साफ-सफाई युद्ध स्तर पर करें

तीन दिवसीय विशेष स्वच्छता अभियान व संचारी रोग नियंत्रण, पेयजल की समस्या, जल भराव, फागिंग की व्यवस्था, बाढ़ की रोक-थाम आदि की व्यवस्थाओं को सूचारू रूप से कराने के उद्देश्य से रायबरेली जनपद की नोडल अधिकारी व अपर मुख्य सचिव माध्यमिक शिक्षा आराधना शुक्ला जनपद के कई दूरदराज के क्षेत्रो व शहर की मलिन बस्तियों आदि में भ्रमण पर निकली। बचत भवन के सभागार में नगर पालिका अध्यक्ष पूर्णिमा श्रीवास्तव उनके पति मुकेश श्रीवास्तव, विधायक राम नरेश रावत एवं जिलाधिकारी, रायबरेली शुभ्रा सक्सेना सहित जनप्रतिनिधियों, अध्यक्ष नगर पंचायत व अधिशाषी अधिकारी के साथ बैठक की। 
 अपर मुख्य सचिव ने भ्रमण के दौरान चेयरमैन सलोन, डलमऊ, बछरावा आदि के क्षेत्रों की साफ-सफाई के बारे में प्रशासन की और आगे बनाये रखना है। संचारी रोग नियंत्रण व विशेष स्वच्छता अभियान, फाइलेरिया, मलेरिया नियंत्रण आदि विशेष अभियान जो कि आज से शुरू होकर 12 जुलाई तक तो है इसे 13 जुलाई के साथ आगे भी चलाये। उन्होंने कहा कि साफ-सफाई, स्वच्छता आदि कार्य निरन्तर चलने वाले कार्य है। उन्होंने समस्त नगर पालिका व नगर पंचायतों के ईओं को निर्देश दिये कि बारिश को देखते हुए सर्तकता बरतने के साथ ही गन्दगी व जलभराव पर विशेष ध्यान दिया जाये। नाला, नालियों आदि स्थानों पर एण्टी लार्वा स्प्रे का छिड़काव को युद्ध स्तर पर कराया जाये। विधायक राम नरेश रावत ने बताया कि जनपद में बछरावा सहित पानी में क्लोरीन की मात्रा ज्यादा है। इस पर अपर मुख्य सचिव ने निर्देश दिये कि जिन-जिन क्षेत्रों में पेयजल में क्लोरीन की मात्रा ज्यादा है उसे दूर की जाये। इसके अलावा जहां पर जलभराव है, तलाबा आदि में लार्वा खत्म करने वाली दवाओं डाला व फागिंग आदि कार्य कराये जाये। समस्त ग्राम पंचायतों व वार्डों में नाला, नालियों आदि की साफ-सफाई युद्ध स्तर पर करें। विशेष अभियान को प्रभावी तरीके से चलाने के लिए अधिकारियों को निर्देश दिये है कि जागरूकता, पोस्टर, पम्पपलेट कार्यशाला आदि से माध्यम से लोगों को जागरूक किया जाये लोगों को बताया जाये कि जल भराव न होने दें तथा जहां जलभराव हो तो मिट्टी का तेल अथवा जला हुआ मोबिल आॅयल डालकर मच्छरों के लारवा को नष्ट करें। उन्होंने कहा कि कोविड-19 कोरोना वायरस के संक्रमण से बचाव के लिए दो गज की दूरी मास्क पहनना है जरूरी व जागरूकता करे तथा लोगों को आनावश्यक रूप से घूमने से मना भी करते रहे तथा लोगों को कोरोना के लिए जागरूक भी करते रहे।
 अपर मुख्य सचिव माध्यमिक शिक्षा व नोडल अधिकारी आराधना शुक्ला ने कहा कि संचारी रोग अभियान, साफ-सफाई एहतियाती उपायों व जन-जागरूकता पर भी निर्भर है इस लिए इस अभियान को सफल बनाने के लिए सभी लोगों को पूरी तत्परता से कार्य करना होगा। विशेष स्वच्छता अभियान व संचारी रोग नियंत्रण, पेयजल की व्यवस्था, जलभराव आदि व्यवस्थाओं के विशेष अभियान को प्रभावी तरीके से चलाने के निर्देश सीएमओ, सीएमएस, डीआईओएस, बीएसए, ईओ, डीडीओ, डीपीआरओ, डीपीओ, कृषि अधिकारी, खण्ड विकास अधिकारियों आदि अधिकारियों को निर्देश देते हुए कहा कि विभिन्न विभागों के अधिकारी अपने उत्तरदायित्वों का निर्वहन भली-भांति करें। स्वच्छता के अभाव में जलजनित बीमारियां सहित  फाइलेरिया, मलेरिया, डेगू, कालाजार, चिकनगुनिया आदि बीमारियों से जागरूकता करके बीमारियों से दूर रखने के साथ ही बचाना भी आवश्यक है। जिस प्रकार कोविड-19 कोरोना वायरस के संक्रमण से बचाव हेतु अभियान चला कर जागरूक किया जा रहा है। इसी प्रकार स्वच्छता, संचारी रोग नियंत्रण अभियान में किसी भी की कोताही न बरती जाये। नगर पालिका व नगर पंचायत के वार्डों साथ ही ग्रामीण क्षेत्रों में भ्रमण व निरीक्षण के दौरान गंन्दगी पाई गई, कई स्थानों पर कूडा का जमाव, नल खराब मिले, तालाब आदि भी गन्दगी पायी गई। आवारा पशु घुमते हुए मिले उन्होंने सख्त हिदायत दी की व्यवस्था को सुचारू रूप से कराने के साथ ही साफ-सफाई रखने के साथ ही स्वच्छता पर विशेष ध्यान दिया जाये। तालाबों में ब्लीचिंग पाउडर, सेनेटाइजेशन, फागिंग, वालपेटिंग आदि जागरूकता के कार्यो सहित साफ-सफाई कार्य भी निरन्तर चलाया जाये। जलभराव की स्थिति जहां-जहां उत्पन्न हो वहां तत्काल सफाई कराये। सीएमओं पम्पलेट, पोस्टर, वालराइटिंग, फागिंग आदि के माध्यम से स्वच्छता व संचारी रोग नियंत्रण विशषे अभियान से लोगों को जागरूक करें। 
 जिलाधिकारी शुभ्रा सक्सेना ने कहा कि जनपद की प्रत्येक तहसीलों में चिन्हित सफाई हाॅट-स्पाट का नाम ग्रामों के साथ ही अन्य गांवों में भी अभियान को गति प्रदान की जाये। विशेष अभियान को सुचारू रूप से चलाकर साफ-सफाई की जायेगी। ग्रमीण व शहरी तालाबों में ब्लीचिंग पाउडर छिड़काव, फागिंग सहित क्षेत्रों को सघन सेनेटाइजेशन भी किया गया इसे आगे भी करने की जरूरत है। जिन क्षेत्रो में डेगू होने की पुष्टी होने व जलजनित बीमारियां रही है ऐसी दशा में उन क्षेत्रों व घरों के आस-पास व 100 मीटर की दूरी पर सघन फाॅगिंग और एंटी लार्वा का छिड़काव सीएमओ, डीपीआरओ, बीडीओ, ईओ आदि अधिकारी कराये। डेंगू वेक्टरजनित रोग व संचारी रोगों के बचाव के उपाये जन-जन को बताये जाने का कार्य करते रहे। 
 इस मौके पर विधायक राम नरेश रावत, नगर पालिका अध्यक्ष पूर्णिमा श्रीवास्तव व उनके पति मुकेश श्रीवास्तव, विभिन्न नगर पंचायतों के चेयरमैन व अधिशाषी अधिकारी, मुख्य विकास अधिकारी अभिषेक गोयल, मुख्य चिकित्साधिकारी डा0 संजय कुमार शर्मा, एडीएम वि0रा0 प्रेम प्रकाश उपाध्याय, नगर मजिस्टेªट युगराज सिंह आदि जनपद स्तरीय अधिकारी उपस्थित थे।