शिक्षा और व्यापार का ग्रह बुध

ज्योतिष में बुध गणित काॅमर्स, बैकिंग, बीमा, दस्तावेज, शिक्षा, विद्यालय, काॅलेज, पार्क बाजार, मार्केट शापिंग कॅाम्पलेक्स क्रय-विक्रय, मामा ससुर, छोटा भाई छोटी बहन गर्लफ्रेन्ड, ब्वाॅयफ्रेन्ड, प्रेमी प्रेमिका, सेल्समैन, सेल्सगर्ल, मुंशी-मुनीम, बाबू, बनिया, शिक्षक, मनोविज्ञान, अखबार, पत्रिका, पत्रकार, लेखक, युवा वर्ग, टी.वी., न्यूज चैनल, मास मीडिया, गायन, स्टेशनरी, काॅपी किताबें, बुक स्टाल, छोटे बच्चे, किशोर, विद्यार्थी बहस, त्वचा, सूंघना, माथा, त्रिदोष, बुद्धि, विचार, तर्क, दर्शनशास्त्र, डाक तार, कोरियर सर्विस, गांव, बाग, हरियाली बगीचे श्वसन तंत्र स्टेशनरी, संचार के कार्य, टेलीफोन, मोबाइल, चाचा, डाक-तार विभाग, कोरियर सर्विस, लेखन, सलाहकार, न्यूज रीडर, वित्त बैंक बैलेंस, वाणी वैश्य कायस्थ, पैदल सैनिक भाषाविद, लेखन कार्य, बड़ा मकान, खुली जमीन, प्लाॅट, स्टूडैंट लाईफ, किशोरावस्था, हाईस्कूल तक शिक्षा, ज्योतिष, देवमंदिर, वाणिज्य, मृदु वचन, उत्तराभिमुखी, विद्वान महान तांत्रिक, तंत्र-मंत्र, तावीज, कौड़ी, मौसा, मौसी व्याकरण ज्ञाता, वैष्णव, शूद्र, पक्षी, वोटर कार्ड, आधार कार्ड, पेन कार्ड, बैंक पास बुक, मोबाइल, पहचान पत्र, तोता, धूल, ग्रामवासी, नाभि, मन पर नियंत्रण, हास्य, मजाकिया, नाना, बुरे सपने, गीली वस्तुयें, कांसा, वैराग्य, गला, थायरायड, खेलकूद, हेमंत ऋतु नृत्य, वक्ता, शिशु तिरछी दृष्टि मिश्रित वस्तुयें वित्त, टैक्स, एटीम, उत्तर दिशा हरा रंग, खुली पड़ोसी, विकास, प्लानिंग, कम्पटीशन, एग्जामिनेशन टेस्ट का कारक ग्रह हैा बुध कन्या मे उच्च का व मीन मे नीच का होता है। मिथुन व कन्या स्व राशियां है। शनि, राहू, शुक्र बुध के मित्र व मंगल, केतु व चन्द्र शत्रु ग्रह हैं। सूर्य व गुरू सम ग्रह हैं।
बुध के कुछ अशुभफल और उनके समाधान
1. बुध केतु युति मे जातक के रोग रहस्यमय रोग होंगे जो आसानी से पकड़ मे नही आयंे। बुध केतु सें पापग्रस्त हो तो मानसिक रोग व नर्वसनैस दे तथा जातक विकृत दिमाग का हो। कनिष्ठा मे बुधवार को पन्ना धारण करे भीगी मूंग की दाल पक्षियों का दें। और विष्णु सहस्त्रनाम का पाठ करें।
2. मकान के पास नाला कोई खंडहर या वीरान जगह या जंगल या दुर्गम मैदान शमशान कब्रिस्तान या कोई मुस्लिम भवन मस्जिद या मजार हो तो जातक के पास अति पुरानी पुश्तैनी जमीन या जायदाद होगी तो कई लंबी झगड़ों या समस्याओं से ग्रस्त होगी ऐसी दशा मे जातक का बुध, राहू व मंगल से पीड़ित होगा जातक बुधवार का व्रत करें तथा भू सूक्त तथा दुर्गा जी का हवन करवायें।
3. शिक्षा मे बाधा हो तो नील स्वरसती की पूजा करें। मकान जमीन का मुकदमा हो तो हनमुान जी या बगुलामुखी देवी की पूजा करें।
4.अति तनाव या मानसिक रोग, अनिद्रा, हो तो गजेन्द्र मोक्ष का पाठ करे।
5. कान, त्वचा के रोग, आग से जले हाथ मे फैक्चर हो तो कनिष्ठा मे बुधवार को पन्ना धारण करे।
6. मकान के बगल मे खंभा लंबा पतला पेड़, टावर या कोई केबिल पड़ा हो मकान मे वास्तु दोष होगा तो गाय को नित्य हरा चारा खिलायें।
7. 5 साल से कम उम्र का बच्चा किसी कठिन रोग से पीड़ित हो तो बुघ ग्रह का जप हवन करवायें।
9. व्यापार मे निरन्तर घाटा हो तो चैकी पर हरा आसन बिछा कर लक्ष्मी कुबेर का पूजन बुधवार को करंे।
10. प्रेमिका या पत्नी नाराज होकर अलग हो जाये तो दिल के आकार का फिरोजा बुधवार को धारण करंे।