सीधे मुख्य सामग्री पर जाएं

संदेश

नवंबर, 2020 की पोस्ट दिखाई जा रही हैं

ब्रूस ली का 80वां जन्मदिन मनाया

 विशेष संवाददाता, मुम्बई  पिछले 12 वर्षों से वर्ल्ड फेमस ब्रूस ली का जन्मदिन प्रत्येक 27 नवंबर को चिता जीत कुन डू ग्लोबल स्पोर्ट्स फेडरेशन (सीजेकेडी) के चेयरमैन और फिल्मों के सुप्रसिद्ध मार्शल आर्ट एक्सपर्ट चिता यज्ञेश शेट्टी द्वारा मुंबई में बड़े धूमधाम व भव्य कार्यक्रम के साथ मनाया जाता था। लेकिन करोना की वजह से इस बार वे अनोखे ढंग से ब्रूस ली 80 वां जन्मदिन अँधेरी मनाया गया। इस अवसर पर एक पर ब्रूस ली का एक भव्य पोस्टर त्रिशान शेट्टी, हॉंगकॉंग के विलियम बांड, यज्ञेश शेट्टी और बच्चों द्वारा पोस्टर का विमोचन किया गया। जिसमें ब्रूस ली स्प्रीट तथा सोशल डिस्टेंसिंग, मास्क व सेनेटाइजर के जरिये किक के जरिये कोविद -19 वायरस को दुनिया से बाहर कर दिया। तथा इस अवसर पर 50 जरुरतमंद व गरीब बच्चों को किताबें, कपड़े, खाने के पैकेट, मास्क इत्यादि मुफ्त में वितरित करके नए और अनोखे ढंग से ब्रूस ली का जन्मदिन मनाया गया। इसमें एम्टी हैंड कॉम्बेट, चिता जीत कुन डू,देसी थ्रेड डॉट कॉम, नैप्पल, स्टैंडस्टोन इंटरटेन्मेंट प्रा लिमिटेड,बॉय झोन्स इत्यादि लोगों का सहयोग मिला। इस अवसर पर यज्ञेश शेट्टी ने कहा, इससे पहल

फिजी में छठ पूजा का आयोजन धूम-धाम से किया गया

 पवन उपाध्याय, वरिष्ठ पत्रकार फिजी के सुवा में छठ पूजा का आयोजन धूम-धाम से किया गया सुदूर हजारो किलोमीटर दूर साउथ पैसिफिक देश फिजी में भारतीयों की संख्या 50ः से ज्यादा है। फिजी में भारतीय 100 वर्ष से पूर्व गन्ने की खेती के लिए गए थे। अंग्रेज भारतीयों को 5 वर्ष के करार पर ले गए थे लेकिन भारतीय लौट नही पाए और वहीं बस गए। भारतीयों ने अपनी परंपरा, रीत-रिवाज, संस्कृति, खान-पान, त्योहार को आज भी उसी प्रकार मनाते है जैसा कि भारत मे। भारतीयों के बीच भोजपुरी बातचीत की लोकप्रिय भाषा है। त्योहारों के क्रम में छठ पर्व भी फिजी में धूमधाम व पूरे रीत रिवाज के साथ मनाया जाता है।

नेशनल लेविल प्रतियोगिता में छात्रा को गोल्ड मैडल

  लखनऊ। सिटी मोन्टेसरी स्कूल , गोमती नगर ( प्रथम कैम्पस ) की कक्षा -8 की मेधावी छात्रा अक्षरा मिश्रा ने नेशनल लेविल इण्टर - स्कूल आॅनलाइन कम्पटीशन ‘ ब्रेनोबे्रन वन्डरकिड -2020’ में गोल्ड मैडल अर्जित कर विद्यालय का नाम गौरवान्वित किया है। यह प्रतियोगिता शैक्षिक संस्था ब्रेनोब्रेन के तत्वावधान में आयोजित हुई। सी . एम . एस . के मुख्य जन - सम्पर्क अधिकारी श्री हरि ओम शर्मा ने बताया कि इस प्रतियोगिता में देश भर के 1500 से अधिक विद्यालयों के छात्रों ने प्रतिभाग किया जिसमें सी . एम . एस . गोमती नगर ( प्रथम कैम्पस ) की इस प्रतिभाशाली छात्रा ने मेन्टल मैथ्स , लाॅजिकल एबिलिटी , जनरल नाॅलेज एवं स्पीड टाइपिंग में अपनी दक्षता का प्रदर्शन कर गोल्ड मैडल अर्जित किया। प्रतियोगिता के आयोजकों ने इस प्रतिभाशाली छात्रा की बहुमुखी प्रतिभा की भूरि - भूरि प्रशंसा करते हुए मैडल व प्रशस्ति पत्र प्रदान कर सम्मानित किया।             श्री शर्मा ने बताया कि यह प्रतियागिता छात्रों को बौद्धिक

प्रमोद कुमार बने उपनिदेशक सूचना,

  जनपद रायबरेली में सूचना एवं जनसम्पर्क विभाग उत्तर प्रदेश लखनऊ के तैनात सहायक निदेशक सूचना प्रमोद कुमार को उपनिदेशक सूचना व जनसम्पर्क विभाग के पद पर प्रोन्नति अपर मुख्य सचिव सूचना नवनीत सहगल के आदेश पर किया गया है। जिलाधिकारी वैभव श्रीवास्तव ने जनपद के सहायक निदेशक सूचना प्रमोद कुमार को उपनिदेशक सूचना के कार्यभार ग्रहण करवा दिया गया है।   जनपद रायबरेली के सहायक निदेशक सूचना प्रमोद कुमार इससे पूर्व जनपद कानपुर देहात, इटावा, हमीरपुर, आजमगढ़, बलिया, रूद्धप्रयाग आदि जनपद सहित मुख्यालय में भी सूचना अधिकारी के रूप में तैनात रहकर कार्य कर चुके है। उपनिदेशक सूचना प्रमोद कुमार बीएससी स्नातक, पत्रकारिता एवं जनसंचार में परास्नातक के साथ ही विधि में भी स्नातक है। मुख्यालय लखनऊ में प्रमोद कुमार प्रदेश के राज्यपाल विष्णुकांत शास्त्री सहित कई कैबिनेट व राज्यमंत्रियों के साथ सबंद्ध रहकर भी कार्य कर चुके है। इसके अलावा कृषि उत्पादन आयुक्त, अपर मुख्य सचिव, कई विभागों के प्रमुख सचिव, सचिव, आयुक्त, विभिन्न जिलों के जिलाधिकारी, मण्डल के मण्डलायुक्त  के साथ प्रचार-प्रसार का कार्य देख चुके है। उपनिदेशक सूचना

रिसर्च मीडिया ग्रुप आरएमजी बड़ा व्यापार समूह बना

विशेष संवाददाता मुम्बई रिसर्च मीडिया ग्रुप ( आरएमजी ) एक बड़ा व्यापार समूह है जो बहुत ही स्पष्ट धारणा रखता है कि एक व्यवसाय शुरू करना और इसे अनुकूल और प्रतिकूल आर्थिक परिदृश्य दोनों में आधार बनाना। अच्छे सीएमडी का हॉल मार्क केवल योग्यता या अनुभव नहीं है , बल्कि लोगों से निपटने के लिए उनका काम है। आरएमजी के प्रवर्तक और संस्थापक चैतन्य जांगा एक ऐसे ही प्रेरक उद्यमी हैं , जिन्होंने 1992 में एक प्रमुख कंपनी आरएमजी की स्थापना की थी। पिछले कुछ वर्षों में , समूह ने कई मील के पत्थर पार कर लिए हैं और मीडिया कार्यों में अग्रणी स्थान बनाए रखा है। आरएमजी , ने कई क्षेत्रों में विविधता ला दी है और यह विभिन्न व्यावसायिक लाइनों में व्यापक पहुंच के साथ बड़ा समूह है। एमबीए पोस्ट ग्रेजुएट जंगा , आंध्र प्रदेश के फिल्म एंड टेलीविजन प्रमोशन काउंसिल के अध्यक्ष और स्टेट सेक्रेटरी ऑफ स्टेट फिल्म चैंबर ऑफ कॉमर्स के अध्यक्ष भी हैं। कंपनी एक प्रभावी ब्रांडिंग रणनीति त

डीएम ने प्राईवेट बस व ट्रक को रूकवाकर जांच की

 जिलाधिकारी वैभव श्रीवास्तव ने लालगंज स्थित माॅर्डन रेल कोच फैक्ट्री अस्पताल में बने एल-1 एल-2 चिकित्सालय निरीक्षण जाने के समय रेल कोच के निकट रास्तें में दिल्ली जा रही जनपद मेरठ की एक प्राईवेट बस सड़क पर लहरा कर चलाये जाने पर शक के आधार पर बस को रूकवाकर डीएम ने ड्राइवर से पूछ-ताछ की। ड्राइवर द्वारा सही जानकारी न दिये जाने पर लाईसेस व गाड़ी के रूट परमिट आदि दस्तावेज को देखा। उन्होंने एआरएम अक्षय व एआरटीओं अधिकारियों को जनपद इसी प्रकार चलाई जा रही डग्गामार बस पर नियमानुसार कार्यवाही करने के उचित दिशा निर्देश दिये। इसी दौरान जिलाधिकारी वैभव श्रीवास्तव ने लालगंज रेल कोच फैक्ट्री के निकट एक वर्कशाप में पास हो रहे ट्रक की फिटनेस सही न पाये जाने पर डीएम ने ट्रक की आरसी व फिटनेस आदि दस्तावेज को देखा तथा एआरटीओं को निर्देश दिये कि वार्कशाप के लाइसेंस आदि की जांच करने के लिए आदेश दिये।

गायन ही मेरा जीवन है: चांदनी वेगड़

देश में विभिन्न तरह की युवा प्रतिभाएँ है, जिन्होंने पूरे भारत में अपनी अलग पहचान बनाई है, ऐसी ही एक है, गुजरात के जामनगर की रहने वाली मधुर आवाज की धनी चांदनी वेगड़ है। एक शो के दौरान उनकी आवाज सुनकर हाई-स्पीड सिने इंटरनेशनल बैनर तले एक हिंदी फीचर फिल्म लिविंग रिलेशन के लिए साइन किया गया है। जिसके निर्माता आाशीष गजेरा व सोनल गजेरा है और निर्देशक अरमान जाहिदी है। चांदनी जामनगर के रहने वाले के.पी. वेगड़ की बेटी है, जोकि गुजरात ज्यूडिशियरी में पूर्व सीनियर सिविल जज एंड चीफ जुडिसियल मजिस्ट्रेट रह चुके है। जामनगर के श्री सत्य साई विद्यालय में दसवीं कक्षा में पढ़ने वाली चांदनी पूरे गुजरात राज्य के राज्य कला महाकुम्भ- 2018, क्राइस्ट कॉलेज, राजकोट के स्पंदन 2019 जैसे कई प्रतियोगिताओं के लिए उनको चुना गया ज्यादातर में प्रथम और कुछ में तृतीय स्थान प्राप्त किया। इसके अलावा गुजरात राज्य में और मुंबई में कई शो में भी हिस्सा ले चुकी है। जब सात साल की थी तब से गायन ही उनके जीवन का सबसे बड़ा लक्ष्य रहा है। चांदनी वेगड़ कहती है के, उनके परिवाल वाले उनको बहुत सपोर्ट करते है। उनके परिवार में उनका बड़ा भाई राज व

दीपावली है दीपों के त्योहार

दीपावली एक ऐसा त्योहार है, जिसका इंतजार सभी को वर्ष भर रहता है। प्रकाश का यह त्योहार जहाँ सभी के जीवन में धन-धान्य लाता है वहीं दीपावली के आगमन से कुछ दिनों पूर्व ही बाजार सज-धज जाते हैं और लोग खरीदारी के लिए निकल पड़ते हैं। बच्चों के लिए तो यह त्योहार विशेष रूप से कौतूहल का विषय होता है। नये-नये कपड़े, पटाखे और तरह-तरह की मिठाईयाँ उन्हें खुश कर देती हैं। सब जगह रंग-बिरंगे रोशनी देते बल्बों की लड़ियाँ और एक दूसरो को बधाई देते लोगों का दिखाई पड़ना सचमुच सुखद होता है। दीपावली पर्व, सभी समुदाय के लोग मिल जुलकर मनाते हैं। यही नहीं अब तो दीपावली की धूम विदेशों तक जा पहुंची है, तभी तो ब्रिटेन की संसद और अमेरिका के व्हाईट हाउस में भी लक्ष्मी-गणेश का पूजन करके और दीप जलाकर दीपावली मनाई जाने लगी है। दीपावली एक ऐसा भी त्योहार है, जिसमें घर के बच्चांे से लेकर बड़े-बूढ़े तक बढ़-चढ़कर हिस्सा लेते हैं।        दीपावली धार्मिक ढोंग और रूढ़ियों से दूर अपने आसपास फैले उजाले के प्रति आभार प्रकट करने का त्योहार है। इस त्योहार में अंधेरे से लड़ता प्रत्येक दीया समाज में यही उमंग भरता नज़र आता है कि हम जीवन के झंझावातो

पावन पर्व शुभ दीपावली

दीपावली उत्साह का पर्व है। अधिकतर गं्रथों मंे इस पर्व को दीपावली और कहीं-कहीं दीपमालिका (भविष्योत्तर, अध्याय 14 उपसंहार) की संज्ञा दी हैं वात्स्यायन कामसूत्र 1.4.82 के अनुसार ‘यक्षरात्रि’ तथा राज मार्तण्ड 1346-1348 के आधार पर ‘सुखरात्रि’ कहते हैं। निर्णय सिंधु, काल तत्व विवेचन के अनुसार यह पर्व चतुर्दशी, अमावस्या एवं कार्तिक प्रतिपदा इन तीनों दिनों तक मनाया जाने वाला कौमुदी-उत्सव के नाम से प्रसिद्ध है।    मूलतः दीपोत्सव ‘श्री’ अथवा लक्ष्मी का आवाह्न-पर्व है। लक्ष्मी की चर्चा श्री’ धन-देवी हैं तथा भगवान विष्णु की पत्नी हैं। जब हरि ने बावन रूप धारण किया तो लक्ष्मी पद्म कमल के रूप में अवतरित हुई। जब विष्णु परशुराम के रूप में आए तो लक्ष्मी ‘धरनी’ कहलायीं। राम के साथ सीता तथा कृष्ण के साथ रूक्मिणी बनकर वे सदैव विष्णु की पत्नी बनती आयी है।      पुरातन संस्कृति को जीवित रखने के लिए हम दीपावली का पर्व हर्ष एवं उल्लास के साथ मनाते हैं। वस्तुतः दीपावली का उत्सव 5 दिनों तक, पाँच कृत्यों के साथ मनाया जाता है। धनतेरस अर्थात् धन-पूजा, नरक चतुर्दशी अर्थात् नरकासुर पर विष्णु विजय का उत्सव, लक्ष्मी पूज

नेशनल लेविल प्रतियोगिता में छात्रा को गोल्ड मैडल

सिटी मोन्टेसरी स्कूल, गोमती नगर (प्रथम कैम्पस), लखनऊ की कक्षा-4 की मेधावी छात्रा अन्वेषा पाराधर ने नेशनल लेविल इण्टर-स्कूल आॅनलाइन कम्पटीशन ‘ब्रेनोबे्रन वन्डरकिड-2020’ में गोल्ड मैडल अर्जित कर विद्यालय का नाम गौरवान्वित किया है। यह प्रतियोगिता शैक्षिक संस्था ब्रेनोब्रेन के तत्वावधान में आयोजित हुई। सी.एम.एस. के मुख्य जन-सम्पर्क अधिकारी श्री हरि ओम शर्मा ने बताया कि इस प्रतियोगिता में देश भर के 1500 से अधिक विद्यालयों के छात्रों ने प्रतिभाग किया जिसमें सी.एम.एस. गोमती नगर (प्रथम कैम्पस) की इस प्रतिभाशाली छात्रा ने मेन्टल मैथ्स, लाॅजिकल एबिलिटी, जनरल नाॅलेज एवं स्पीड टाइपिंग में अपनी दक्षता का प्रदर्शन कर गोल्ड मैडल अर्जित किया। प्रतियोगिता के आयोजकों ने इस प्रतिभाशाली छात्रा की बहुमुखी प्रतिभा की भूरि-भूरि प्रशंसा करते हुए मैडल व प्रशस्ति पत्र प्रदान कर सम्मानित किया।   श्री शर्मा ने बताया कि यह प्रतियागिता छात्रों को बौद्धिक क्षमता पर ध्यान केन्द्रित करने तथा त्वरित गति से समाधान ढूढ़ने एवं सीखने की क्षमता का विकास करने के उद्देश्य से आयोजित की गई थी। सी.एम.एस. अपने छात्रों को देश-विदेश

विधिक साक्षरता एवं जागरूकता शिविर का आयोजन सम्पन्न

राष्ट्रीय शिक्षा दिवस के अवसर पर उ0प्र0 राज्य विधिक सेवा प्राधिकरण के निर्देशानुसार व अब्दुल शाहिद जिला एवं सत्र न्यायाधीश/अध्यक्ष जिला विधिक सेवा प्राधिकरण के दिशा-निर्देशन में एस0जे0एस0 पब्लिक स्कूल की मुख्य शाखा रायबरेली में बच्चों के विधिक अधिकार एवं मिशन शक्ति विषय पर विधिक साक्षरता एवं जागरुकता शिविर का आयोजन किया गया। कोरोना महामारी के समय सोशल डिस्टेंसिग का पालन करते हुए कार्यक्रम का शुभारम्भ किया गया। कोविड-19 से बचाव मास्क का प्रयोग दो गज की दूरी का अनुपालन करने हेतु जागरुक किया। कार्यक्रम की अध्यक्षता मयंक जायसवाल सचिव जिला विधिक सेवा प्राधिकरण, रायबरेली द्वारा की गयी। सचिव द्वारा शिविर में उपस्थित बच्चों को सम्बोधित करते हुए बताया कि बच्चों को अपने अधिकारों के प्रति जागरुक होना चाहिए जिसके लिए शिक्षा बहुत जरुरी है। सचिव द्वारा कहा गया बच्चे देश का भविष्य है। सफल होना और सफल बने रहना दोनों में बड़ा अन्तर है। शिक्षा ग्रहण करने का उद्देश्य नौकरी के साथ-साथ सामाजिक जीवन कर्तव्य का बोध भी होना अनिवार्य है। हमें पढ़ाई के साथ-साथ खेल-कूद पर भी ध्यान देना चाहिए जिससे हम मानसिक रुप से

विश्व एकता की शिक्षा इस युग की सबसे बड़ी आवश्यकता है!

(1) ‘‘विश्व एकता’’ की शिक्षा इस युग की सबसे बड़ी आवश्यकता है :-                                 फारस में 12 नवम्बर 1817 को जन्मे बहाई धर्म के संस्थापक बहाउल्लाह ने 27 वर्ष की आयु में जिस काम को शुरू किया था, वह धीरे-धीरे विश्व के प्रत्येक भाग, प्रत्येक वर्ग, संस्कृति और जाति के करोड़ों लोगों की कल्पना और आस्था में समा गया है। बहाउल्लाह मानवजाति की परिपक्वता के इस युग के एक महान ईश्वरीय संदेशवाहक है। बहाउल्लाह का शाब्दिक अर्थ है - ‘ईश्वरीय प्रकाश’ या ‘परमात्मा का प्रताप’। बहाउल्लाह को प्रभु का कार्य करने के कारण तत्कालिक शासक के आदेश से 40 वर्षों तक जेल में असहनीय कष्ट सहने पड़े। जेल में उनके गले में लोहे की मोटी जंजीर डाली गई तथा उन्हें अनेक प्रकार की कठोर यातनायें दी गइंर्। जेल में ही बहाउल्लाह की आत्मा में प्रभु का प्रकाश आया। ‘बहाउल्लाह’ ने प्रभु की इच्छा और आज्ञा को पहचान लिया। (2) एक कर दे हृदय अपने सेवकों के हे प्रभु :-                 बहाउल्लाह की सीख है कि परिवार में पति-पत्नी, पिता-पुत्र, माता-पिता, भाई-बहिन सभी परिवारजनों के हृदय मिलकर एक हो जाये तो परिवार में स्वर्ग उतर आयेग

दीवाली मे बचे तंत्र प्रहार से

दीपावली को सिद्धि और साधना का पर्व माना जाता है। दीपावली को तंत्र सिद्धी की रात कहा जाता है। तंत्र विद्याएं या टोटके तब सबसे अधिक फल देते हैं जब चंद्रमा पूरी तरह बलहीन हो । दीवाली की रात चन्द्रमा ना केवल पूर्णतः प्रकाशहीन होता हैं बल्कि ज्योतिष मतानुसार अपनी नीच राशि वृश्चिक मे भी जाने वाला अत्यंत निर्बल होता है, तथा सूर्य भी नीच राशि मे होता है, यही ग्रह राहू यानि तामसिक शक्तियों के कुचक्र को निष्प्रभावी करते हैं। इनके बलहीन होने के कारण कार्तिक अमावस्या की काली रात में तामसिक तंत्र की शक्ति कई गुना बढ़ जाती है। दिवाली की रात उल्लू-तंत्र की पूजा का भी खास महत्व है। पीलीभीत के मशहूर तांत्रिक स्वर्गीय धु्रव नारायण कपूर ने भी इसी रात को लालता उल्लू की सिद्धि की थी तंत्र साधक कार्तिक अमावस्या की आधी रात को सिद्धि के लिए विशेष साधना करते है। जबकि वैद्य व आयुर्वेद के जानकार दिव्य और कुछ तांत्रिक औषधि जगाते  है, तंत्रशास्त्र की महारात्रि पर और भी कई शक्तियां सिद्ध करने की कोशिश की जाती है। इनमे बगलामुखी साधना, उच्चाटन और स्तंभन जैसी सिद्धियां मुख्य हैं। दिवाली पर देवी लक्ष्मी अपनी बहन दरिद्रत

देशी गाय के गोबर से गणेश-लक्ष्मी की मूर्ति बनाई

देश की संस्कृति व धर्म को आगे बढ़ाने में लगी है डॉ संतोष सिंह। डॉ संतोष ने देशी गाय के गोबर से प्रथम पूज्य गणेश जी व माता लक्ष्मी की मूर्ति बनाई है। इससे अच्छी बात क्या होगी कि दीवाली के दिन गाय के गोबर से बने गणेश लक्ष्मी का पूजन होगा। डॉ संतोष सिंह न केवल गाय के गोबर से मूर्तिया बनाती है बल्कि घर के बेकार सामानों से भी वो खिलौने, मूर्तियां, सजावटी सामान आदि बनाती हैं। डॉ संतोष सिंह के पिता सेना में कार्यरत थे और अपने संस्कारो के प्रति जागरूक थे वहां से डॉ संतोष ने भारतीय संस्कार को जाना वही केंद्रीय विद्यालय में शिक्षा ग्रहण के दौरान एक विषय (एसयूपीडब्ल्लू) से कला सीखी और पढ़ाई में आगे अर्थशात्र में पीएचडी किया। इससे उन्होंने संस्कार को अर्थ से जोड़कर एक नया अध्याय लिखना शुरू किया। डॉ संतोष ने बहुत से बच्चियों को इस कला को सिखाकर उनको स्वावलंबी बनाया और आगे भी इस कार्य को जारी रक्खे हुए हैं। संतोष न केवल गाय के गोबर से ही गणेश जी व लक्ष्मी जी की प्रतिमा बनाती है बल्कि वो कूड़े से भी खिलौना, छोटी बड़ी कलात्मक वस्तुए भी बना डालती है। इनका कहना है कि हम चाहते है कि लोग इस कला को सीखे और स्वा

मॉरिशस मैत्री महोत्सव

कोलकाता. 186 साल पूर्व भारत से मॉरिशस गये गिरमिटिया मजदूरों की याद में अचीवर्स जंक्शन पर भारत मॉरिशस मैत्री महोत्सव का आयोजन हुआ जिसमें दोनों देशों के डेलीगेट्स, साहित्यकार, कलाकार, गायक, पत्रकार और संस्कृति कर्मियों ने हिस्सा लिया. कार्यक्रम की स्पीकिंग अध्यक्षता भोजपुरी यूनियन की चेयरपर्सन डॉ सरिता बुधू ने की। आगाज गीत गवाई स्कूल ऑफ मॉरिशस की दो दर्जन गायिकाओं ने किया. धनदेवी और उनकी टीम ने लगभग घंटे भर लोक गीत, संस्कार गीत और घर-आंगन गीत से न सिर्फ गिरमिटिया मजदूरों की कहानी कही, बल्कि दर्शकों को उनकी जड़ों के बाद काव्य पाठ हुआ। इस कार्यक्रम में भारत से कर्नल बीपी सिंह, गीतकार मनोज कुमार मनोज ती मॉरिशस से प्रोफेसर हेमराज सुंदर, हिंदी सचिवालय के महासचिव प्रोफेसर विनोद कुमार मिश्र, डॉ मुरीति रघुनंदन, डॉ शिक्षा गजाधर ने हिस्सा लिया। लवना रामधनी, वशिष्ट कुमार और अरविंद सिंह ने अद्भुत काव्य पाठः किया गीत-गजलों और कविताओं की बारिश होती रही. गिरमिटिया मजदूरों की याद में आयोजित कार्यक्रम में डॉ कीर्ति प्रोड्यूसर, एकर नर्मदा खेदनाह, महात्मा गांधी संस्थान के डॉ अरविंद विसेमार, पत्रकार सविता ति

ओवरटेक न करे, दुर्घटना से देर भली

जिलाधिकारी, रायबरेली वैभव श्रीवास्तव व पुलिस अधीक्षक श्लोक कुमार ने जनपद में चलाये जा रहे यातायात माह नवम्बर पर जनपद वासियों से अपील की है सरकार द्वारा जारी यातायात सम्बन्धित दिशा निर्देशों को स्वयं जाने तथा दूसरों को जानकारी दें। इसके अलावा यातायात व सड़क सुरक्षा के नियमों का पालन करके अपनी तथा दूसरों की जीवन की रक्षा करें। सड़क सुरक्षा सम्बन्धी नियमों का स्वयं भी पालन करें तथा अन्य को भी पालन करना सुनिश्चत करे। सड़क सुरक्षा संबंधी अपनी जिम्मेदारी निभाएं, हेलमेट लगाए, वाहन चलाते समय मोबाइल का प्रयोग न करे, तेज गति से वाहन न चलाए, नशे की हालत मे वाहन न चलाए, निश्चित सवारी ही गाड़ी मे बैठाए, गलत ढ़ग से ओवरटेक न करे, दुर्घटना से देर भली आदि पर बोर्ड जनपद के विभिन्न स्थलो पर लगाएं ताकि लोग जागरूक हो तथा यातायात के नियमो का पालन करें। इसी क्रम में सड़क सुरक्षा जागरूकता कार्यक्रमों के तहत वल्र्ड वेलफेयर आर्गनाइजेशन तत्वाधान में स्थानीय मलिकमऊ जवाहर विहार कालोनी के निकट दुर्गा इण्टर कालेज में सड़क सुरक्षा जागरूकता व मिशन शक्ति जागरूकता कार्यक्रम आयोजित किया गया। कार्यक्रम में विशेष विशेषज्ञों जिसम