सैकड़ो की संख्या में पौधरोपण किया

सपा नेता शिवेंद्र श्रीवास्तव ने कहा, पेड़-पौधों से हमें सांस लेने के लिए ऑक्सीजन प्राप्त होती है। इन सबको नियंत्रित करने के लिए सभी को पेड़-पौधों के महत्व को समझना चाहिए। अपने घर, आफिस के आस-पास खाली जगह में ज्यादा से ज्यादा पौधरोपण करें। शहर में चारों और जितनी अधिक हरियाली होगी उतनी ही शुद्ध वायु हमें सांस लेने के लिए मिल सकेगी।
प्रधानाचार्य निशी श्रीवास्तव ने कहा एक प्रसिद्ध कहावत इस प्रकार है, ‘‘कल्पना कीजिए कि अगर पेड़ वाईफाई सिग्नल देते तो हम कितने सारे पेड़ लगाते, शायद हम ग्रह को बचाते। बहुत दुख की बात है कि वे केवल ऑक्सीजन का सृजन करते हैं‘‘। कितना दुखद है कि हम प्रौद्योगिकी के इतने आदी हो गए हैं कि हम अपने पर्यावरण पर होने वाले हानिकारक प्रभावों की अनदेखी करते हैं। न केवल प्रौद्योगिकी का इस्तेमाल प्रकृति को नष्ट कर रहा है बल्कि यह हमें उससे अलग भी कर रहा है। अगर हम वास्तव में जीवित रहना चाहते हैं और अच्छे जीवनयापन करना चाहते हैं तो अधिक से अधिक पेड़ लगाए जाने चाहिए। ऑक्सीजन लेने और कार्बन डाइऑक्साइड को छोड़ने के अलावा पेड़ पर्यावरण से अन्य हानिकारक गैसों को अवशोषित करते हैं जिससे वायु शुद्ध और ताजी बनती है। जितने हरे-भरे पेड़ होंगे उतना अधिक ऑक्सीजन का उत्पादन होगा और अधिक विषैली गैसों को यह अवशोषित करेंगे।