लाॅकडाउन का मतलब टोटल लाॅकडाउन

कोविड-19 के अन्तर्गत नगर क्षेत्र में मोहल्ला खालिसाहट को हाॅट-स्पाट के रूप में चिन्हित किया गया है। इस क्षेत्र का पूर्णरूप से लाॅकडाउन के अन्तर्गत सील कर दिया गया है। साथ ही पूरा जनपद लाॅकडाउन है। हाॅट-स्पाट क्षेत्र में लाॅकडाउन का प्रभावी अनुपालन व सोशल डिस्टेसंग का अनुपालन करने के प्रति जागरूक करने हेतु पुलिस एवं प्रशासन के वाहनों की अतिरिक्त ध्वनि विस्तारक यंत्रो से युक्त अन्य 9 वाहनों की व्यवस्था की गयी है। इन वाहनों से आमजनमानस में कोविड-19 महामारी के बचाव हेतु प्रचार-प्रसार कराया जा रहा है तथा आमजनमानस को अपने स्मार्ट फोन में आरोग्य सेतु एप डाउन लोड करने हेतु प्रेरित किया जा रहा है। इस दौरान आमजन मानस को किसी कठनाई का सामना न करना पड़े आवश्यक वस्तुओं एवं खाद्य वितरण प्रणाली के अन्तर्गत निःशुल्क खाद्य सामग्री को डोर-टू-डोर सप्लाई की व्यवस्था की गई है। दुग्ध आपूर्ति हेतु 10 वाहन, राशन हेतु 6 वाहन फल एवं सब्जी हेतु 25 ई-रिक्श/ठेलों की व्यवस्था की गई है तथा आम जनमानस के लिए डोर-टू-डोर एटीएम मोबाइल वैन तथा पोस्ट आफिस (एईपीएस) के माध्यम से भी धन निकासी की व्यवस्था कराई गयी है। 
 जिलाधिकारी, रायबरेली शुभ्रा सक्सेना व पुलिस अधीक्षक स्वप्निल ममगई ने जानकारी देते हुए बताया है कि लाॅकडाउन का मतलब टोटल लाॅकडाउन है। जिसका शत-प्रतिशत पालन सुनिश्चित किया जाना सुनिश्चित करें। लाॅकडाउन का उल्लघंन अथवा दुरूपयोग करने वालों के विरूद्ध कड़ी कार्यवाही की जाये। समस्त गतिविधियों में प्रत्येक दशा में सोशल डिस्टन्सिंग का पालन किया जाना जरूरी है। उन्होंने कहा कि लाॅकडाउन के अवधि में आवश्यक सामग्री की सुचारू आपूर्ति बाधित नही होनी चाहिए। किसी को भी सप्लाई चैन व्यवस्था के दुरूपयोग करने की अनुमति नही है। जनपद में पूर्व से कोरोना पाजिटिव के इमिडिएट कन्टेक्ट सम्बन्धी व्यक्ति, जो कृपालु जी हास्टिपल एण्ड रिसर्च सेंटर मुंशीगज में कोरेन्टाइन है, जिनका कोरोना टेस पुनः कराया गया तो इनमें 21 अप्रैल 33 व 22 अप्रैल को 8 कुल 41 व्यक्ति कोरोना पाजिटिव पाये गये है, जिनकी शिफ्टिंग तथा अग्रिम चिकित्सा की कार्यवाही की जा चुकी है। इनके इमिजिएट कान्टेक्ट एवं हाॅट-स्पाट चिन्हांकन की कार्यवाही प्रचलित है।  जनपद में अब तक कुल 414 व्यक्तियों के सैम्पल की कोरोना जांच करायी गयी, जिसमें से 35 व्यक्तियों की रिपोर्ट आनी शेष है। 
 डीएम-एसपी ने गत दिवस बताया कि हाॅट-स्पाट क्षेत्र में अब तक कोरोना पाजिटिव पाये गये व्यक्तियों के प्रथम एवं द्वितीय सम्पर्क में आने वाले कुल 387 व्यक्तियों को कोरेन्टाइन किया गया है। सम्पूर्ण हाॅट-स्पाट क्षेत्र खालीसहाट में सेनेटाइजर का छिड़काव, नगर पालिका की टीम द्वारा निरन्तर साफ-सफाई के साथ ही स्वास्थ्य विभाग की टीमों तथा पुलिस विभाग की रैपिड ऐक्शन टीमों द्वारा डोर-टू-डोर जांच कर आवश्यक कार्यवाही करने के साथ ही दिशा-निर्देश दिये जा रहे हैं तथा आवश्यकतानुसार कार्यवाही की जा रही है।   
 हाॅट-स्पाट क्षेत्र में लाॅकडाउन का उल्लघंन करने वाले व्यक्तियों के विरूद्ध नियामानुसार दण्डात्मक कार्यवाही करने के साथ ही 101 वाहनों का चालान, 25 वाहनों को जब्त करने के साथ ही 188 भादवि के अन्तर्गत 2 एफआईआर भी दर्ज की गई है। जनपद में जनसामान्य को आवश्यक वस्तुओं की आपूर्ति निर्बाध रूप से कराने हेतु गठित प्रवर्तन टीमों द्वारा जांच व निरीक्षण के दौरान अनियमितता पाये जाने पर आवश्यक वस्तु अधिनियम के अन्तर्गत उचित दर विक्रेता, 16 व्यक्तियों के विरूद्ध 15 अभियोग दर्ज कराये गये है। साथ ही लाॅकडाउन नियमों का उल्लघंन करने वाले व्यक्तियों के विरूद्ध जनपद में अबतक कुल 109 अभियोग दर्ज किये गये है, 2210 वाहनों का चालान किया गया है, 310 वाहन सीज़ किये गये एवं 2,94,800 शमन शुल्क की वसूली की गई है।
 डीएम-एसपी ने बताया है कि लाॅकडाउन के दौरान जनमानस की सुचनाओं/शिकायतों को गम्भीरता से लिया जा रहा है साथ ही उनका निवारण एवं निस्तारण करने के साथ ही आवश्यक वस्तुओं को अमाजन.मानस तक पहुचाने हेतु की गई व्यवस्था के पर्यवेक्षण हेतु हाॅट-स्पाट क्षेत्र में मजिस्टेªट एव पुलिस अधिकारी नियुक्त किये गये है। जो कि नियमित भ्रमणशील रहकर जन सुविधाओं की आपूर्ति एवं लाकडाउन की स्थिति पर निरन्तर सतर्क दृष्टि रखी जा रही है। डीएम-एसपी ने कहा है कि कोरोना योद्धा विशेष कर स्वास्थ्य कर्मचारियों पर किसी भी प्रकार का दुव्यवहार किसी भी कीमत पर बर्दाश्त नही किया जायेगा। उन्होंने कड़े निर्देश दिये सीडीओ, एडीएम ई व एफआर व समस्त एसडीएम कोरोना योद्धा विशेष कर स्वास्थ्य कर्मी, सफाई कर्मचारियों, पुलिस कर्मी आदि जो कोरोना वायरस के संक्रमण को रोकने के लिए जी जान से लगे हुए है। उन पर विशेष ध्यान दिया जाये। इसके अलावा लाॅकडाउन का पालन व लोगों को घरों में रहने की हिदायत देते रहे।