भारतीय प्रवासियों पर अंतर्राष्ट्रीय सम्मेलन आयोजित

फिजी विश्वविद्यालय, फिजी में 15, 16 व 17 जुलाई को भारतीय प्रवासियों पर एक अंतर्राष्ट्रीय सम्मेलन आयोजित किया गया। सम्मेलन में भारतीयों को जबरदस्ती मजदूरी के काम में धकेलने पर आयोजित की गई थी। अंग्रेजो के शासनकाल मे अंग्रेज भारतीयों को सुदूर फिजी, गुयाना, त्रिनिदाद, सूरीनाम, माॅरीशस आदि देशों में गन्ने की खेती के लिए ले गए।
 सम्मेलन फिजी विश्वविद्यालय में आयोजित किया गया। इस सम्मेलन में जिसमें शामिल होने के लिए उत्तर प्रदेश के वरिष्ठ पत्रकार पवन उपाध्याय भी गए थे। पवन उपाध्याय पहले बहुत से गिरमिट परिवारों को भारतीय परिवारों से मिलाने में सहयोग किया है। इन्होंने इसी विषय पर व्याख्यान दिया। इस सम्मेलन में इतिहास वर्तमान और भविष्य में क्या करना है उस पर भी चर्चायें हुई। प्रवासियों पर अंतरासर््ट्रीय सम्मेलन मुख्य आयोजक श्री गणेश चंद, कुलपति  सोलमन विश्यविद्यालय थे। इस सम्मेलन में बिमान प्रसाद, फिजी सांसद है, मुख्य अतिथि रोजी अकबर शिक्षा मंत्री, साथ ही न्यूजीलैंड के पूर्व गवर्नर जनरल आनंद सत्यानंद और गुयाना निवासी विष्णु बिश्राम जो गिरमिट पर बहुत कार्य किया है शामिल हुए। श्री पवन उपाध्याय ने गिरमिट परिवारों के भारतीय जड़ो को की जानकारी लाने में आ रही समस्या पर अपने विचार रक्खे।