अजित पुष्कल मृदुभाषी और साधारण व्यक्तित्व के धनी हैं

सस्वत सामाजिक साहित्यिक सांस्कृतिक संस्था द्वारा आयोजित ऑनलाइन रंग संवाद में सुप्रसिद्ध नाटककार कवि साहित्यकार उत्तर प्रदेश संगीत नाटक अकैडमी से सम्मानित श्री अजीत पुष्कल जी के जन्म दिवस पर विशेष चर्चा उनके नाटकों के बारे में प्रयागराज के रंग कर्मियों के बीच हुई जिसमें वरिष्ठ रंगकर्मी अजय मुखर्जी ने कहा कि अजित पुष्कल मृदुभाषी और साधारण व्यक्तित्व के धनी हैं सर के नाटकों एवं कविताओं में भी उनका देश की मिट्टी से जुड़ा हो दिखाई देता है आधारशिला के सचिव श्री अजय केसरी ने कहा की पुष्कल सर ने नाटकों में एक अनंत गहराई छुपी हुई है रंग निर्देशिका सुषमा शर्मा ने कहा कि भारतेंदु चरित्र उनके नाटकों पर काम करते समय मैंने विषय की दृष्टि से लोक नाटकों की रोचकता उनके हर नाटकों में देखने को मिलती है वरिष्ठ रंगकर्मी मीना उराव ने कहा कि पुष्कल सर ने अच्छी-अच्छी ज्ञानवर्धक किताबें लिखी है और समाज की परिस्थितियों से वाकिफ कराया है वरिष्ठ रंगकर्मी ऋतंधरा मिश्रा ने अजित पुष्कल की नाटकों में अभिनय किया है तथा अपने संस्था से कथा शकार नाटक का निर्देशन भी किया है जो दर्शकों द्वारा काफी सराही गई और अंत में अजीत पुष्कर संडे कहा कि जिन्होंने मेरे नाटकों का निर्देशन किया और अभिनय किया और उसमें जो अनुभव सामने रखा जिससे किसी भी नाट्य लेख को मंच पर जीवित बनाता है कार्यक्रम का संचालन शासन संस्था की महासचिव ऋतंधरा मिश्रा ने किया।