ज्योतिष मे विवाह विच्छेद के ग्रह योग पर सेमिनार

वैदिक ज्योतिष एवं प्राच्य विद्या शोध के तत्वाधान में अलीगंज, लखनऊ में दिनांक 28 जूलाई को 127 वीं मासिक गोष्ठी का आयोजन वाराह वाणी हिन्दी त्रैमासिक पत्रिका के कार्यालय में किया गया। गोष्ठी का विषय ज्योतिष मे विवाह विच्छेद के ग्रह योग था! गोष्ठी मे ज्योतिष की प्रचलित पद्धतियों मे वर्णित विवाह विच्छेद पाराशरी ज्योतिष, जैमिनी, कृष्णमूर्ति तथा नाड़ी सूत्रों पर चर्चा की गई गोष्ठी की अध्यक्षता वाराह वाणी के संपादक डी.एस. परिहार ने की तथा गोष्ठी मे पं. शिव सहाय मिश्र, प. जर्नादन प्रसाद त्रिपाठी, जज श्री एल बी उपाध्याय, डा. प्रदीप निगम, श्री उदयराज कनौजिया तथा पं. अरविन्द त्रिवेदी और आचार्य राजेश श्रीवास्तव आदि ज्योतिषियोें एवं श्रेताओं ने भाग लिया गोष्ठी मंे श्री परिहार के अलावा पं. जर्नादन प्रसाद त्रिपाठी, जज श्री एल.बी. उपाध्याय, श्री उदयराज कनौजिया तथा  पं. अरविन्द त्रिवेदी ने अपने अनुभव और व्यक्तव्य प्रस्तुत किये।


इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

पक्षी आपका भाग्य बदले

परिवर्तन योग से करें भविष्यवाणी

जेल जाने के योग