जिलाधिकारी ने कहा पीड़ित व्यक्ति आश्रय स्थल में खाने के लिए इधर-उधर न भटकें

जनपद में सभी जनपदों के प्रवासी श्रमिक व कामगार मजूदरों व उनके परिवारों का ट्रेनों से आने का सिल.िसला जारी है। जिलाधिकारी, रायबरेली शुभ्रा सक्सेना ने प्रवासियों श्रमिकों के जनपद में निरन्तर आगमन को लेकर रेलवे स्टेशन का निरीक्षण किया। जिलाधिकारी व पुलिस अधीक्षक स्वपिल ममगाई ने रेलवे स्टेशन पर सभी व्यवस्थाओं व सुरक्षा का जायजा लिया तथा निर्देश दिये कि आने वाली श्रमिक एक्सप्रेस टेªन में यात्रियों को नियामानुसार उतारा जाये तथा उसका पूरी तरह से थर्मलस्कैनिंग, स्वास्थ्य परीक्षण व खान-पान की उचित व्यवस्था, सोशल डिस्टन्सिंग का पालन करते हुए किया जाये। उन्होने नगर मजिस्टेªट व अपर जिलाधिकारी प्रशासन को निर्देश दिये कि आने वाले श्रमिकों को किसी भी प्रकार की दिक्कतें न हो छोटे बच्चें व वृद्धों म.िहलाओं पर विशेष ध्यान दिया जाये। 
 जिलाधिकारी ने कोविड-19 कोरोना वायरस के संक्रमण की रोकथाम व बचाव के लिए दूर दराज क्षेत्रों के क्वारंटाइन सेन्टर व कम्युनिटी किचन, शेल्टर होम आदि का निरीक्षण किया तथा सम्बन्धित अधिकारियों को उचित दिशा निर्देश दिये। जिलाधिकारी ने डलमऊ के मुराई बाग स्थित न्यू आदर्श शिक्षा निकेतन इण्टर कालेज में बनाये गये शेल्टर होम व सामुदायिक रसोई घर का औचक निरीक्षण किया। निरीक्षण के दौरान सामुदायिक रसोई में बनाये जा रहे खाने की गुणवत्ता को परखा। जिलाधिकारी ने पूछा कि आज क्या बनाया जा रहा है। रसोई घर में मौजूद भगोनो की साफ-सफाई, मसाले, तेल, सब्जी आदि की गहनता की जांच पड़ताल भी की। कर्मचारियों व उपस्थित लोगों को दिये जा रहे भोजन की गुणवत्ता व स्वाद के बारे में पूछा। उन्होंने कर्मचारियों को खाना बनाने वालों को निर्देश दिये कि मास्क, हेड टोपी, सेनेटाइजर, साबून आदि का प्रयोग करके साफ-सफाई इत्यादि की व्यवस्थाओं पर विशेष ध्यान देकर भोजन लोगों में वितरित करें। इसके अलावा भोजन देते व खिलाते समय सोशल डिस्टेन्सिंग पर विशेष ध्यान दिया जाये क्योकि सोशल डिस्टेन्सिंग व साफ-सफाई से ही कोविड-19 कोरोना वायरस की चेन को खत्म किया जा सकता है। इसके अलावा अच्छे गुणवत्ता वाले खाने से शरीर की इम्यिुनिटी भी बढ़ेगी तो कोरोना से दूर रहेगा। उन्होंने आश्रय स्थल पर भी निरीक्षण किया। निरीक्षण के दौरान उन्होंने सोशल डिस्टन्सिंग व लाॅकडाउन का पालन करने पर विशेष ध्यान दिया जाये और कहा कि कोई भी पीड़ित व्यक्ति आश्रय स्थल में खाने के लिए इधर-उधर न भटकें उसको शासन द्वारा मुहैया कराई जा रही सभी व्यवस्थाओं व मूल-भूत सुविधाओं से आच्छादित रखे। निरीक्षण के दौरान साफ-सफाई व खान-पान की गुणवत्ता पर विशेष ध्यान दिया जाने के साथ ही अन्य सम्ब.न्धित अधिकारी को उचित दिशा निर्देश भी दिये।