जीवन में सफल होने के लिए मेहनत, संयम एवं लक्ष्य का निर्धारण होना बहुत जरूरी है


राष्ट्रीय बालिका दिवस के सुअवसर पर राजकीय बालिका इन्टर कालेज उन्नाव में चिकित्सा विभाग द्वारा डिजिटल जनरेशन, अवर्स जनरेशन विषय पर संवेदीकरण कार्यशाला-सम्भाषण प्रतियोगिता का आयोजन किया गया। प्रतियोगिता में उत्कृष्ट प्रदर्शन करने वाली बालिकाएं पुरस्कृत की गयीं।

कार्यशाला के दौरान जिलाधिकारी श्रीमती अपूर्वा दुबे ने उपस्थित छात्राओं को सम्बोधित करते हुए कहा, शिक्षा का मुख्य उद्देश्य है कि हम सब अच्छे नागरिक बनें। सभी महिलाओं-छात्राओं में समान नागरिक की भावना होनी चाहिए। हम लोग केवल पढ़ाई एवं सजगता से ही आगे बढ़ सकते हैं। अच्छे व्यक्तित्व में किसी भी संदेह की गुंजाइश नही रहती है इसलिए समाज में व्याप्त विभिन्न प्रकार की कुरीतियों से बचें, और अच्छी शिक्षा प्राप्त कर बेहतर भविष्य बनाने की कोशिश करें। उन्होंने कहा कि जीवन में सफल होने के लिए मेहनत, संयम एवं लक्ष्य का निर्धारण होना बहुत जरूरी है।

इस अवसर पर जिलाधिकारी ने राजकीय बालिका इन्टर कालेज की छात्राओं तथा शिक्षिकाओं से संवाद किया तथा चिकित्सा विभाग द्वारा डिजिटल जनरेशन, अवर्स जनरेशन विषय पर आयोजित संभाषण प्रतियोगिता में उत्कृष्ट प्रदर्शन करने वालीं छात्राओं को पुरस्कृत करते हुए उनके उज्ज्वल भविष्य की कामना व्यक्त की। प्रतियोगिता में प्रथम स्थान प्राप्त करने पर शालिनी साहू, द्वितीय स्थान प्राप्त करने पर गरिमा, तृतीय स्थान प्राप्त करने पर शगुन को पुरस्कृत किया गया तथा दीपान्ती एवं प्रगति को सांत्वना पुरस्कार दिये गये।

कार्यशाला में मुख्य चिकित्साधिकारी डा. सत्य प्रकाश, जिला सलाहकार समिति के नोडल डा. ललित कुमार तथा सदस्य जिला सूचना अधिकारी सतीश कुमार, बृजेश पाण्डेय, सोमनाथ तिवारी आदि मौजूद रहे।


 

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

पक्षी आपका भाग्य बदले

जेल जाने के योग

परिवर्तन योग से करें भविष्यवाणी