सीधे मुख्य सामग्री पर जाएं

संदेश

जातीय जनगणना कराये जाने की माँग

समाजवादी पार्टी द्वारा मंडल आयोग की सिफारिशों को लेकर मंडल दिवस का आयोजन किया गया। समाजवादी पार्टी पिछड़ा वर्ग प्रकोष्ठ के जिलाध्यक्ष गिरिजा शंकर उर्फ बबलू लोधी के नेतृत्व में सैकड़ों कार्यकर्ताओं ने लाल टोपी लगाकर हाथ में माँगों से सम्बन्धित तख्तियाँ लेकर पार्टी के झण्डे बैनर के साथ गगन भेदी नारों के साथ जोरदार प्रदर्शन करते हुए सपा कार्यालय से कलेक्ट्रेट पहुँचे। महामहिम राष्ट्रपति को सम्बोधित 7 सूत्रीय ज्ञापन जिलाधिकारी के प्रतिनिधि को सौंपा। प्रदर्शनकारियों को सम्बोधित करते हुए कार्यक्रम के मुख्य अतिथि पार्टी के जिलाध्यक्ष इं . वीरेन्द्र यादव ने कहा कि 7 अगस्त 1990 को तत्कालीन केन्द्र सरकार ने मण्डल आयोग की सिफारिश को आधे अधूरे तरीके से लागू किया , जबकि पिछड़ा वर्ग आयोग द्वितीय के अध्यक्ष बी . पी . मण्डल ने पिछड़ी जातियों को राष्ट्र की मुख्य धारा में लाने के लिए विशेष अवसर का सिद्धान्त के अन्तर्गत देश की 3743 जातियों में विभक्त पिछड़ी जातियों की कुल

विश्व शान्ति की अपील

सी . एम . एस . गोमती नगर ऑडिटोरियम में आयोजित ‘ ग्लोबल इण्टरफेथ कन्वेन्शन ’ में आज हिरोशिमा दिवस की पूर्व संध्या पर देश - विदेश के विभिन्न धर्मगुरूओं ने आज एक स्वर से कहा कि वैश्विक समाज में धर्म के आधार पर बढ़ रहे वैमनस्य को देखते हुए विश्व एकता व विश्व शान्ति ही मानवता के विकास व उत्थान का एकमात्र विकल्प है और हम सभी को मिलजुलकर इस सपने को साकार करने में जुट जाना चाहिए। हिरोशिमा त्रासदी की याद दिलाते हुए विद्वजनों ने कहा कि यह विश्व समाज अब हिरोशिमा व नागासाकी जैसे और आघात अब नहीं सह सकता है। इसके अलावा , इस ‘ ग्लोबल इण्टरफेथ सम्मेलन ’ में जापान , रूस , स्विटजरलैंड , ब्राजील , अमेरिका , इजिप्ट , जर्मनी , सिंगापुर , फिलीपीन्स , मलेशिया , यू . ए . ई . एवं थाईलैण्ड के विभिन्न धर्मो के अनुयाईयों , विचारकों , शिक्षाविद्ों व अन्य प्रबुद्ध हस्तियों ने ऑनलाइन प्रतिभाग कर बड़े ही सारगर्भित विचार रखे।             इससे पहले , सम्मेलन की मुख्य अतिथि व लखनऊ की मेयर श्रीमती