प्रवासी श्रमिकों के डाटा फीडिंग में किसी भी प्रकार की त्रुटि न रहे

जिलाधिकारी, रायबरेली शुभ्रा सक्सेना ने कोविड-19 कोरोना वायरस के दृष्टिगत सेक्टर मजिस्टेªट/सेक्टर अधिकारी सम्बन्धित अधिकारियों को निर्देश दिये है कि जनपद में अनलाक वन व लाॅकडाउन में सरकार व स्वास्थ्य प्रोटोकाल द्वारा दिये गये निर्देशों का कड़ाई से अनुपालन करना सुनिश्चित करें। आमजन मानस घरों से आवश्यक कार्य हेतु ही निकले सोशल डिस्टेसिंग व मास्क प्रयोग का पालन करने से ही कोरोना चैन को तोड़ा जा सकता है। उन्होंने यह भी कहा कि सरकार द्वारा अनलाॅक-वन व्यवस्था के तहत 8 जून से शुरू की जानेवाली विभिन्न गतिविधियों को भारत सरकार के दिशा-निर्देशों के अनुरूप संचालित कराने के निर्देशों के अनुरूप व्यवस्था को सुदृढ कर ले। चिकित्सा सुविधाओं व प्रवासी श्रमिकों को मिल रही सरकारी सुविधाओं व लाभों की समीक्षा कर टेसिंटग क्षमता में वृद्धि की जाये। विशेष पूल टेस्टिंग की व्यवस्था, सेंपलों की जांच व कामगारों श्रमिकों का एक हजार रूपये का भरण-पोषण भत्ता उपलब्ध करानेे के लिये श्रमिकों का डाटा फीडिंग में किसी भी प्रकार से गलत डाटा फीडिंग या त्रुटि न रहें।
 जिलाधिकारी शुभ्रा सक्सेना ने कहा कि कोरोना वायरस कोविड-19 को रोकने का एक मात्र सोशल डिस्टेसिंग का पालन करना, मास्क, लगना, भीड-भाड़ से बचना है तथा कोरोना वायरस संक्रमण से स्वयं को बचना है लाकडाउन व अनलाॅक वन की कार्यवाही व व्यवस्थाओं से जनपद की अर्थव्यवस्था को पटरी पर लाना है तथा जनपद को प्रदेश सरकार की मंशा के अनुरूप कोरोना मुक्त, विकासशील बनाना है। आरोग्य सेतु एवं आयुष कवच एप डाउनलोड कराना होगा कोविड-19 जागरूक करने हेतु आमजन मानस को एप डाउनलोड करने हेतु प्रेरित भी करते रहे। ग्राम प्रहरी भी निगरानी कमेटी के सदस्य के रूप में सक्रिय रहकर सूचनाओं की अद्यतन जानकारी रखें। प्रवासी श्रमिक व मनरेगा में लगाये गये प्रवासी श्रमिकों आदि कार्यो की समीक्षा भी करत रहे तथा निगरानी कमिटियो से सेक्टर अधिकारी बेहतर सामान्जस्य बनाये रखे तथा प्रभावी तरीके की कार्यवाही करते हुए सूचनाए उपलब्ध भी कराते रहे। प्रवासी श्रमिकों व पात्र व्यक्तियों को जो भोजन आदि मुहैया करवाया जा रहा है उसकी गुणवत्ता बेहतर हो तथा साफ-सफाई पर विशेष ध्यान दिया जाये।