किताबों की होम डिलीवरी किए जाने के निर्देश दिए

झांसी। पाठक पुस्तकों की होगी होम डिलीवरी, अभिभावक ना हो परेशान। कोविड-19 के कारण लॉकडाउन का सख्ती से हो रहा पालन। पुस्तक विक्रेताओं की दुकान भी रहेगी बंद। यह बात जिलाधिकारी  आन्द्रा वामसी ने विकास भवन सभागार में झांसी पुस्तक स्टेशनरी एवं कागज विक्रेता संघ झांसी के पदाधिकारियों के साथ वार्ता के दौरान कही। उन्होंने कहा कि दुकान है किसी भी दशा में नहीं खुलेगी। विकास भवन सभागार में जिलाधिकारी  आन्द्रा वामसी ने कहा कि संपूर्ण भारत में लॉकडाउन चल रहा है खाद्य पदार्थ और मेडिकल के अलावा अन्य दुकानें बंद रहेंगी। ऐसे में छात्र-छात्राओं की पढ़ाई की डिस्टर्ब ना हो। इस बात को ध्यान में रखते हुए उन्होंने जनपद के बुक्सेलर से वार्ता की और किताबों की होम डिलीवरी किए जाने के निर्देश दिए।
बैठक में जिलाधिकारी ने कहा कि जो व्यापारी किताबों की होम डिलीवरी करना चाहते हैं वह सभी अपने हाॅकर के नाम, पता, मोबाइल नंबर उपलब्ध कराएं। उन्होंने कहा कि होम डिलीवरी में प्रॉपर सोशल स्टडी का पालन करते हुए होम डिलीवरी जाना सुनिश्चित हो। जो भी किताबों का वितरण करेंगे बकायदा उनके पास जारी किए जाएंगे। झांसी पुस्तक स्टेशनरी एवं कागज विक्रेता संघ से बात करते हुए जिलाधिकारी ने उपस्थित पदाधिकारियों से अपील करते हुए कहा कि आप सभी लोग आरोग्य सेतु ऐप एंड्राइड फोन पर डाउनलोड करें और लोगों को भी प्रेरित करें। उन्होंने कहा कि इस एप से कोरोना वायरस की स्वयं जानकारी प्राप्त होगी। साथ ही यदि कोई संदिग्ध आप के आस पास है तो उसकी जानकारी भी आपको ऐप माध्यम से प्राप्त हो जाएगी। इस मौके पर एडीएम बी प्रसाद, उत्तर प्रदेश व्यापार मंडल अध्यक्ष संजय पटवारी, संघ अध्यक्ष महेंद्र दीवान, कोषाध्यक्ष मुकेश पुरु स्वामी, सुरेंद्र अग्रवाल, नितिन चंगानी, गोपाल गुप्ता, संतोष साहू सहित अन्य पदाधिकारी उपस्थित रहे।