मानवाधिकार हमारा सबसे बड़ा अधिकार है

विश्व मानवाधिकार दिवस के अवसर पर जिला विधिक सेवा प्राधिकरण रायबरेली के तत्वाधान में दयानन्द पी0जी0 कालेज बछरावाँ, रायबरेली में स्कूली छात्र-छात्राओं एवं ग्राम वासियों के लिए उनके मानवाधिकार एवं विधिक अधिकारों हेतु जागरुकता शिविर का आयोजन किया गया। शिविर का शुभारम्भ सचिव जिला विधिक सेवा प्राधिकरण श्रीमती पूजा गुप्ता द्वारा देवी सरस्वती की प्रतिमा पर माल्यार्पण एवं दीप प्रज्जवलन करके किया गया। इस अवसर पर कालेज के प्राचार्य श्री सुभाष श्रीवास्तव द्वारा मानवाधिकार दिवस के महत्ता के विषय में उपस्थित लोगों बताया गया। प्राचार्य द्वारा उक्त लाइन के माध्यम से अब तो मजहब भी कोई ऐसा बनाया जाय जिसमें इंसान को इंसान बनाया जाय  मानवाधिकार के सम्बन्ध में बताया गया। सचिव महोदया द्वारा उपस्थित लोगों को उनके विधिक अधिकारों एवं उनके मानवाधिकारों के विषय पर विस्तार से बताया गया। कहा गया कि मानवाधिकार वह अधिकार है जो हमें जन्म लेने के साथ ही प्राप्त होते है। बताया गया कि मानवाधिकार हमारा सबसे बड़ा अधिकार है मानवाधिकार की उपयोगिता के सन्दर्भ में बताया गया मानवाधिकार में सभी प्रकार के अधिकार राजनैतिक, आर्थिक, सामाजिक, सांस्कृतिक, खाद्यान्न वितरण से सम्बन्धित अनेक अधिकारों के सम्बन्ध में बताया गया। मानवाधिकार की गांरटी देना सरकार की प्राथमिकता है। इस अवसर पर इसके बाद वरिष्ठ अधिवक्ता श्री लक्ष्मी शंकर बाजपेयी के द्वारा कानून के बारे मे जानकारी दी गई। इस अवसर पर प्रचार-प्रसार सामग्री का वितरण किया गया। शिविर का संचालन पीएलवी श्री ब्रजपाल द्वारा किया गया। उक्त अवसर पर नायाब तहसीलदार महराजगंज अधिवक्ता श्री जितेंद्र बहादुर यादव, शंशाक श्रीवास्तव तथा पीएलवी दुष्यंत, जालिपा प्रसाद, तथा नगर पंचायत के अन्य गणमान्य सदस्य,  ग्रामीण एवं कालेज के छात्र-छात्राएं उपस्थित आये।