदि उपलब्ध करें, यदि कोई उपकरण यंत्र उच्च स्तर से मंगाना हो उसके लिए संपर्क कर मंगा ले। गठित स्वास्थ्य टीमें पूरी तरह सक्रिय रहे स्वास्थ्य प्रोटोकॉल के तहत नवीन जानकारियों से भी पूरी तरह अद्यतन रहे। लॉकडाउन का तीसरा चरण प्रारम्भ हो गया है उसमें भी किसी भी तरह की शिथिलता लापरवाही न बरती जाए। आम जनमानस को आरोग्य सेतु एप डाउनलोड के लिए प्रेरित करते रहें। कोविड-19 कॉन्टक्टमेंट ऐप पर भी आवश्यक सूचनाओं को डालते रहें। कोरोना पेशेंट जो उपचारित हो गए हैं या जो कि सेंपलिंग्स हो रही है उसकी सूचना भी दे। सभी गाड़ियां जो ड्यूटी में है उनके टायर स्टेफनी आदि पूरी तरह चेक कर लें सभी पहियों में हवा आदि ठीक रहे। सभी क्वॉरेंटाइन सेंटरों पर भोजन सहित अन्य व्यवस्थाएं ठीक रहे। कोरोना वायरस के संक्रमण से बचाव हेतु स्वास्थ्य विभाग की गठित टीमों की समीक्षा करते हुए निर्देश दिये कि देश प्रदेश में कोरोना लाॅकडाउन के तीसरे चरण की भी घोषणा कर दी गई है। जो 17 मई तक रहेगा। उन्होंने लाॅकडाउन व सोशल डिस्टन्सिंग का कड़ाई से कराया जाये पालन एवं बिना मास्क व अनावश्यक घूमने वालों पर दण्डात्मक कार्यवाही करें। मुख्य चिकित्साधिकारी व गठित टीमों को निर्देश दिये कि चल रहे लाॅकडाउन की समीक्षा करते हुए नई रणनीति के तहत कोरोना वायरस की चैन को तोड़ने व बचाव राहत आदि के कार्यो को युद्ध स्तर पर कराया जाये। 
 मुख्य चिकित्साधिकारी डा0 संजय कुमार शर्मा द्वारा बताया गया कि जनपद स्तर पर प्रत्येक दिन आमजन मानस को सुविधाए उपलब्ध कराये जाने एवं किये गये कार्यो की प्रगति जाने व सुधार के उद्देश्य से गठित 11 समितियों की अध्यक्षता करते हुए निर्देश दिये कि जो भी अधिकारी कर्मचारी कोविड-19 कोरोना वायरस के संक्रमण को रोकने हेतु ड्यूटी पर तैनात है। उनके पास सभी सुविधाए अद्यतन रहने के निर्देश के साथ ही स्वास्थ्य प्रोटोकाल के अनुरूप कार्य के लिए भी निर्देशित कर दिया गया है। उन्होंने बताया कि जिले से अभी तक कुल 1189 सैंपल कोविड-19 की जांच हेतु एस0जी0पी0जी0आई, लखनऊ भेजे जा चुके हैं, 790 लोगों की रिपोर्ट निगेटिव आई है। 45 लोगों की रिपोर्ट पाजिटिव आई है। 282 लोगों की सैंपल रिपोर्ट अभी आना शेष हैं। 73 सैंपल रिपीट हैं। कुल पाजिटिव केस-45, एक्टिव केस-43, रिकवर्ड केस-02, मृत्यु-शून्य, आइसोलेशन वार्ड में भर्ती मरीजो की संख्या-15, आइसोलेशन वार्ड से डिस्चार्ज मरीजों की संख्या-06, पाॅजिटिव मरीजों से निगेटिव की श्रेणी में आये व्यक्तियों की संख्या-02, विभाग द्वारा लगातार संदिग्ध लोगों के सैंपल कोविड-19 हेतु भेजा जा रहा है तथा बाहर से आये समस्त यात्रियों का प्रतिदिन सर्विलेन्स किया जा रहा है तथा 28 दिन का होम क्वारंटाइन कराया जा रहा है। कोविड-19 के संक्रमण व बचाव विषयक 219 चिकित्सक, 130 स्टाफ नर्स व 438 अन्य स्टाफ सहित कुल 787 लोगों को प्रशिक्षण भी पूर्ण कराया जा चुका है।  
 मुख्य चिकित्साधिकारी द्वारा जिलाधिकारी को बताया कि संस्थागत क्वारेन्टाइन-दयानन्द पी0जी0 कालेज, बछरावां, रायबरेली में संस्थागत क्वारेन्टाइन हेतु 150 बेड आरक्षित किया गया है जिसमें 10 लोग है, गोपाल सरस्वती इण्टर कालेज, त्रिपुल चैराहा, रायबरेली जिसमें 40 बेड आरक्षित किया गया है जिसमें 27 लोग है। फिरोजगांधी पाॅलीटेक्निक रायबरेली संस्थागत क्वारेन्टाइन सेन्टर में 16 बेड आरक्षित है जिसमें 16 है। इसी प्रकार एल-1 कोविड-19 चिकित्सा एवं एल-1 केयर सेन्टर के सामु0स्वा0केन्द्र-रोहनियां में 50 बेड का चिकित्सालय स्थापित है, बटोही गेस्ट हाउस, रायबरेली में 70 बेड का चिकित्सालय स्थापित है जिसमें 35 पाजिटिव केसों की देखभाल किया जा रहा है। रियान इण्टर नेशनल स्कूल में 200 बेड क्वारेन्टाइन हेतु स्थापित है। जिला चिकित्सालय में आइसोलेशन हेतु महिला चिकित्सालय के पुराने अस्पताल में 60 बेड आरक्षित है। इसी प्रकार एल-2 कोविड-19 चिकित्सालय - कोविड-19 चिकित्सा हेतु एल-2 चिकित्सालय लोक बन्धु राज नारायण संयुक्त चिकित्सालय, कानपुर, रोड, लखनऊ में 8 मरीजों को रिफर किया गया जिसमें 6 मरीजों की रिपोर्ट निगेटिव आई है। 
 जिलाधिकारी शुभ्रा सक्सेना ने कोरोना वायरस के संक्रमण को रोकने के लिए व बाचव के लिए अन्य दिशा निर्देश भी दिये गये।
 इस मौके पर मुख्य विकास अधिकारी अभिषेक गोयल, अपर जिलाधिकारी प्रशासन राम अभिलाष, मुख्य चिकित्साधिकारी डा0 संजय कुमार शर्मा, एडी स्वास्थ्य ए0के0 सिंह, एडी सूचना प्रमोद कुमार आदि कोरोना वायरस से सम्बन्धित अधिकारी उपस्थित थे।