सीधे मुख्य सामग्री पर जाएं

संदेश

सितंबर, 2020 की पोस्ट दिखाई जा रही हैं

सबसे अलग किस्म के गीतकार थे जमादार धीरज

नगर के वरिष्ठ कवि जमादार धीरज के निधन पर साहित्यिक संस्था गुफ्तगू की तरफ से आनलाइन शोकसभा हुई। अध्यक्ष इम्तियाज अहमद गाजी ने कहा जमादार धीरज प्रयागराज के वरिष्ठतम कवियों में से थे, उनके गीत में समाज और देश के वास्तविक संदर्भों का वर्णन मार्मिक ढंग से होता था, उनके निधन से प्रयागराज में एक खास कवि का स्थान रिक्त हो गया, जिसकी पूर्ति करना संभव नहीं होगा। श्री गाजी ने कहा कि हाल ही में उन्होंने मुझसे कहा था कि मैं अपना एक कविता संग्रह तैयार कर रहा हूं, जल्द ही प्रकाशित करने के लिए दूंगा। मनमोहन सिंह तन्हा ने कहा कि जमादार धीरज जितने अच्छे गीतकार थे, उतने ही मिलनदार और संवेदनशील इंसान भी थे। उनके काव्य सृजन और व्यक्तित्व को कभी नजरअंदाज नहीं किया जा सकता। प्रभाशंकर शर्मा ने कहा कि जमादार धीरज प्रयागराज की शान थे, उनके गीत दूर-दराज के इलाकों में भी गुनगुनाए जाते हैं, उनकी विशिष्ठ शैली उन्हें अन्य गीतकारों से अलग करती है। उनकी अब तक पांच पुस्तकें प्रकाशित हुई हैं, अगली पुस्तक की तैयारी में वे लगे हुए थे। जमादार धीरज की बेटी मधुबाला गौतम ने कहा कि पिताजी कह रहे थे कि उनका लिखा हुआ बेकार नहीं

सतत विकास लक्ष्य

वैश्विक लक्ष्यों में गरीबी खत्म करना, पर्यावरण की रक्षा, आर्थिक असमानता के कम करना और सभी के लिए शान्ति एवं न्याय सुनिश्चित करना सतत विकास लक्ष्यों में शामिल है। इसमें 17 सतत विकास लक्ष्य रखे गये है। जिन्हें अधिकारी भली-भांति जानकर कार्यवाही करें। एडीजी भारत सूचकांक की महत्ता को दर्शाता है। सतत विकास के पांच वैश्विक लक्ष्यों का क्रियान्वयन शामिल है। जिलाधिकारी वैभव श्रीवास्तव व मुख्य विकास अधिकारी अभिषेक गोयल द्वारा निर्देशित किया गया है कि उपनिदेशक क्षेत्रीय ग्राम्य विकास संस्थान, जिला विकास अधिकारी, जिला पूर्ति अधिकारी, मुख्य चिकित्साधिकारी, बीएसए, डीपीओ, डीपीआरओ, अधिशाषी अभियन्ता सिचाई-बिजली, उपायुक्त उद्योग, जिला समाज कल्याण, प्रदूषण नियंत्रण अधिकारी, वनाधिकारी, एडीएम, डीएफओ, एसपी आदि सम्बन्धित विभागों कें अधिकारियों को निर्देश दिये कि सतत विकास लक्ष्य की ओर बढ़े। इसके लिए निरन्तर लोगों को जानकारी दी जाये। जिससे गरीबी, भुखमरी पूर्णतः समाप्ति, अच्छा स्वास्थ्य और जीवन स्तर, गुणवत्तापूर्ण शिक्षा, लैगिंक समानता, साफ पानी व स्वच्छता, सस्ती और स्वच्छ ऊर्जा, आर्थिक विकास, उद्योग, नवाचार और

सात्विक ने जीता प्रथम पुरस्कार

सिटी मोन्टेसरी स्कूल, अलीगंज (द्वितीय कैम्पस), लखनऊ के कक्षा-6 के प्रतिभाशाली छात्र सात्विक श्रीवास्तव ने अन्तर-विद्यालयी स्टोरी-टेलिंग प्रतियोगिता में प्रथम पुरस्कार अर्जित कर विद्यालय का नाम गौरवान्वित किया है। यह प्रतियोगिता शैक्षिक-साहित्यिक संस्था ‘योग्यपीठ’ के तत्वावधान में आॅनलाइन आयोजित हुई।  सी.एम.एस. के मुख्य जन-सम्पर्क अधिकारी श्री हरि ओम शर्मा ने बताया कि यह प्रतियोगिता छात्रों की अभिव्यक्ति क्षमता का विकास करने, उनमें आत्मविश्वास का संचार करने एवं उनके ज्ञान को परखने के उद्देश्य से आयाजित की गई, जिसमें लखनऊ के कई प्रतिष्ठित विद्यालयों के छात्रों ने प्रतिभाग किया। प्रतियोगिता के अन्तर्गत सी.एम.एस. के इस प्रतिभाशाली छात्र ने बड़े आत्मविश्वास से कथा वाचन कर प्रथम पुरस्कार अर्जित किया। प्रतियोगिता के आयोजकों ने सी.एम.एस. के इस मेधावी छात्र की बहुमुखी प्रतिभा की भूरि-भूरि प्रशंसा करते हुए प्रशस्ति पत्र प्रदान कर सम्मानित किया।  श्री शर्मा ने बताया कि सी.एम.एस. सदैव ही विभिन्न रचनात्मक एवं सृजनात्मक प्रतियोगिताओं के माध्यम से अपने छात्रों की बहुमुखी प्रतिभा को निखारने के साथ ही ज

कभी हां कभी नां

बचपन से सुनता आ रहा हूं कि तस्वीरे बोलती हैं, इसी कारण कुछ तस्वीरे अपने मित्र से प्राप्त आपके समक्ष है। क्या अच्छा, क्या खराब सब समय-समय पर दर्ज होता रहता है। शायद इस तस्वीर देखने के बाद कुछ याद आ जाये।

वक्त ने कहां पहुचा दिया

आजम खान कभी सदन की शान हुआ करते थे, वक्त ने कहां पहुचा दिया। पुरानी फोटो मिल गई सोचा शेयर कर दूं, जब कभी अवसर मिले कोई ऐसा काम नहीं करना चाहिए कि भविष्य में पछताना पड़े।  

नीरज भारद्धाज अब सस्पेंस थ्रिलर वेब सीरीज शिकारी में

आजकल वेब सीरीज का जमाना आ गया है और सभी छोटे व बड़े सभी कलाकार इससे जुड़ रहे है। ऐसे में कई हिंदी फिल्मों और कई भोजपुरी फिल्मों में भी,बतौर हीरो काम करने वाले तथा धारावाहिक साथ निभाना साथिया में 6 वर्षों तक चिराग मोदी उर्फ मोटा भाई की भूमिका निभाने वाले बहुमुखी प्रतिभाशाली एक्टर नीरज भारद्धाज भी अब नियो फ्लिक्स के लिए बन रहे सस्पेंस थ्रिलर वेब सीरीज शिकारी में मुख्य नायक की भूमिका में जल्द ही नजर आएंगे। इसके निर्देशक तनवीर है,जोकि कई फिल्मे, वेब सीरीज, शार्ट फिल्मे कर चुके है।   नीरज भारद्धाज कहते है, नए जमाने के साथ व समय के साथ चलना चाहिए। मुझे मुख्य भूमिका के साथ-साथ काफी चैलेंजिंग रोल मिल रहा था, इसलिए कर लिया। अब मैं भले कम काम करूँगा, लेकिन बड़े और अच्छे रोल करूँगा। लेकिन आजकल तो लोग अच्छा अभिनय और रोल के बारे में बात करने के बदले फिल्म इडस्ट्री में लोगो से पहले यह पूछते है कि आप कितने कम से कम पैसे लेंगे? अब प्रोडूसर टैलेंट की बजाय पैसे को पहले देखता है। फिलहाल नीरज भारद्धाज अलग अलग प्लेटफॉर्म पर वेब सीरीज कर रहे हैं। उन्होने कहा कि वेब सीरीज करने मे ज्यादा संतुष्टी मिलती है, ये ट

मेधावी छात्रों 76 लाख रूपये की स्कालरशिप

सिटी मोन्टेसरी स्कूल, महानगर, लखनऊ के 19 मेधावी छात्रों को भारत सरकार के विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी मंत्रालय द्वारा 76 लाख रूपये की स्काॅलरशिप से नवाजा गया है, जिसके अन्तर्गत प्रत्येक छात्र को चार लाख रूपये मिलेंगे। सी.एम.एस. छात्रों को यह स्काॅलरशिप विज्ञान विषय में उच्च स्तरीय शिक्षा हेतु प्रदान की जायेगी। सी.एम.एस. के मुख्य जन-सम्पर्क अधिकारी श्री हरि ओम शर्मा ने बताया कि इस स्काॅलरशिप के अन्तर्गत प्रत्येक छात्र को पाँच वर्षों तक प्रतिवर्ष 80,000/- रूपये अर्थात कुल चार लाख रुपये की धनराशि प्रदान की जाएगी।  सी.एम.एस. महानगर कैम्पस के इन मेधावी छात्रों ने इस वर्ष की आई.एस.सी. (कक्षा-12) परीक्षा-2020 में अपने मेधात्व का अभूतपूर्व परचम लहराते हुए पूरे देश में ‘टाॅप वन परसेन्ट’ मेरिट सूची में स्थान अर्जित किया है एवं इसी अभूतपूर्व प्रदर्शन हेतु विज्ञान की उच्च स्तरीय शिक्षा हेतु इस प्रतिष्ठित स्काॅलरशिप हेतु चयनित किया गया है।  श्री शर्मा ने बताया कि स्काॅलरशिप अर्जित करने वाले मेधावी छात्रों में आदर्श गोयल, अक्षत श्रीवास्तव, अंशिका सिंह, अयान अहमद, ईशान रस्तोगी, केनिशा मिश्रा, क्षितिज कैथ

लिविंग रिलेशन फिल्म युवाओं के लिविंग रिलेशन पर आधारित है

देशभर में आजकल काफी युवाओं में लिविंग रिलेशन आम बात हो गई है, खासकर बड़े शहरों व महानगरों में ज्यादातर लोग मजबूरी वश व खर्चे के हिसाब से लड़के-लड़कियां साथ में रहते है और फिर उनके बीच रेलशन बन जाता है। ऐसी ही कहानी पर सूरत (गुजरात) की सोनल गजेरा व आशीष गजेरा मिलकर हाई-स्पीड सिने इंटरनेशनल बैनर तले एक हिंदी फीचर फिल्म लिविंग रिलेशन की शूटिंग की शुरुवात मालाड के मढ़ में स्थित मनीषा बंगले में की। जिसके निर्देशक अरमान जाहिदी है।   सूरत (गुजरात ) के रहने वाले आशीष गजेरा व सोनल गजेरा फिल्म के बारे में कहते है, सूरत में हमारा बिजनेस है। हमने काफी लिविंग रिलेशन में रहने वालों को देखा है, उनकी जिंदगी में क्या बदलाव आते है? उसी के लिए उनको उसकी तसवीर को पेश करने के लिए इस फिल्म का निर्माण करने का फैसला लिया।        फिल्म के निर्देशक अरमान जाहिदी इससे पहले विजय आनंद, चन्द्रा बारोट, मेहुल कुमार जैसे दिग्गज निर्देशकों के सहायक निर्देशक रह चुके है व कई फिल्मे, धारावाहिक, शार्ट फिल्म व विज्ञापन फिल्मे बना चुके है। निर्देशक अरमान जाहिदी फिल्म लिविंग रिलेशन के बारे में कहते है, लिविंग रिलेशन के कलरफुल लाइ

न्यूयार्क एकेडमी आफ साइन्सेज में चयनित

सिटी मोन्टेसरी स्कूल, आर.डी.एस.ओ. कैम्पस, लखनऊ के कक्षा-12 के प्रतिभाशाली छात्र आरव प्रताप सिंह ने अपनी वैज्ञानिक प्रतिभा, उत्कृष्ट ज्ञान-विज्ञान व रचनात्मक सोच के बलबूते दुनिया की अत्यन्त प्रतिष्ठित न्यूयार्क एकेडमी आॅफ साइन्सेज, अमेरिका की जूनियर एकेडमी में चयनित होकर सी.एम.एस. का नाम पूरे विश्व में गौरवान्वित किया है। इस एकेडमी के छात्र नासा के वैज्ञानिकों के मार्गदर्शन में अनुसंधान के कायों में अपनी भूमिका निभाते हैं। सी.एम.एस. संस्थापक व प्रख्यात शिक्षाविद् डा. जगदीश गाँधी ने  सी.एम.एस. के इस मेधावी छात्र की अभूतपूर्व उपलब्धि पर हार्दिक प्रसन्नता व्यक्त करते हुए कहा कि पूरे सी.एम.एस. परिवार को आरव की इस सफलता पर गर्व है। उन्होंने आगे कहा कि  सी.एम.एस. अपने छात्रों को सर्वोत्कृष्ट शिक्षा प्रदान करने के साथ ही वैश्विक दृष्टिकोण प्रदान कर उन्हें विश्व नागरिक बना रहा है और यही कारण है कि आज सी.एम.एस. छात्र सारी दुनिया में उच्च पदों पर प्रतिष्ठित होकर विश्व मानवता की सेवा कर रहे हैं।  सी.एम.एस. के मुख्य जन-सम्पर्क अधिकारी श्री हरि ओम शर्मा ने बताया कि न्यूयार्क एकेडमी आॅफ साइन्सेज, अमे

महिला सशक्तिकरण शिविर का आयोजन संपन्न

राज्य विधिक सेवा प्राधिकरण के निर्देशानुसार व अब्दुल शाहिद जिला एवं सत्र न्यायाधीश/अध्यक्ष जिला विधिक सेवा प्राधिकरण, रायबरेली के दिशानिर्देशन में व सबला परिवार परामर्श के सहयोग से महिला सशक्तिकरण विषय पर विधिक साक्षरता एवं जागरुकता शिविर का आयोजन किया गया। मयंक जायसवाल सचिव जिला विधिक सेवा प्राधिकरण द्वारा कार्यक्रम की अध्यक्षता की गयी अपने अध्यक्षीय भाषण में सचिव द्वारा महिलाओं को उनके विधिक अधिकारों के सम्बन्ध में बताया गया। सचिव द्वारा महिलाओं को सरकार की विभिन्न निःशुल्क योजनाओं के सम्बन्ध में जानकारी दी गयी एवं उन्हें मानसिक विकास के प्रति सदैव सजग रहने हेतु प्रेरित किया गया सचिव द्वारा महिलाओं को निःशुल्क महिला हेल्प लाइन 181 के सम्बन्ध में जानकारी दी गयी। इस अवसर पर सबला परिवार परामर्श केन्द्र की सचिव मीनू त्यागी, कोषाध्यक्ष सबला परिवार परामर्श केन्द्र बन्दना त्रिपाठी डीएमसी यूनीसेफ, दीपिका शुक्ला परामर्शदात्री, व अन्य महिलाएं उपस्थित थी।

स्कूल्स मैनेजर एसोसिएशन की बैठक

रायबरेली स्कूल्स मैनेजर एसोसिएशन की बैठक गत दिवस प्रभुटाउन स्थित राइजिंग चाइल्ड स्कूल में संपन्न हुई। संरक्षक अरविन्द श्रीवास्तव की संस्तुति से अध्यक्ष गौरव सिंह ने कार्यकारिणी की घोषणा की जिसमे प्रभात सिंह को महासचिव, शिवेंद्र श्रीवास्तव को कोषाध्यक्ष, अमित श्रीवास्तव को उपाध्यक्ष तथा दीपक यादव को जिला सचिव नियुक्त किया गया। सभी नवनिर्वाचित पाधिकारीयो ने संरक्षक व अध्यक्ष का आभार व्यक्त किया। साधारण सभा में उपस्थित समस्त प्रबंधको ने एसोसिएशन द्वारा अब तक निजी विद्यालयों के हित में की गई कार्यवाही की भुरि-भुरि प्रशंसा किया। विदित हो कि एसोसिएशन के द्वारा जहां शासन को ज्ञापन पत्र देकर विद्यालय हितों का ध्यान रखते हुए मान्यता नियमावली में परिवर्तन करवाए जाने का अभूतपूर्व कार्य किया वहीं जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी, रायबरेली से मिलकर टी.सी. में काउंटर साइन की बाध्यता को समाप्त करवाए जाने जैसा महत्वपूर्ण कार्य संपादित किया गया। प्रबंधक सूरज शुक्ला ने सुझाव दिया कि एसोसिएशन की वेबसाइट बनाकर जिले के अभिभावकों का एजुकेशनल क्रेडिट स्कोर बनाया जाए जिसमे जनपद के सभी डिफाल्टर अभिभवाको की सूची डाली

सी.एम.एस. की दो छात्राएं बनी पी.सी.एस.

सिटी मोन्टेसरी स्कूल, लखनऊ की दो प्रतिभाशाली छात्राओं फाल्गुनी सिंह (26वीं रैंक) एवं गौरीशा श्रीवास्तव (136वीं रैंक) ने अभी हाल ही में घोषित हुए पी.सी.एस. परीक्षा परिणाम में सफलता अर्जित कर लखनऊ का नाम गौरवान्वित किया है। इस प्रतिष्ठित परीक्षा में सी.एम.एस. गोमती नगर (प्रथम कैम्पस) की छात्रा फाल्गुनी सिंह ने 26वीं रैंक अर्जित कर अपनी सफलता का परचम लहराया है और उन्हें एस.डी.एम. पद हेतु चयनित किया गया है। फाल्गुनी ने प्रथम प्रयास में ही यह उपलब्धि अपने नाम की है। फाल्गुनी ने कक्षा-7 से कक्षा-12 तक की शिक्षा सी.एम.एस. गोमती नगर (प्रथम कैम्पस) से प्राप्त की एवं वर्ष 2012 में आई.एस.सी (कक्षा-12) की बोर्ड परीक्षा 95.40 प्रतिशत अंको से उत्तीर्ण की। इसी प्रकार, सी.एम.एस. कानपुर रोड कैम्पस की छात्रा गौरीशा श्रीवास्तव को 136वीं रैंक के साथ ब्लाक डेवलपमेन्ट आॅफीसर के पद पर चयनित किया गया है। गौरीशा ने मान्टेसरी से लेकर 12वीं तक की शिक्षा सी.एम.एस. कानपुर रोड कैम्पस से प्राप्त की है। सी.एम.एस. की इन मेधावी छात्राओं ने अपनी सफलता का श्रेय सी.एम.एस. शिक्षकों के मार्गदर्शन, विद्यालय के प्रेरणादायी शै

तांगेवाला और वो रात

बात अगस्त 1926 की है लखनऊ के कलैक्टर रिचर्ड विलियम वर्ड को सीतापुर के जिलाधीश एच.एम. ईलियट ने विशेष लेटर भेज कर काकोरी केस के फरार मुजरिमो की पहचान के लिये उनके फोटो और अंय जानकारयिां मांगी ईलियट के अनुसार उन्हें एस.पी. सीतापुर ने सूचित किया है कि शहर के मशहूर सेठ दौलतराम के यहाँ कुछ अजनबी युवक ठहरे हुये है। पुलिस को शक है कि ये काकोरी डकैती के मुजरिम है। लेकिन एक तो सेठ काफी रसूख वाला है। दूसरे इन युवकों के खिलाफ कोई सबूत नही है। स्थानीय पुलिस के पास काकोरी कांड के मुजरिमों की कोई पहचान की कोई पुख्ता जानकारी नही है लाट साहब ने पत्र की एक काॅपी तुरंत एस.पी. लखनऊ जोसफ हार्डविक को भेजी और जरूरी कागजात और फोटोज तुरंत सीतापुर भिजवाने का आदेश दिया कप्तान साहिब ने अपने सबसे खास और खुफिया मुकहमे के तेज तर्रार अफसर इन्सपैक्टर ले वेस्टन यानि मुझे इस काम की जिम्मेदारी सौंपी मैने अगले दिन रेकार्ड रूम से जरूरी कागज हासिल किये और मुहकमे की मोटर से शाम को निकल पड़ा मेेरे साथ ड्राईवर अनवर अली और एक कान्सटेबल मोहन सिंह था अगस्त का महीना था निकलते निकलते सूरज डूब चुका था शाही पुल पार करते की शहर समाप्त

छात्रों को 16 लाख रूपये की स्कालरशिप

सिटी मोन्टेसरी स्कूल, राजाजीपुरम (प्रथम कैम्पस), लखनऊ के चार मेधावी छात्रों को भारत सरकार द्वारा 16 लाख रूपये की स्कालरशिप से नवाजा गया है। इन छात्रों में आकाश तिवारी, गर्विता सिंह, कृष्णम गुप्ता एवं प्रज्ञान प्रभाकर वर्मा शामिल हैं, जिन्हें भारत सरकार ंके विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी मंत्रालय द्वारा 16 लाख रूपये की स्कालरशिप प्रदान की जायेगी, जिसमें प्रत्येक छात्र को चार लाख रूपये मिलेंगे।  सी.एम.एस. के मुख्य जन-सम्पर्क अधिकारी श्री हरि ओम शर्मा ने बताया कि सी.एम.एस. छात्रों को यह स्काॅलरशिप विज्ञान विषय में उच्च स्तरीय शिक्षा हेतु प्रदान की जायेगी, जिसके अन्तर्गत प्रत्येक छात्र को पाँच वर्षों तक प्रतिवर्ष रु. 80,000/- अर्थात कुल चार लाख रुपये की धनराशि प्रदान की जाएगी। श्री शर्मा ने बताया कि सी.एम.एस. चैक कैम्पस इन मेधावी छात्रों ने इस वर्ष की आई.एस.सी. (कक्षा-12) परीक्षा-2020 में अपने मेधात्व का अभूतपूर्व परचम लहराते हुए पूरे देश में ‘टाॅप वन परसेन्ट’ मेरिट सूची में स्थान अर्जित किया है एवं इसी अभूतपूर्व प्रदर्शन हेतु विज्ञान की उच्च स्तरीय शिक्षा हेतु इस प्रतिष्ठित स्काॅलरशिप हेतु चयनि

मैं गरीब जनता के लिए संघर्ष करता रहूँगा: संजीबा

आज से लगभग 25 वर्षों पहले आज के सत्यग्रही गांधी यानि वीररस कवि व समाज सेवक संजीबा के घर के एक कमरे में एक किरायेदार के बेटे ने आत्महत्या कर ली थी, अपने सुसाइड नोट में उसने लिखा कि मैं भारत की आर्थिक नीतियों के खिलाफ आत्महत्या कर रहा हूँ। इस घटना ने उनके जीवन को एक नई दिशा दे दिया,. बस उसके बाद समाज की व्यवस्था बदलने के लिए कानपुर की सड़कों पर पहले क्रांतिकारी कविताओं की पर्चियां बाँटने लगे और फिर सड़कों पर नुक्कड़ नाटक खेलने लगे, जिसके लिए नुक्कड़ नाटक खेलने के दौरान दर्जनों बार इन्हे जेल हथकड़ी, हवालात से गुजरना पड़ा। लेकिन उसके बाद भी वे रुके नहीं, नाटक के माध्यम से गरीबों की आवाज उठाने लगे, .सड़को पर अपनी कविता चित्रों की प्रदर्शनी लगाने लगे और आजकल संजीबा नाम से यू टियूब चैनल शुरू किया और अपने गीत-संगीत और गायन के जरिये जनता की तकलीफो को और सरकार की गलत नीतिओं को उजागर करते हैं और जनता के सामाजिक जागरण और व्यवस्था में सुधार लाना की कोशिश करते है। जिसके लिए वर्ष 2012 में सीताराम जिंदल ग्रुप ने भ्रष्टाचार के खिलाफ लड़ने में 25 लाख रुपये का नकद पुरस्कार देकर दिल्ली में सम्मानित किया। संजीबा क

भारतेंदु हरिश्चंद्र आधुनिक हिंदी साहित्य के पितामह कहे जाते हैं

आनलाइन रंग संवाद में शाश्वत, सांस्कृतिक सामाजिक एवं संस्कृत संस्था, समन्वय रंगमंडल, आधारशिला रंगमंडल, समानांतर, मंथन कला, विनोद रस्तोगी संस्थान भारतेंदु बाबू के जन्मदिवस पर उन्हें नमन करते वरिष्ठ रंगकर्मी अभिलाष नारायण जी ने कहा भारतेंदु बाबू की कालजई कृति अंधेरे नगरी को प्रयाग, काशी के संगम से नया कलेवर दिया गया जिसमे मूल योगदान प्रयाग के महान निर्देशक डा सत्यव्रत सिन्हा का रहा, और प्रस्तुति में जान फूँकी राजा की भूमिका निभाने वाले काशी के श्री नील कमल चैटेर्जी ने. आधारशिला रंगमंडल के अजय केसरी भारतेंदु हरिश्चंद्र जी के जन्मदिवस पर मैं आधारशिला परिवार की तरफ से श्रद्धा सुमन अर्पित करता हूं और उनके सम्मान में बस मैं इतना ही कहूंगा वह आधुनिक हिंदी साहित्य, गद्य, पद्य एवं पत्रकारिता एवं आधुनिक हिंदी नाटकों के और उपनिवेशवाद के जनक कहे जाते हैं बाल्यकाल की अवस्था में मात्र 12 वर्ष की आयु में ही उन्होंने पंडित मंगला प्रसाद त्रिपाठी द्वारा रचित नाटक जानकी मंगल मे अभिनय भी किया मात्र 34 साल 4 महीने की अल्प आयु में दुनिया को अलविदा कह दिया लेकिन दुनिया छोड़ने से पहले वे अपने क्षेत्र में इतना कु

क्षेत्र पंचायत सदस्यों के साथ बैठक

विकासखंड शाह गौरा, रायबरेली के सभागार में क्षेत्र पंचायत सदस्य, तथा प्रधान गणों की बैठक संपन्न हुई। बैठक में उपस्थित सदस्यों द्वारा विकास हेतु सड़क निर्माण नाली निर्माण, खंडजा, इंटरलॉकिंग संबंधित कार्य हेतु 2.5 करोड़ रुपए का प्रस्ताव बोर्ड बैठक में दिया गया। जिस पर ब्लॉक प्रमुख मीना पांडे ने कहा, ये विकास के सभी कार्यों को कराया जाएगा। शासन द्वारा 15 वां वित्त क्षेत्र पंचायत को अलग से कार्य हेतु देने का प्रावधान किया गया है जिसके अंतर्गत पर पेय जल, जल शक्ति, इंटरलॉकिंग, प्रकाश व्यवस्था, तथा क्षेत्र पंचायत के अंतर्गत पशुपालन, मत्स्य पालन, बीज भंडार,गोदाम इत्यादि भवनों का नवीनीकरण कराया जाएगा। उपरोक्त कार्यो को कराने हेतु 15 वां वित्त कर खाता खुलवा दिया गया है शासन द्वारा पैसा आते ही विकास के सभी कार्य तीव्र गति से प्रारंभ कर दिए जाएंगे मीना पांडे ने कहा आज देश कोरोना महामारी से लड़ रहा है देश के प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी ने बहुत ही अच्छे ढंग से करोना जैसी महामारी से देश को बचाने के उपाय किए हैं साथ ही साथ पूर्व में ही मोदी जी ने कहा था कारोना से जंग लंबी होगी और इस लड़ाई में देश के 135

वाटर हार्वेस्टिंग प्रणाली

जिलाधिकारी वैभव श्रीवास्तव ने भविष्य के लिए जल संग्रहण करने हेतु जल संचयन के कार्यों को सरकार की प्राथमिकता में सम्मिलित किया गया है। शासन द्वारा प्रदेश के समस्त जनपदों के समस्त शासकीय, अर्द्धशासकीय भवनों तथा स्कूल-कालेजों के भवनों पर अनिवार्य रूप से रूफटाप रेन वाटर हार्वेस्टिंग प्रणाली की स्थापना के निर्देश दिए गए है। इसी दिशा में विशेष प्रयास करते हुए शासन स्तर से लघु सिंचाई विभाग के अधिशासी अभियन्ता-सहायक अभियन्ता को जनपद स्तर पर रूफटाप रेन वाटर हार्वेस्टिंग प्रणाली की स्थापना के कार्य की प्रगति का अनुश्रवण करने हेतु नोडल अधिकारी नामित किया गया है। जल संचयन को व्यापक जन सहभागिता के द्वारा जन आन्दोलन का रूप दिये जाने की आवश्यकता है। इसमें समस्त नागरिकों से सक्रिय योगदान की अपेक्षा की गई है कि समस्त व्यवसायिक प्रतिष्ठानों-औद्योगिक इकाइयों-गैर सरकारी संगठनों एवं कृषकों इत्यादि से अनुरोध है कि अपने-अपने कार्य क्षेत्रों में रेन वाटर हार्वेस्टिगं प्रणाली स्थापित करते हुए जलसंचयन के कार्य प्रभावी रूप से किए जाए। ग्रामीण क्षेत्रों में महात्मा गाँधी राष्ट्रीय रोजगार गारन्टी योजना के अन्तर्गत

ईश्वर के बनाए पुतले भगवान हो गए हैं

शाश्वत सांस्कृतिक साहित्यिक एवं सामाजिक संस्था द्वारा आयोजित पुस्तक समीक्षा मे नाटक ‘एक अजीब दास्तां नाट्य लेखन श्री अख्तर अली रायपुर छत्तीसगढ़ की नाटक परिचर्चा संपन्न हुई। वरिष्ठ रंगकर्मी सुषमा शर्मा कहती है एक अजीब दास्तां श्री अख्तर अली द्वारा लिखित एक वैचारिक नाटक है इस नाटक में तीन पात्र हैं वकील आरोपी और जज वास्तव में आरोपी हम सब हैं जिनके मन में समय-समय पर बाहरी दुनिया में घटने वाली अनेक घटनाएं हमारे विश्वास को हिला देती हैं और हम यह सोचने पर मजबूर हो जाते हैं कि क्या ईश्वर कहीं नहीं है और अगर वह है तो उसका रक्षा यह संसार ऐसा क्यों है असल में हम सब अपने द्वारा किए हुए कर्मों को ईश्वर पर थोप देते हैं और उससे कर्म फल को ईश्वर का न्याय समझकर व्यतीत हो जाते हैं आगे चलकर नाटक कार्य स्पष्ट करता है कि सब धर्मों से ऊपर इंसानियत का धर्म है और मुस्कुराता हुआ इंसान ही सच्चा इंसान है बाकी सब हमारे द्वारा ही रचा हुआ पाखंड है इस नाटक का मंचन विधान सादा है और नाटकीय तामझाम से दूर है इससे ना केवल मंचित किया जा सकता है बल्कि फिल्माया भी जा सकता है अंत में नाटककार नाटकीय विधान के साथ दर्शकों पर फै

बाइक से गिरे युवक की उपचार के दौरान मौत

ललितपुर। नवीन गल्ला मंडी गेट के निकट एक युवक के बाइक का संतुलन बिगड़ जाने से वह गिरकर गंभीर रूप से घायल हो गया। बताया गया है कि उसके सिर में गंभीर चोट लगने से वह गंभीर रूप से घायल हो गया था एवं उसकी अस्पाताल में उपचार के दौरान उसकी मौत हो गई। मृतक की पहचान तालाबपुरा क्षेत्र के डोंडाघाट शिव मन्दिर के पास के निवासी अंकुर जैन के रूप में हुई है। मृतक युवक नवीन गल्ला मंडी में ही अपना डिब्बा रखकर गल्ला की खरीद करता था। युवक की मौत से उसके घर में कोहराम मच गया है क्योंकि मृतक के दो छोटे-छोटे बच्चे बताए जा रहे हैं। इस घटनाक्रम के चलते फिर से एक बार सरकारी वाहन 108 ने सूचना पाकर घंटों इंतजार के बाद भी नहीं पहुंचने पर से एक युवक की बेबजह मौत का कारण बना, क्योंकि अगर समय पर 108-वाहन आ जाता तो उक्त युवक को फौरन उपचार मिल जाने पर वह बच सकता था। जबकि उत्तर प्रदेश सरकार ने हर जिले में चिकित्सा विभाग के निदेशन में उक्त सरकारी वाहन 108 को आदेशित किया है कि वह किसी भी घटना की सूचना मिले तो, घटना स्थल पहुंचे एवं समय पर घायल को अस्पताल ले जाये। लेकिन इस बार फिर उक्त युवक गंभीर रूप से सड़क पर गंभीर रूप से घा

सी वी.सी.आई.डी. जांच की मांग

जिलाधिकारी महोबा को ज्ञापन मुख्यमंत्री उत्तर प्रदेश के लिए दिया गया जिसमें भगवती प्रसाद सोनी जिला संवाददाता टीवी1 इंडिया न्यूज एवं प्रदेश उपाध्यक्ष मानव सेवा संस्था उत्तर प्रदेश के पुत्र की 2017 में हत्या हुई थी जिस पर आज तक कोई कार्यवाही नहीं हुई तो संपूर्ण उत्तर प्रदेश में अन्य जिलों पर भी मानव सेवा संस्था के तत्वाधान में जिला अधिकारियों को सीबीसीआईडी जांच की मांग कर निष्पक्ष जांच की प्रार्थना की गई जिसकी अगुवाई प्रदेश अध्यक्ष मानव सेवा संस्था रमन दीक्षित द्वारा की गई। दूसरा ज्ञापन मान सिंह ग्राम नटर्रा थाना चरखारी जिला महोबा ने दिया जिनका ट्रैक्टर 8 साल पहले राजू सिंह खरेला ने 15000 महीने पर किराए से लिया था आज तक कोई किराया नहीं दिया गया ना आज तक ट्रैक्टर कल्टीवेटर सीडल थ्रेशर वापस किया गया शिकायती पत्र देने पर चरखारी पुलिस 3 साल से जांच कर रही है न्याना पाने से आहत होकर पीड़ित ने भी अनशन की घोषणा की। तीसरा प्रार्थी ग्राम स्यौडी थाना पनवाड़ी जिला महोबा अयोध्या प्रसाद का है जिनको पनवाड़ी पुलिस ने आज तक न्याय नहीं दिया उन्होंने भी अमरण अनशन की घोषणा कर जिला अधिकारी को ज्ञापन सौंपा। प्रद

युवा स्वरोजगार योजना की शुरूआत

राज्य के शिक्षित बेरोजगार युवकों की बेरोजगारी की समस्या दूर करने और प्रदेश के हुनरमंद व कर्मठ युवाओं को अपने पैरो पर खड़ा करने के लिए प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने मुख्यमंत्री युवा स्वरोजगार योजना की शुरूआत की है। इस योजना का मुख्य उदद्देश्य युवाओं को स्वरोजगार उपलब्ध कराना है। इस योजना के तहत सरकार द्वारा उत्तर प्रदेश के बेरोजगार युवाओं को अपना उद्योग शुरू कर स्वरोजगार स्थापित करने के लिए 25 लाख रू0 तक एवं सेवा क्षेत्र हेतु 10 लाख रूपये तक का ऋण बैंकों के माध्यम से उपलब्ध कराया जाता है। इसमें राज्य सरकार द्वारा 25 प्रतिशत मार्जिन मनी अनुदान लाभार्थी को उपलब्ध कराया जाता है, जो कि उद्योग क्षेत्र हेतु अधिकतम रूपये 6.20 लाख तथा सेवा क्षेत्र हेतु रुपये 2.50 लाख तक देय होता है। जो उद्यम के दो वर्ष तक सफल संचालन के उपरान्त अनुदान में परिवर्तित हो जाता है। प्रदेश में बहुत से ऐसे युवा है जो शिक्षित और किसी न किसी टेªड मंे प्रशिक्षण प्राप्त करने के बावजूद आर्थिक रूप से कमजोर होने के कारण अपना खुद का कोई उद्योग, स्वरोजगार शुरू नहीं कर पाते। राज्य के ऐसे युवा इस योजना के अन्तर्गत आवेदन

कालसर्प दोष कारण और निवारण

अब आरुषी अंधी लड़की की भूमिका में

यंग, ग्लैमरस, बहुमुखी प्रतिभाशाली अभिनेत्री आरुषी शर्मा आजकल टीवी इंडस्ट्री में अपनी एक्टिंग प्रतिभा से लोगों को प्रभावित कर रही हैं। स्टार भारत पर सोमवार से शुक्रवार तक प्रतिदिन रात साढ़े नौ बजे प्रसारित होने वाले रश्मि शर्मा प्रोडक्शन के धारावाहिक जग जननी माँ वैष्णोदेवी में आरुषी शर्मा एक अंधी लड़की की भूमिका निभा रही है, जिसमे उनके कैरेक्टर किशोरी को दर्शकों द्वारा काफी पसंद किया जा रहा है। इस धारावाहिक के निर्देशक भगवान यादव है।     धारावाहिक जग जननी माँ वैष्णोदेवी में अपने रोल के बारे में अभिनेत्री आरुषी कहती है, जिसमें मैं एक ब्लाइंड गर्ल का किरदार निभा रही हूँ, जिसका नाम किशोरी है। यह बहुत ही चुनौतीपूर्ण भूमिका है। लेकिन इसे बिना किसी ट्रेनिंग के निभा रही हूँ। जिसके लिए निर्देशक भगवान यादव ने मुझे काफी कुछ सिखाया और बताया, जिसके कारण मैं यह भूमिका अच्छे ढंग से कर रही हूँ। इसमें मेरे पिता की भूमिका आदि ईरानी कर रहे है और गीता त्यागी मेरी माँ की भूमिका निभा रही है। मैं माँ वैष्णोदेवी की भक्ति में धीरे-धीरे लीन हो जाती हूँ। और मेरे पिता मुझे और मेरी माँ को बहुत परेशान करते है। भविष

मेधावी छात्रा कुन्दन को उच्च शिक्षा के लिए इंग्लैण्ड के विश्वविद्यालयों ने आमन्त्रित किया गया

सिटी मोन्टेसरी स्कूल, अलीगंज (प्रथम कैम्पस), लखनऊ की मेधावी छात्रा कुन्दन मिश्रा ने उच्च शिक्षा हेतु इंग्लैण्ड के तीन विश्वविद्यालयों में चयनित होकर विद्यालय का नाम गौरवान्वित किया है। इस प्रतिभाशाली छात्रा को इंग्लैण्ड की यूनिवर्सिटी आॅफ रीडिंग, यूनिवर्सिटी आॅफ ईस्ट एंग्लिया एवं यूनिवर्सिटी आॅफ केन्ट द्वारा उच्चशिक्षा हेतु आमन्त्रित किया गया है। इस प्रतिभाशाली छात्रा ने अपनी रचनात्मक प्रतिभा एवं शैक्षणिक उत्कृष्टता के दम पर यह उपलब्धि अर्जित की है एवं अपनी सफलता का श्रेय अपने शिक्षकों व सी.एम.एस. के वातावरण को दिया है।   सी.एम.एस. के मुख्य जन-सम्पर्क अधिकारी श्री हरि ओम शर्मा ने बताया कि इस वर्ष अभी तक सी.एम.एस. के 89 छात्रों ने अमेरिका, इंग्लैण्ड, कैनडा, आस्ट्रेलिया, जापान, सिंगापुर, जर्मनी आदि ंविभिन्न देशों के ख्यातिप्राप्त विश्वविद्यालयों में चयनित होकर एक नया कीर्तिमान स्थापित किया है, जिनमें से अधिकतर को स्काॅलरशिप प्राप्त हुई है। श्री शर्मा ने आगे कहा कि सी.एम.एस. छात्रों के दृष्टिकोण व्यापक बनाने व उनकी प्रतिभा को प्रोत्साहित करने हेतु सदैव प्रयासरत है और इसी कड़ी में छात्रों क

देवांशी सिंह ने दी मेधावी छात्र को 1 लाख रूपये की आर्थिक मदद

धुन्नी सिंह स्मृति सेवा समिति की अध्यक्ष देवांशी सिंह ने अपने पापा स्व. अखिलेश सिंह की स्मृति में शिक्षक दिवस के अवसर पर मेधावी छात्रों हेतु अखिलेश सिंह स्कालरशिप की शुरुआत की। पहली स्कालरशिप की शुरुआत के तहत सत्र 2020-21 जे०ई०ई० मेन्स की परीक्षा में 97 प्रतिशत अंक प्राप्त करने वाले छात्र राज रत्नेश को उच्च शिक्षा हेतु 1 लाख रुपये का आर्थिक अनुदान प्रदान किया गया। राज रत्नेश मूलतः उन्नाव जनपद के बिहार थाना क्षेत्र के एक छोटे से गाँव मानपुर के रहने वाले हैं। पिता पेशे से किसान हैं। राज रत्नेश रायबरेली में रहकर अपनी पढ़ाई कर इस उपलब्धि को प्राप्त किया है। उच्च शिक्षा हेतु अब वेल्लोर इंस्टिट्यूट आफ टेक्नोलॉजी तमिलनाडू से बी. टेक.  में दाखिला लेकर इंजीनियरिंग के क्षेत्र में देश की सेवा करना चाहते हैं। उनकी मेहनत व लगन से प्रभावित होकर देवांशी सिंह ने बी.टेक. की पढ़ाई हेतु 1 लाख रुपये की छात्रवृत्ति प्रदत्त की। समिति की अध्यक्ष देवांशी सिंह ने अखिलेश सिंह स्कॉलरशिप के विषय में विस्तृत जानकारी देते हुए बताती हैं कि इस योजना को शुरू करने का एक मात्र लक्ष्य ऐसे मेधावी छात्र-छात्राओं को प्रोत्साह

फिर से मुस्कुराएगा मुंबई

तमाम मुश्किलों को झेलते हुए, तमाम समस्याओं का सामना करते हुए भी हमेशा चलते रहने वाला, जिंदादिल व मुस्कुराते रहने वाला एक शहर कोरोना महामारी जब पूरे विश्व में अपना आतंक फैलाते हुए भारत की ओर बढ़ रहा था, तब तक कई हजार लोग उसकी चपेट से संक्रमित हुए तो कई लोगो को अपनी जान से हाथ भी धोना पड़ा। इस महामारी के बारे में जब तक केंद्र सरकार और राज्य सरकार कुछ समझ पाती तब तक यह बीमारी भारत में दस्तक दे चुकी थी तथा इस वायरस की दवा क्या है इस खोज में पूरी दुनिया के वैज्ञानिक संशाधन में जुड ़गए किन्तु इस बीमारी से बचने का बेहतर रास्ता सरकार को नजर नहीं आया तो उसे एक ही रास्ता दिखा वो था लाॅकडाउन। जिससे लोग एक-दूसरे के सपर्क में ना आये और बीमारी की चैन को तोडा जाये इसलिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में पहला लाॅकडाउन यानि की  जनता कफ्र्यू लगाया गया किन्तु जब 25 मार्च, 2020 को राष्ट्रीय स्तर पर सम्पूर्ण भारतवर्ष में कोरोना वायरस से लड़ने के लिए (फेस-1ष् यानि की 25 मार्च से 14 अप्रैल तक जिस दिन लाॅकडाउन घोषित किया गया, उस दिन से लगा की मुंबई जैसे बड़े शहर पर ग्रहण लग गया हो। इस शहर की रफ्तार, इसकी ज

देवताओं व ऋषियों के साथ देवत्व की स्थापना के लिए हुआ था कृष्ण जन्म

150 साल पहले की चार्ल्स डार्विन की मानव विकास की थ्योरी हमने हाईस्कूल की जीव विज्ञान की किताब में पढ़कर रट ली कि जीवन की पहली उत्पत्ति का केंद्र जल है। इसी थ्योरी ने हमे बताया कि मानव बनने के पहले अमीबा, पेरामिशियम जैसे कितने चरणों से हम गुजरे। हैरत की बात यह है कि जिस सिद्धांत को हमे हजारों सालों से बताया जाता रहा उसको हमने केवल अपने दुःखों से मुक्ति पाने का आधार मानकर उन्हें देवता माना और उनको मन्दिरों में बैठाकर हम उनकी आडम्बर युक्त पूजा करते रहे और मुख्य तथ्य की तरफ कभी ध्यान ही नही दिया कि वेदों और पुराणों में लिखी इबारत हम केवल रट्टू तोते की तरह दोहराते रहे। जबकि इन इबारतों का अर्थ कितना व्यापक है इसको समझने का कभी प्रयास ही नही किया।  चार्ल्स डार्विन की थ्योरी वास्तव में हमारे वैदिक धर्म की पूरी तरह से नकल है। उनकी थ्योरी जल में पहला जीवन पैदा होने की बात करती है तो वैदिक धर्म में पहला अवतार मत्स्य का है। इसी प्रकार कच्छप, हंस से होते हुए परशुराम यानि जंगल मे रहकर जीवन यापन करने वाले मानव से है। पांचवे अवतार परशुराम के पास जंगल मे रहने के कारण हिंसा ज्यादा है। इसी कारण उनकी विशेष

एकतरफा महिला कानून

एक तरफ विवाहित बेटियों को भी पैतृक सम्पत्ति में बेटों के बराबर हक। दूसरी तरफ मृतक आश्रित के रूप में बेटों को छोड़कर सिर्फ अविवाहित बेटियों को पिता की पेंशन में दिया जाता है हक, बेटे सिर्फ मारते रह जाते हैं झक! ऐसा बेटों के साथ भेदभाव क्यों? एक तरफ बेटा-बेटी की समानता की बातें बड़ी धड़ल्ले से होती हैं तो दूसरी तरफ समानता कब और कहाँ चली जाती है जब एकतरफा बेटी को मृतक आश्रित के रूप में पिता की पेंशन का हकदार माना जाता है। क्या ये बेटों के साथ भेदभावपूर्ण रवैया नहीं है? अगर इसी तरह बेटा-बेटी व स्त्री-पुरूष के नाम पर राजनीति करके कानून बनाये जाते रहेंगे तो इस समाज का बेड़ा बहुत जल्द ही गर्क हो जायेगा। बेटी को सिर्फ मृतक आश्रित के रूप में पिता की पेंशन का हकदार ही नहीं बल्कि  तलाकशुदा बेटी या विधवा बेटी को भी पिता की संपत्ति में कानूनन हकदार माना जाता है। भले ही बेटी पढ़ी-लिखी अपने पैरों पर खड़ी होने लायक हो। बेटों को तो सरकारी नीति व कानूनन 18 वर्ष की आयु पूरी करते ही पूर्णरूप से सक्षम मान लिया जाता है भले ही उसे अपनी पढ़ाई छोड़कर होटल पर बर्तन धुलने पड़ते हों। उन्हें किसी तरह का अनुदान क्यों नहीं द

समस्या और उसका समझदारी भरा समाधान

5 सितम्बर को प्रत्येक बालक के चरित्र निर्माण के संकल्प के साथ सारे देश में पूर्व राष्ट्रपति सर्वपल्ली डा. राधाकृष्णन का जन्म दिवस ‘शिक्षक दिवस’ के रूप में बड़े ही उल्लासपूर्ण एवं शैक्षिक वातावरण में मनाया जाता है। वह एक महान शिक्षक, विद्वान दार्शनिक तथा भारतीय संस्कृति के सर्वश्रेष्ठ व्याख्याकार थे। एक आदर्श शिक्षक के रूप में उनकी उपलब्धियों को कभी भुलाया नहीं जा सकता। एक शिक्षक के रूप में मैं अपने 61 वर्षों के शैक्षिक अनुभव को इस लेख के माध्यम से परम आदरणीय सर्वपल्ली डा. राधाकृष्णन जी को शत् शत् नमन करते हुए सभी देशवासियों से शिक्षक दिवस के महान अवसर पर साझा कर रहा हूँ।   हमारा मानना है कि शिक्षक ही एक सुन्दर, सुसभ्य एवं शांतिपूर्ण राष्ट्र व विश्व के निर्माता हैं। वे एक ओर जहां बच्चांे को विभिन्न विषयों का सर्वश्रेष्ठ ज्ञान देते हैं तो वहीं दूसरी ओर उनके चरित्र का निर्माण करके उनके भविष्य को सही आकार भी प्रदान करते हैं। हमारा मानना है कि शिक्षक एक वेतन भोगी कर्मचारी नहीं होता है। वह भावी पाढ़ी के उज्जवल भविष्य का निर्माता है। हमारी चैरिटेबल तथा शैक्षिक संस्था का उद्देश्य कभी भी व्यवसायि

शिक्षा का ध्येय संपूर्ण मानव बनाना है

सिटी मोन्टेसरी स्कूल, लखनऊ, द्वारा आज शिक्षक दिवस के पावन अवसर पर बड़े उत्साह व भव्यता के साथ आॅनलाइन ‘शिक्षक दिवस समारोह’ मनाया गया। समारोह में मुख्य अतिथि सुरेश कुमार खन्ना, वित्तमंत्री, उ.प्र., ने अपनी आॅनलाइन उपस्थिति से समारोह की गरिमा को बढ़ाया जबकि समारोह की अध्यक्षता अनिल मिश्रा, रजिस्ट्रार, फम्र्स, सोसाइटीज एवं चिट्स, उ.प्र., ने की। समारोह में सी.एम.एस. के सभी 18 कैम्पस की प्रधानाचार्याओं सहित सी.एम.एस. लगभग 3000 शिक्षकों व कार्यकर्ताओं ने आॅनलाइन जुड़कर समारोह की भव्यता में चार-चांद लगा दिये तथापि सी.एम.एस. संस्थापक व प्रख्यात शिक्षाविद् डा. जगदीश गाँधी व डा. (श्रीमती) भारती गाँधी, सी.एम.एस. प्रेसीडेन्ट प्रो. गीता गाँधी किंगडन एवं सी.एम.एस. के डायरेक्टर आॅफ स्टेट्रजी श्री रोशन गाँधी ने विद्यालय के सभी शिक्षकों के प्रति हार्दिक आभार व धन्यवाद ज्ञापित किया। इससे पहले, सी.एम.एस. के क्वालिटी अश्योरेन्स एवं इनोवेशन डिपार्टमेन्ट की हेड एवं सुपीरियर प्रिन्सिपल सुश्री सुस्मिता बासु ने मुख्य अतिथि समेत अन्य गणमान्य अतिथियों एवं शिक्षकों का हार्दिक स्वागत-अभिनन्दन किया।  इस अवसर पर अपने स

मंगल संतानहीनता का कारक ग्रह है

वैदिक ज्योतिष एवं प्राच्य विद्या शोध संस्थान अलीगंज, लखनऊ के तत्वाधान मे 134 वीं मासिक वर्चुअल सेमिनार का आयोजन वाराह वाणी ज्योतिष पत्रिका कार्यालय मे किया गया सेमिनार का विषय ज्योतिष में संतानहीनता के योग था जिसमे डा. डी.एस. परिहार के अलावा जज श्री लाल बहादुर उपाध्याय, पं. शिव शंकर त्रिवेदी, प. के.के. तिवारी, श्री उदयराज कनौजिया, डा. पी के निगम. अनिल कुमार बाजपेई एडवोकेट आचार्य राजेश श्रीवास्तव, प. एस.एस. मिश्र तथा प. आनंद त्रिवेदी इंजीनियर एस.पी. शर्मा आदि ज्योतिषियोें एवं श्रोताओं ने भाग लिया गोष्ठी मे डी एस परिहार, आचार्य राजेश श्रीवास्तव जज श्री लाल बहादुर उपाध्याय, श्री उदयराज कनौजिया, इंजीनियर एस.पी. शर्मा  तथा पं. आनंद त्रिवेदी ने अपने अनुभव और व्यक्तव्य प्रस्तुत किये। प. आनंद त्रिवेदी ने बताया कि पंचम भाव पर राहू या केतु का प्रभाव युति या दृष्टि संतानहीनता देगी नवांश मेे यदि पंचमेश राहू या केतु से संबधित हैं तो भी संतानहीनता देगा टाईम्स आफ एस्ट्रोलाॅजी के लखनऊ ब्यूरो चीफ श्री आचार्य दिनेश जी ने बताया कि पंचम भाव पर राहू केतु की युति या दृष्टि गर्भपात करायेगी लग्नस्थ राहू या क

हिन्दी भाषा के सम्मान मे विशेष आयोजन

राष्ट्रीय महिला रचनाकार मंच के तत्वावधान में हिन्दी पखवाड़े के अंतर्गत 2 सितम्बर से हिन्दी भाषा के सम्मान मे एक विशेष आयोजन का शुभारंभ  किया गया जो 14 सितंबर तक लगातार किसी न किसी हिन्दी साहित्य के पुरोधा कवि लेखकों पर आधारित रहेगा। यह आयोजन हिन्दी साहित्य की सुप्रसिद्ध कवयित्री सुभद्रा कुमारी चैहान पर आधारित रहा, जिसका संयोजन कवयित्री रचना सक्सेना ने किया और  अध्यक्षता वरिष्ठ अधिवक्ता एवं रंगकर्मी ऋतन्धरा मिश्रा जी ने की। बहराइच से रुचि मटरेजा एवं प्रयागराज की चेतना सिंह ने इस आयोजन मे संयुक्त संचालन द्वारा कार्यक्रम में चार चांद लगा दिये। इस अवसर पर देश-विदेश की अनेक कवयित्री बहनों ने अपनी सुंदर सुंदर रचनाओं की प्रस्तुतियां दी। इस अवसर पर प्रयागराज से संतोष मिश्रा ‘दामिनी’ सुभद्रा कुमारी चैहान की स्मृतियों में लिखती हैं.... जिनकी पंक्तियां वो भरी हुई संवेदनाओं से कलम की जादूगर... वहीं आरा बिहार से अनामिका अमिताभ गौरव कहती हैं.... झांसी की रानी लिख जिस ने रच डाला इतिहास वह थी हमारी सुभद्रा कुमारी चैहान, प्रयागराज से  मीरा सिन्हा जी कहती हैं.... क्यों करता है ईश्वर उमर देने में आनाकानी

आनलाइन टैलेन्ट प्रतियोगिता

सिटी मोन्टेसरी स्कूल, अलीगंज (द्वितीय कैम्पस), लखनऊ के कक्षा-6 के प्रतिभाशाली छात्र सात्विक श्रीवास्तव ने अन्तर-विद्यालयी टैलेन्ट प्रतियोगिता ‘टैलेन्ट लिटरेयर - बैटल आॅफ एक्सप्रेशंस’ में प्रथम पुरस्कार अर्जित कर विद्यालय का नाम गौरवान्वित किया है। यह प्रतियोगिता शैक्षिक-साहित्यिक संस्था ‘योग्यपीठ’ के तत्वावधान में आॅनलाइन आयोजित हुई, जिसमें सात्विक ने 11 से 14 वर्ष के अन्तर्गत ‘माई बिग पिक्चर’ प्रतियोगिता में अपनी बहुमुखी प्रतिभा के दम पर विद्यालय का नाम रोशन किया है। सी.एम.एस. के मुख्य जन-सम्पर्क अधिकारी श्री हरि ओम शर्मा ने बताया कि इस प्रतिष्ठित प्रतियोगिता में विभिन्न प्रतिष्ठित विद्यालयों के छात्रों ने प्रतिभाग किया तथापि कड़ी प्रतिस्पर्धा के बीच सी.एम.एस. अलीगंज (द्वितीय कैम्पस) के इस प्रतिभाशाली छात्र ने अपनी कलात्मक प्रतिभा व रचनात्मक सोच का शानदार प्रदर्शन कर प्रथम पुरस्कार पर कब्जा जमाया। प्रतियोगिता के आयोजकों ने सी.एम.एस. के इस मेधावी छात्र की बहुमुखी प्रतिभा की भूरि-भूरि प्रशंसा करते हुए प्रशस्ति पत्र प्रदान कर सम्मानित किया।  श्री शर्मा ने बताया कि सी.एम.एस. सदैव ही विभिन्

साई भक्तों की सच्ची कहानियां

मुंबई ओरिएंट ट्रेडलिंक लिमिटेड (ओटीएल) ने जी ग्रुप के साथ भारत के छोटे पर्दे के सबसे अधिक पसंद किए जाने वाले और देखे जाने वाले धारावाहिकों में से एक साईं बाबा पर बने धारावाहिक साई भक्तों की सच्ची कहानियां के लिए एक साथ समझौते पर हस्ताक्षर किए हैं। जिसके तहत इसका प्रसारण 30 अगस्त 2020 को शुरू हुआ है,जोकि जी अमेरिका में प्रत्येक रविवार को सुबह 8ः30 बजे और जी कनाडा में शाम 7ः30 बजे हो रहा है। यह पहली बार है कि किसी भी वास्तविक जीवन की घटनाओं और अनुभवों पर आधारित कोई भी सामग्री, जिसने कई लोगों के जीवन को बदल दिया है, एक विदेशी धरती पर दिखाया जा रहा है। इसके निर्माता आशिम खेत्रपाल है और निर्देशक अमोल सुर्वे है। साई भक्तों की सच्ची कहानियां ओरिएंट ट्रेडेलिंक लिमिटेड का सुपर हिट प्रोग्राम है। जिसे भारत में लगभग सभी प्रमुख चैनलो पर सबसे ज्यादा देखा जाने वाला कार्यक्रम है। साई भक्तों की सच्ची कहानियां, साईं भक्तों द्वारा भेजी गई सच्ची कहानियों पर आधारित है। ये कई साईं भक्तों द्वारा महसूस और अनुभव की जा रही घटनाएं हैं, जिसे धारावाहिक के रूप में दिखाया गया है। निर्माता श्री आशिम खेत्रपाल कहते है,