कर्पूरी ठाकुर की सेवा भावना ने उन्हें जननायक बनाया

बिहार के पूर्व मुख्यमन्त्री स्वतन्त्रता संग्राम सेनानी एवं जननायक कर्पूरी ठाकुर की जयन्ती सपा के जिला मुख्यालय सुपर मार्केट रायबरेली में मनायी गयी। जननायक कर्पूरी इाकुर के चित्र पर सपा नेताओं ने माला पुष्प अर्पित कर उन्हें याद किया।  इस अवसर पर एक गोष्ठी का आयोजन किया गया।  गोष्ठी की अध्यक्षता जिलाध्यक्ष इं. वीरेन्द्र यादव एव संचालन महामन्त्री अरशद खान ने किया। गोष्ठी को सम्बोधित करते हुए श्री यादव ने कहा कि कर्पूरी ठाकुर बिहार के उपमुख्यमन्त्री के साथ-साथ दो बार मुख्यमन्त्री रहे, वे एक स्वतंत्रता संग्राम सेनानी के साथ-साथ शिक्षक, राजनीतिज्ञ भी थे, उनकी सेवा भावना ने उन्हे जननायक बनाया। इस अवसर पर प्रान्तीय नेता दादा ओपी यादव ने कहा कि कर्पूरी ठाकुर भारत छोड़ो आन्दोलन के दौरान 26 महीने जेल में रहे।  समाजवादी व्यापार सभा के जिलाध्यक्ष मुकेश रस्तोगी ने कहा कि लोकनायक जयप्रकाश नारायन एवं समाजवादी चिंतक डा0 राम मनोहर लोहिया कपूरी ठाकुर के गुरू थे एवं मधुलिमये व रामसेवक यादव जैसे उनके प्रमुख साथी थे। पिछड़ा वर्ग उ0प्र0 के महासचिव दिनेश कुमार यादव ने कहा कि बिहार में पिछड़ा वर्ग के लोगों के लिए सरकारी नौकरी में आरक्षण की व्यवस्था 1977 में की थी। सत्ता पाने के लिए चार सूत्र पिछड़ा वर्ग का धु्रवीकरण, हिन्दी का प्रचार-प्रसार समाजवादी विचारधारा, कृृषि का सही लाभ किसानों तक पहुँचाने पर काम किया।

इस अवसर पर राजेन्द्र प्रधान एडवोेकेट, राजेश मौर्य, अशोक मिश्रा एडवोकेट, रामे यादव, मो. फहीम, घनश्याम यादव, रामकृष्ण, भौमेश स्वर्णकार, सुशील कुमार मौर्य, विनायक सोनकर, देवतादीन यादव, बिन्दादीन पासवान, अनुज बरवारी, महेन्द्र तिवारी, शत्रुघ्न पटेल, मो0 उजैर आदि लोगों ने कर्पूरी ठाकुर के चित्र पर पुष्प अर्पित कर उनके व्यक्तित्व एवं कृतित्व पर प्रकाश डाला।

 

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

पक्षी आपका भाग्य बदले

जेल जाने के योग

परिवर्तन योग से करें भविष्यवाणी