कोरोना योद्धाओं को प्रशस्त्रि पत्र शाल देकर सम्मानित किया

रायबरेली। कोरोना-19 संक्रमण के दृष्टिगत रखते हुए जनपदवासी सोशल डिस्टेसिंग व मास्क का प्रयोग एवं कोरोना प्रोटोकाल का प्रयोग करते हुए कोरोना वायरस की चेन को तोड़ते हुए कोरोना जैसी महामारी को खत्म किया जा सकता है। पत्रकार बन्धुओं को इस सम्बन्ध में अधिक से अधिक आमजनमानस को अपनी लेखनी के माध्यम से जागरूक कर कोरोना जैसी महामारी को रोकने में आगे आना होगा। यदि देश व विदेशों में कोरोना के केस बढ़ रहे है परन्तु भारत एक ऐसा देश है जहां पर सरकार व आमजन की जागरूकता के कारण कोरोना की मृत्यु दर घटी है। एक रिपोर्ट द्वारा बताया गया है कि भारत में कोविड-19 के मामलों में मत्यु दर क्रम से घट रही है अस्पतालों में भर्ती मरीजों के सरकार द्वारा कराये जा रहे क्लीनिकल प्रबन्धन को जाता है। 29 राज्य एवं केन्द्र शासित प्रदेश जहां केस फैटैलिटी रेट सीएफआर देश के औसत से कम है पांच राज्यों एवं केन्द्र शासित प्रदेशों में सीएफआर शून्य है और 14 में मृत्युदर 1 प्रतिशत से भी कम है। मामलों के बढ़ने की कारगर निति तत्परता से जांच करना और देखभाल के समग्र मानक पर आधारित बेहतरीन क्लीनिकल प्रबन्धन प्रोटोकाल के कारण भारत का सीएफआर 2.5 प्रतिशत से भी नीचे है। पत्रकार निष्पक्ष लेखनी के साथ ही रचनात्मक व सकारात्मक कार्यो से कोरोना वायरस को आसानी से खत्म करने के साथ ही देश, प्रदेश व जनपद को विकास व उन्नत की ओर अग्रसर कर सकते है। कोरोना 19 को संक्रमण से खुद को सुरक्षित रहते हुए दूसरो को जागरूक व बचाने रक्षा का कार्य करेंगे।
 यह उदगार पत्रकारो के एक संगठन उपजा द्वारा एक सुपर मार्केट में स्थित एक होटल में कोरोना वायरस के संक्रमण के दृष्टिगत सोशल डिस्टेसिंग व मास्क का प्रयोग करते हुए कुछ कोरोना योद्धाओं को प्रशस्त्रि पत्र शाल देकर सम्मानित के अवसर पर व्यक्त किये। पत्रकार व अध्यक्ष जीसी श्रीवास्तव ने जनपद को एक अच्छा जनपद बताते हुए कहा कि जनपद के पत्रकारों व पत्रकारिता की प्रदेश व देश में एक पहचान है। इस पहचान को रचनात्मक व सकारात्मक कार्यो से पत्रकार आगे भी बनायेंगे। जनपद के पत्रकारों ने कोरोना योद्धा के भांति आमजन में जागरूकता फैलाकर कोरोना के संक्रमण को फैलने में अंकुश लगाया है। सोशल डिस्टेसिंग व मास्क का प्रयोग अनावश्यक घुमने के साथ ही हेल्थ प्रोटोकाल का पालन करने के लिए आमजन को पालन करने तथा कोरोना जैसी महामारी के संक्रमण से लोगों को बचाए गये तथा कोरोना योद्धाओं के साथ ही आमजन का भी हौसला अफजायी भी करते रहेंगे। सरकार द्वारा स्वच्छता सेनेटाइजेशन और फाॅगिंग कराने के साथ ही अन्य कोरोन संकट से निपटने अन्य कार्यवाही रोकथाम आदि उपाय कर रही है। कोरोना से बचाओं की गाइडलाइन का अनुपालन सभी को करना है और कराना है। कोरोना योद्धा योगेन्द्र सिंह, डा0 रमेश चन्द्र श्रीवास्तव, विनोद बाजपेयी, रईस, मिलिन्द्र कुमार द्विवेदी, जोगेन्द्र सिंह अरोड़ा, सारिका, आनन्द, कपिल, विनोद कुमार, गुरू जी सिंह तनेजा, रघुनाथ प्रसाद द्विवेदी, जगपाल सिंह, पूर्व प्रधानाचार्य शिव नारायण सोनी आदि को संस्था द्वारा जहां कोरोना योद्धा प्रशस्त्रि पत्र शाल आदि से सम्मानित किया गया वहीं उन्होंने कोरोना संक्रमण के बढ़ते प्रभाव को रोकने के लिए सोशल डिस्टेसिंग का पालन करने तथा मास्क का प्रयोग करने आदि पर जनजागरण आमजन को जागरूक व सर्तक करने पर अपने विचार व्यक्त किये। उपजा के प्रदेश कार्यवाहक मंत्री राधेश्याम कर्ण ने कहा कि पत्रकारिता एक मिशन के साथ ही समाज का दर्पण है। समाज में जो कुछ घटता है उसे पत्रकार अपनी लेखनी के माध्यम से आगे उठाता है। कोरोना योद्धाओं को सम्मानित करने व पत्रकारों की समस्याओं आदि पर विस्तार से चर्चा की गई। उपस्थित जनों को सुशासन के 3 वर्ष नये भारत का नया उत्तर प्रदेश सबका साथ सबका विकास सबका विश्वास व उत्तर प्रदेश वार्षिकी भी दी तथा पत्रकारों से अपेक्षा की गई शासन व प्रशासन की बात के साथ ही रचनात्मक व सकारात्मक कार्यो को अधिक स्थान दें तथा हेल्थ प्रोटोकाल के साथ कार्य करें। इस मौके पर सोशल डिस्टेसिंग के साथ सीमित पत्रकार एवं एडी सूचना प्रमोद कुमार उपस्थित थे।