जागरूकता से लाॅकडाउन का पालन किया जा रहा है: जिलाधिकारी

जिलाधिकारी, रायबरेली शुभ्रा सक्सेना ने बचत भवन के सभागार, रायबरेली में अधिकारियों को निर्देश दिये कि जनपद में परस्पर जागरूकता से लाॅकडाउन का पालन किया जा रहा है। इसे आमजनमानस को अधिक से अधिक जागरूक करते हुए सोशल डिस्टेसिंग, घरों में रहना है सुरक्षित रहना है का अनुपालन कड़ाई से कराये। नोवेल कोविड-19 कोरोना वायरस के संक्रमण को रोकने व बाचव के लिए सरकार के निर्देशों के साथ ही स्वास्थ्य प्रोटोकाल के अनुरूप युद्ध स्तर पर कार्य किया जाये, लाॅकडाउन व सोशल डिस्टेसिंग का मुख्य उद्देश्य कोरोना वायरस की चैन को तोड़ना है साथ ही जनपद, प्रदेश, देश में कोरोना पाजिटिव में कमी लाना है। कोरोना को सोशल डिस्टेसिंग व घरों में रहना व मास्क आदि लगाने, बार-बार हाथ धोने, साफ-सफाई रखना है एवं किसी भी स्थान पर थुकना नही थूकना आदि से कोरोना वायरस महामारी में कमी लाई जा सकती है। 
 जिलाधिकारी ने कहा कि जो उत्तर प्रदेश से अन्य राज्य में जाने व अन्य प्रदेश से उत्तर प्रदेश में आने के लिए उत्तर प्रदेश की जनसुनवाई-समाधान पोर्टल शासन की वेबसाइड पर प्रवासी पंजीकरण करा सकते है। प्रवासी श्रमिकों-कामगार मजदूरों के घर वापसी आने का सिलसिला जारी होने के क्रम में कोरोना संक्रमण को देखते हुए प्रदेश सरकार ने कई टेªनों के माध्यम से प्रवासी श्रमिको-कामगार मजदूरों को वापस लाने का प्रशासनीय व सराहनीय कार्य किया जा रहा है। सभी श्रमिक कामगार रायबरेली पहुच कर अपने-अपने गन्तब्यों को सकुशल पहुचाने का कार्य किया जा रहा है। जिला प्रशासन पूरी तरह से सक्रिय रहा गैर प्रान्तों से आने वाले श्रमिको को लेकर पुलिस विभाग, स्वास्थ्य विभाग द्वारा महत्वपूर्ण भूमिका समाजिक दूरी बनाते हुए कार्य करें। सभी आये श्रमिकों का कोरोना योद्धा चिकित्सक व उनकी टीम द्वारा थर्मल स्कैनिंग कर आदि स्वास्थ्य परीक्षण नियमानुसार किया जाये। रेलवे स्टेशन पर ट्रेन पहुचने से पहले पूरे रेलवे स्टेशन परिसर रोडवेज बसो, राकने वाले स्थानों को आदि को पूरी तरह सेनेटाइज किया जाये। कामगार श्रमिकों व उनके परिवार का बारी-बारी से थर्मल स्कैनिंग की जाये उसके बाद बसो पर भेजा जाये। परिवहन विभाग अधिक बसो की व्यवस्था के साथ ही श्रमिकों के खाने-पीने की भी सुदृढ व्यवस्था रखी जाये। स्टेशन परिसर के बाहर पुलिस कर्मी कामगार मजदूरों को उनके जिले में जानेवाली बसों व उनके गन्तब्य तक की जानकारी भी दी जाये। 
 जिलाधिकारी ने अधिकारियों से कहा कि कोई भी सूचना दी जाये तो पूरी तरह से सही और सत्य हो गलत रिपोर्टिंग न की जाये। उन्होंने सीएमओं व एडीएम एफआर को निर्देश दिये कि नसीराबाद अस्पताल एमओआईसी अधिकाश बाहर रहते हैं इन पर कड़ी कार्यवाही करें। किसी भी प्रकार का कोरोना सैम्पल प्राईवेटफर्मो के लोगों का न कर सरकारी धन का अपव्यय न किया जाये। इसके अलावा अस्थापना व मैनपाॅवर को भी बढ़ाया जाये। उन्होंने कहा कि सेक्टर अधिकारी, बीडीओ, एसडीएम अपने-अपने क्षेत्रों की निगरानी समितियों को सक्रिय कर उनसे सूचना प्रतिदिन लेकर कमी को दूर की जाये। इस मौके पर मुख्य विकास अधिकारी अभिषेक गोयल, एडीएम ई राम अभिलाष, एडीएम एफआर प्रेम प्रकाश उपाध्याय, एडी सूचना प्रमोद कुमार आदि अधिकारी उपस्थित थे।