किसान आन्दोलन से सम्बन्धित क्रांतिकारी परिवारों के परिजन का हुआ सम्मान


देशज फाउण्डेशन ट्रस्ट कानपुर एवं नवारूण प्रकाशन वसुंधरा गाजियाबाद द्वारा आयोजित अवध के चर्चित किसान आन्दोलन पर केन्द्रित राजीव कुमार पाल की पुस्तक 'एका' के लोर्कापण समारोह एवं अवध का किसान आन्दोलन और विरासत का सवाल विषयक संगोष्ठी कैफ़ी आजमी सभागार पेपर मिल कम्पाउन्ड निशातगंज लखनऊ में सम्पन्न हुआ। इस अवसर पर किसान आन्दोलन से सम्बन्धित क्रांतिकारी परिवारों के परिजनों का सम्मान भी किया गया।
1921 में किसान आन्दोलन से जुड़े रायबरेली के क्रांतिकारी परिवार के परिजनों को देशज फाउन्डेशन ट्रस्ट कानपुर द्वारा अंगवस्त्र व स्मृति चिन्ह भेंट किए गए। इस अवसर पर फुरसतगंज निवासी क्रांतिकारी किसान काका गजाधर सिंह सेंगर के पुत्र जयसिंह सेंगर को प्रो. वीर भारत तलवार ने उन्डवा निवासी क्रांतिवारी किसान परिवार के सद्धू प्रसाद यादव श्रीमती इंदिरा यादव के पौत्र एवं बद्री प्रसाद यादव व श्रीमती उमराई यादव के पुत्र ओ0पी0 यादव को सुधीर विद्यार्थी ने चंदनिहा निवासी क्रांतिकारी किसान परिवार के अमोल शर्मा के दत्तक पुत्र शिवबाबू शुक्ला को गोपाल प्रधान ने जमालपुर नानकारी निवासी क्रांतिकारी किसान परिवार से लाल बहादुर सिंह के पुत्र अमर बहादुर सिंह को बजरंग बहादुर तिवारी ने निसगर गांव निवासी अवध बिहारी चतुर्वेदी के पुत्र श्याम किशोर चतुर्वेदी को शिवमूर्ति ने सम्मानित किया। इसी प्रकार बकुलिहा के क्रांतिकारी किसान परिवार के परिजनों को वीरेन्द्र यादव व राकेश ने सम्मानित किया।
इस अवसर पर 7 जनवरी 1920 से 7 जनवरी 1921 तक एक वर्ष क्रांतिकारी किसान शताब्दी वर्ष मनाने का संकलना देशज फाउन्डेशन ट्रस्ट कानपुर द्वारा लिया गया, जिसकी तैयारियां शुरू हो गयी है।


 


इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

पक्षी आपका भाग्य बदले

परिवर्तन योग से करें भविष्यवाणी

जेल जाने के योग