किसानों की आय का दुगना करने का लक्ष्य

मुख्य विकास अधिकारी, रायबरेली राकेश कुमार ने मंगलम लान, फिरोज गांधी में सबमिशन आॅन एग्रीकल्चर एक्सटेंशन एवं टेक्नालाॅजी के योजनान्तर्गत किसान सम्मान दिवस/किसान मेला का आयोजन का शुभारम्भ देश के पूर्व प्रधानमंत्री चैधरी चरण सिंह के चित्र पर माल्यापर्ण कर श्रद्धासुमन अर्पित करते हुए व दीप प्रज्ज्वलित करके किया। उप कृषि निर्देश एच0एन0 सिंह ने मुख्य विकास अधिकारी को कृषि विभाग आदि सहित विभिन्न विभागों के स्टाल का अवलोकन भी कराया। मुख्य विकास अधिकारी ने कार्यक्रम को सम्बोधित करते हुए कहा कि कृषकों को जैविक खेती से संबंधित अत्याधुनिक कृषि तकनीकी ज्ञान की जानकारी देने के साथ ही किसानों को कृषि उत्पादकता बढ़ाने पर भी जोर देते हुए कहा कि 2022 में किसानों की आय को दुगना करने का लक्ष्य है। यह तभी सम्भव है जब किसान आधुनिक कृषि को बढ़ाकर कृषि उपज बढाये। विचार विमर्श तथा उन्नत कृषि तकनीकी से अवगत कराया एवं कृषकोें की समस्याओं के निराकरण का प्रयास किया जाये। साथ ही किसान मेला में जनपद की आवश्यकतानुसार रणनीति बनाकर उत्पादन बढ़ाने हेतु कृषकों को प्रेरित किया जाये, ताकि शासन द्वारा निर्धारित रबी फसलांे की उत्पादकता प्राप्त की जा सके। रबी योजना सम्बन्धी तैयारियों के बारे में बताया गया कि रबी का आच्छादन उत्पादन का लक्ष्य के सम्बन्ध में वैज्ञानिकों ने किसानों को जैविक विधि से खेती करने से उत्पाद बढ़ाया जा सकता है विषय पर चर्चा करते हुए विशेषज्ञों ने कहा कि जीरो बजट से जैविक विधि द्वारा खेती करने से सम्भव होगा। जनपद में उत्तम किस्म के बीज व खादों की कोई कमी नही है। 
मुख्य विकास अधिकारी राकेश कुमार ने किसानों से कहा कि कृषि विकास सम्बन्धी जानकारियों को भली-भांति जानकर कृषि विकास में योगदान दें। उन्होंने ने कहा कि कृषकों को फसलों से सम्बन्धित कृषि वैज्ञानिक/अधिकारियों द्वारा नवीन तकनीकी जानकारी उपलब्ध कराये तथा उनकी कृषि सम्बन्धी समस्याओं का निराकरण भी किया जाये। केन्द्र सरकार किसानों की 2022 मंे दोगुनी आय करने का लक्ष्य है यह तभी संभव होगा जब किसान भी अपने मनमस्ष्तिक में कृषि के प्रति पूरी लगन से कृषि करें। किसानों को चना, मटर, जौ, मसूर, अलसी, सरसों आदि फसलों की अच्छी उत्पादकता के बारे में विस्तार से जानकारी दी गयी। मुख्य विकास अधिकारी ने किसान प्रर्दशनी का भी स्टालों पर जाकर अवलोकन किया तथा किसानों को प्रोत्साहित भी किया। इसे पूर्व उप निदेशक कृषि एच0एन0 सिंह ने भारत के पांचवें प्रधानमंत्री स्व. चैधरी चरण सिंह के जीवन पर प्रकाश डालते कहा कि उन्होंने जीवन प्रयाग किसानों के लिए संघर्ष किया इस लिए उन्हें किसान मसीहा के रूप में उनके जन्म दिवस 23 दिसम्बर को किसान दिवस के रूप में मनाया जाता है। स्व0 चैधरी चरण सिंह ने देश की सेवा करते हुए 29 मई 1987 को अन्तिम सांस ली। इस मौके पर मुख्य विकास अधिकारी द्वारा राम रतन, अजय कुमार, शिव बहादुर सिंह, राम प्रकाश, आनन्द मिश्रा, विजय बहादुर, सुमन मिश्रा, भगवत किशोर आदि दजर्नो किसानों को प्रशस्ति पत्र देकर सम्मानित किया गया। जिसमें प्रथम पुरस्कृत किये जाने वाले किसान को रूपये 7000, द्वितीय स्थान प्राप्त करने वाले किसानो को रूपये 5000 तथा तृतीय स्थान प्राप्त करने वालो को 2000 रूपये उनके खातें में आॅनलाइन के माध्यम से भेजा गया। 
इस अवसर पर विशेषज्ञ, उप कृषि निदेशक एच0एन0 सिंह, जिला कृषि अधिकारी, उद्यान, सिचाई, पशु चिकित्साधिकारी आदि विभागों के अधिकारियों ने किसानों को विस्तार से जानकारी दी। कृषि विशेषज्ञों सहित अन्य विभागों के अधिकारी व किसान बडी संख्या में किसानों ने भी अपने विचार साझा किये। दौरान जिला कृषि अधिकारी रविचन्द्र प्रकाश, जिला उद्यान अधिकारी, अधिशाषी अभियंता सिंचाई, विद्युत विभाग, मछली पालन आदि विभागों के अधिकारीगण व किसानगण उपस्थित रहे।