सीधे मुख्य सामग्री पर जाएं

संदेश

महोबकंठ पुलिस ने इनामिया अभियुक्त गिरफ्तार किया

माहोबा। थाना महोबकंठ क्षेत्र में बाइक सवार अज्ञात अभियुक्तों द्वारा मोटर साइकिल से जा रहे दम्पति को लूट लिया गया जिसके सम्बन्ध में थाना स्थानीय पर मु0अ0सं0 75/20 धारा 392/411/120 बी पंजीकृत किया गया था। अभियुक्तों की गिरफ्तारी के क्रम में 20 जुलाई 2020 को पुलिस अधीक्षक महोबा मणिलाल पाटीदार के कुशल निर्देशन में अपर पुलिस अधीक्षक वीरेन्द्र कुमार व क्षेत्राधिकारी कुलपहाड़ अवध सिंह के पर्यवेक्षण में थानाध्यक्ष महोबकंठ आनन्द कुमार के कुशल नेतत्व में गठित टीम उ0नि0 कमलेश कुमार, कां0 आनन्द कुमार व एसओजी प्रभारी अनूप कुमार दुबे, उ0नि0 आशुतोष त्रिपाठी, उ0नि0 अच्छेलाल, हे0कां0 वीरन्द्र प्रताप की संयुक्त टीम द्वारा थाना स्थानीय पर पंजीकृत मु0अ0सं0 75/20 धारा 392/411/120बी भादवि से सम्बन्धित एक नफर वांछित 15000 रूपये के इनामिया अभियुक्त मनोज रैकवार पुत्र रामदास रैकवार उम्र 20 वर्ष निवासी ग्राम जखा थाना पनवाड़ी जनपद महोबा पुरानी नहर पुलिया के पास से ग्राम काशीपुरा से गिरफ्तार किया गया जिसके कब्जे से मुकदमा उपरोक्त से सम्बन्धित 6 अदद मनचली के फल व 1 अदद जवा पीली धातु तथा 1 अदद देशी तमंचा व 2 अदद जिन्द

आवश्यकता पड़ने पर हीे घर से बाहर निकले: शुभ्रा सक्सेना

रायबरेली। भारत सरकार व राज्य सरकार की ओर से कोविड-19 से बचाव हेतु दिये गये निर्देशानुसार जिलाधिकारी, रायबरेली शुभ्रा सक्सेना व पुलिस अधीक्षक स्वप्निल ममगई ने एनआईसी में कोविड-19 कोरोना वायरस से बचाव हेतु अधिकारियों को निर्देश दिये है कि लोगों को जागरूकता किया जाये तथा बताया जाये कि घर से बाहर न निकले बाहर निकले पर मास्क का प्रयोग अवश्य करे और सोशल डिस्टेसिंग का पालन करें। भीड़-भाड़ से बचे न ही भीड़ इक्ठ्ठा न हो इस नियम का निरन्तर स्वयं ही करना होगा इससे कोरोना के संक्रमण को रोकने में काफी मद्द मिलेगी। समय-समय पर साबून व सेनेटाइजेशन के प्रयोग का पालन कराने कोरोना के खिलाफ जंग में सभी को एकजुटता व तत्परता दिखानी होगी। जिन व्यक्तियों के पास राशन कार्ड नही है यदि उनके राशन कार्ड नही बने है उनके राशन कार्ड बनवाकर राशन भी उपलब्ध करवाया जाये। गौ-आश्रय संस्थनों में रखे गौवंशों का स्वास्थ्य परीक्षण नियमित रूप से कराया जाये साथ ही उनके हरे चारे की व्यवस्था भी रहे। मनरेगा के तहत लोगों को रोजगार दिलाये जाये इसके लिए गांव में मुनादी करवाई जाये। अधिक से अधिक रोजगार देने के लिए कृषि, उद्यान, एनएचआई, सिच

कोविड-19 की बिगड़ती स्थिति को नियंत्रित करने हेतु योजना तैयार

मंडलायुक्त झांसी सुभाष चंद्र शर्मा ने कैंप कार्यालय में देर रात एक इमरजेंसी बैठक की। जिसमें जनपद झांसी में कोविड-19 की  बिगड़ती स्थिति को नियंत्रित करने हेतु योजना तैयार की गई। उन्होंने कहा कि डोर टू डोर सर्विलांस के दौरान गंभीर बीमारी से ग्रस्त जो मरीज चिन्हित किए गए हैं उनका प्राथमिकता से एंटीजन टेस्ट कराया जाए और यदि पॉजिटिव आते हैं तो तत्काल मेडिकल कॉलेज कोविड हॉस्पिटल में भर्ती करें। उन्होंने कहा कि जनपद में संक्रमण को नियंत्रित करने के लिए सर्विलांस कांटैक्ट ट्रेसिंग, टेस्टिंग तथा संक्रमित पाए जाने पर तत्काल उपचार की व्यवस्था भी सबसे अच्छा तरीका है। मंडलायुक्त ने जनपद में एल-1 हॉस्पिटल की समीक्षा करते हुए कहा कि जो भी एल-1 हॉस्पिटल है तथा जो  एल-1 हॉस्पिटल बनाए गए हैं। वहां एल-1 हॉस्पिटल की सारी सुविधाएं व व्यवस्थाएं सुनिश्चित हो। एल-1 हॉस्पिटल में सुरक्षा व्यवस्था भी सुनिश्चित हो। मौके पर लगातार फोर्स तैनात रहे। एल-1 हॉस्पिटल बनाए गए होटल में पुलिस व्यवस्था तथा चिकित्सा टीम के साथ ही इंचार्ज भी मौजूद रहे हैं ताकि कोई समस्या है तो उसका निस्तारण किया जा सके। मंडलायुक्त सुभाष चंद्र

जिलाधिकारी से पत्रकार पर लिखे गये फर्जी मुकदमे को निरस्त करने की मांग

झाँसी। दैनिक परमार्थ आवाज के ब्यूरो चीफ जिला झाँसी बबीना निवासी पत्रकार मनीष साहू पर दर्ज मुकदमे को निरस्त करवाया जाए व साक्ष्यों को मुकदमे में सामिल करे जिससे यह स्पष्ट हो जाएगा की पत्रकार मनीष साहू पर दर्ज मुकदमा फर्जी है तथा उसे निरस्त कर पत्रकार को न्याय दिया जाए। बबीना के पत्रकार मनीष साहू ने 17 जुलाई 2020 को स्वास्थ्य विभाग की बड़ी लापरवाही व कोरोना पॉजिटिव मरीजों को छुट्टी कर घर भेजा। अभी भी है पॉजिटिव। शीर्षक से खबर शोशल मीडिया वॉट्सएप ग्रुप पर डाउनलोड वायरल व परमार्थ आवाज समाचार पत्र में प्रकाशित की थी। इस खबर के सम्बन्ध में 18 जुलाई 2020 को सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र बबीना के चिकित्साधिकारी डॉक्टर अंशुमन तिवारी ने पत्रकार मनीष साहू के खिलाफ बबीना थाने में रिपोर्ट धारा 186 188 67 आईटी एक्ट के तहत मुकदमा दर्ज कराया है। इस संदर्भ में बताना चाहते है कि 7 जुलाई 2020 को कोरोना पॉजिटिव मरीजों की लिस्ट जारी हुई थी। जिसमे बबीना के एक ही परिवार चार लोगो की रिपोर्ट पॉजिटिव निकली थी। सात जुलाई 2020 को ही झांसी मेडिकल कॉलेज में भेज दिया था। सात दिन भर्ती के बाद सभी को स्वास्थ्य बताकर डिस्च

कोरोना योद्धाओं को प्रशस्त्रि पत्र शाल देकर सम्मानित किया

रायबरेली। कोरोना-19 संक्रमण के दृष्टिगत रखते हुए जनपदवासी सोशल डिस्टेसिंग व मास्क का प्रयोग एवं कोरोना प्रोटोकाल का प्रयोग करते हुए कोरोना वायरस की चेन को तोड़ते हुए कोरोना जैसी महामारी को खत्म किया जा सकता है। पत्रकार बन्धुओं को इस सम्बन्ध में अधिक से अधिक आमजनमानस को अपनी लेखनी के माध्यम से जागरूक कर कोरोना जैसी महामारी को रोकने में आगे आना होगा। यदि देश व विदेशों में कोरोना के केस बढ़ रहे है परन्तु भारत एक ऐसा देश है जहां पर सरकार व आमजन की जागरूकता के कारण कोरोना की मृत्यु दर घटी है। एक रिपोर्ट द्वारा बताया गया है कि भारत में कोविड-19 के मामलों में मत्यु दर क्रम से घट रही है अस्पतालों में भर्ती मरीजों के सरकार द्वारा कराये जा रहे क्लीनिकल प्रबन्धन को जाता है। 29 राज्य एवं केन्द्र शासित प्रदेश जहां केस फैटैलिटी रेट सीएफआर देश के औसत से कम है पांच राज्यों एवं केन्द्र शासित प्रदेशों में सीएफआर शून्य है और 14 में मृत्युदर 1 प्रतिशत से भी कम है। मामलों के बढ़ने की कारगर निति तत्परता से जांच करना और देखभाल के समग्र मानक पर आधारित बेहतरीन क्लीनिकल प्रबन्धन प्रोटोकाल के कारण भारत का सीएफआर 2.

किशोर वैज्ञानिक प्रोत्साहन योजना

सिटी मोन्टेसरी स्कूल, गोमती नगर (प्रथम कैम्पस), लखनऊ के मेधावी छात्र अतुल पाण्डेय को भारत सरकार की किशोर वैज्ञानिक प्रोत्साहन योजना (के.वी.पी.वाई. फेलोशिप) के अन्तर्गत 4,64,000 रूपये की स्कालरशिप से नवाजा गया है। इस फेलोशिप के अन्तर्गत अतुल को विज्ञान वर्ग में स्नातक तक की पढ़ाई के दौरान प्रतिमाह रू. 5,000/- स्कालरशिप तथा आकस्मिक खर्चे के रूप में रू. 20,000/-वार्षिक मिलेगा। इसके उपरान्त, एम.एस.सी. स्तर की पढ़ाई के दौरान प्रतिमाह रू. 7,000/- स्कालरशिप तथा आकस्मिक खर्चे के रूप में रू. 28,000/- वार्षिक मिलेगा। इस प्रकार पाँच वर्षों की उच्चशिक्षा अवधि के दौरान इस मेधावी छात्र को 4,64,000/- रूपये की स्कालरशिप भारत सरकार द्वारा प्रदान की जायेगी। सी.एम.एस. के मुख्य जन-सम्पर्क अधिकारी श्री हरि ओम शर्मा ने बताया कि यह फेलोशिप विद्यालयों तथा स्नातकस्तर के छात्रों को रिसर्च कैरियर अपनाने के लिए प्रोत्साहित करने हेतु भारत सरकार की एक अत्यन्त ही महत्वाकांक्षी योजना है जिसका संयोजन भारतीय विज्ञान संस्थान, बंगलोर द्वारा किया जाता है।  श्री शर्मा ने बताया कि इस फेलोशिप की चयन प्रक्रिया के अन्तर्गत बोर्ड

कर्नलगंज 20 जुलाई को बाजार खुलने की घोषणा

कर्नलगंज में कोरोना से पीड़ित व्यापारी की मौत के बाद अन्तिम संस्कार में नगर के काफी लोग सम्मिलित हुए थे। पीड़ित परिवार के सदस्य के साथ ही साथ नौकर भी कोरोना संक्रमित पाये जाने से प्रशासन ने कोरोना संक्रमण की रोकथाम के लिए बजार को सप्ताह भर के लिए बन्द कर दिया था। कर्नलगंज के जनमानस ने आवश्यक वस्तु की आपूर्ति के अभाव मे भी पूरी तरह से लाकडाउन का पालन किया तथा प्रशासन की मदद की। प्रशासन के द्वारा लाकडाउन के शर्तो के साथ 20 जुलाई को बाजार के खुलने की घोषणा की गई है।