धारा 188 के अंतर्गत कार्रवाई की जाएगी

झांसी। जनपद में जन सुविधा केंद्रों को लॉक डाउन से मुक्त कर दिया गया है। अतः किसान गेहूं क्रय केंद्रों पर भीड़ ना लगाएं और सीएससी में अपना पंजीकरण कराते हुए ऑनलाइन टोकन प्राप्त करें। पंजीकरण के समय सीएससी पर सोशल डिस्टेंसी का कड़ाई से पालन किया जाए और यदि ऐसा नहीं किया जाता है तो केंद्र बंद करते हुए धारा 188 के अंतर्गत कार्यवाही की जाएगी। यह निर्देश जिलाधिकारी  आन्द्रा वामसी ने विकास भवन सभागार में आयोजित गेहूं खरीद संबंधित बैठक में दिए। उन्होंने कहा कि किसानों का उत्पीड़न ना हो और उनका समय से पंजीकरण हो सके, इसीलिए जनपद के समस्त सीएससी को शर्तों के साथ खोला गया है।
जिलाधिकारी आन्द्रा वामसी ने कहा कि जनपद के सभी जन सुविधा केंद्रों को किसानों के गेहूं खरीद पंजीकरण हेतु खोला गया है। जिनके द्वारा जनपद में किसानों के गेहूं खरीद के लिए ऑनलाइन पंजीकरण किए जाएंगे, यदि जन सुविधा केंद्रों पर किसी भी प्रकार की गड़बड़ी पाई जाती है तो सख्त कार्रवाई की जाएगी। उन्होंने कहा कि सीएचसी पर कार्मिक एवं पंजीकरण हेतु उपस्थित कृषकों के बीच 1 मीटर की दूरी सुनिश्चित कराई जाए तथा चूना घेरा बनाकर स्थान निश्चित किया जाए। यदि कृषक के बैठने की सुविधा है तो वह भी निश्चित दूरी पर बैठना सुनिश्चित हो।
जिलाधिकारी ने कहा कि जन सुविधा केंद्र पंजीकरण हेतु कृषकों की भीड़ ना हो व सोशल डिस्टेंसी का पालन करते हुए पंजीकरण की कार्यवाही कराएं। उन्होंने कहा कि प्रत्येक जन सुविधा केंद्र पर सैनिटाइजर, मास्क, ग्लब्स का प्रयोग अनिवार्य रूप से कराया जाए। यदि मास्क नहीं है तो गमछा या तौलिया से मुंह बांधकर रखा जाए। समस्त केंद्रों पर साबुन, पानी इत्यादि की व्यवस्था भी अवश्य उपलब्ध हो। जिलाधिकारी आन्द्रा वामसी ने कहा जन सुविधा केंद्र पर सोशल डिस्टेंसिंग का पालन न किए जाने पर की स्थिति में जन सुविधा केंद्र बंद करते हुए धारा 188 के अंतर्गत कार्रवाई की जाएगी। 
गेहूं खरीद समीक्षा के दौरान जिलाधिकारी ने कहा कि किसान अपने मोबाइल से पंजीकरण करना चाहता है तो खाद एवं रसद विभाग की के माध्यम से अपना पंजीकरण स्वयं कर सकते हैं। उन्होंने अन्नदाताओं से अपील करते हुए कहा कि सोशल डिस्टेंसिंग का पालन अनिवार्य रूप से करें एवं टोकन प्राप्त कर ही क्रय केंद्र पर अपना गेहूं विक्रय हेतु लाएं। ऐसा करने से अनावश्यक परेशानियों से बचा जा सकेगा। इस मौके पर मुख्य विकास अधिकारी निखिल टीकाराम फुंडे, नगर आयुक्त मनोज कुमार सिंह, एडीएम राम अक्षयवर चैहान, बी प्रसाद, एसपी देहात राहुल मिठास, आर एम अनूप कुमार सिंह सहित अन्य अधिकारी व केंद्र प्रभारी उपस्थित रहे।