रिसर्च मीडिया ग्रुप ने मुंबई में डिविजनल ऑफिस शुरू किया

रिसर्च मीडिया ग्रुप के चेयरमैन चैतन्य जंगा ने मुंबई के अंधेरी (पश्चिम) में शानदार तरीके से मुंबई में अपना डिविजनल ऑफिस शुरू किया। जिसमें 15 से 19 अक्टूबर को इजराइल में अपने होने वाले इंडो इजराइल कल्चरल फेस्टिवल की जानकारी दी।
एमबीए स्नातक चैतन्य जंगा ने 27 वर्ष पहले विजयवाड़ा से रिसर्च मीडिया ग्रुप कंपनी को शुरू करके कंपनी को बुलंदियों पर पहुंचाया। विजयवाड़ा, विशाखापत्तनम, हैदराबाद, चेन्नई, गोवा और यहां तक कि दुबई, मलेशिया, बैंकॉक, श्रीलंका, यूएसए में कंपनी की व्यावसायिक शाखाएं हैं। कंपनी का 572 करोड़ रुपए का टर्नओवर है। उन्होंने देश भर के सैकड़ों युवाओं के लिए रोजगार के अवसर पैदा किए। वे अपनी कंपनी के जरिये 60 हजार से ज्यादा लोगों को मॉडलिंग, टीवी शो, विज्ञापन फिल्म, ब्रांडिंग, इवेंट मैनेजमेंट इत्यादि में लोगों को मौका दे चुके है।
चैतन्य जंगा एपी फिल्म चैंबर ऑफ कॉमर्स के सक्रिय संयुक्त सचिव भी हैं। प्रेस कांफ्रेंस के दौरान चैतन्य जंगा ने कहा, हम लोग बहुत जल्द एक अंतरराष्ट्रीय सौंदर्य प्रतियोगिता आरएमजी मिस सेलिब्रिटी (इंटरनेशनल) 2020 का आयोजन करेंगे। विशाखापत्तनम या अमरावती में इस भव्य कार्यक्रम की हम लोग मेजबानी करेंगे, जहाँ एक मंच पर दुनिया भर के लगभग 40 देशों के अंतरराष्ट्रीय हस्तियां मौजूद होंगी, जो हमारे देश के पर्यटन को भी बढ़ावा देगी।अब अपने विजन पैन इंडिया और विश्व में विस्तार के उद्देश्य से हमने मुंबई में अंधेरी वेस्ट में अपना कॉर्पोरेट कार्यालय शुरू किया है।
उन्होंने बताया कि आरएमजी की मजबूत टीम में जिसमें सी एच हरी, लीला प्रसाद ( सीईओ), पी विजय वर्मा (एक्सिकेटिव डायरेक्टर ओर्गनाइजिंग कमिटी),  लिपी दास (फिल्ममेकर और प्रोफेसनल फोटोग्राफर), शनि सोलोमन (फिल्म अभिनेता और फिल्ममेकर), सैयदा हीना ( निफ्ट हैदराबाद की फैशन डिजाइनर), वैलेंटिना मिश्रा (नेशनल डायरेक्टर), लोहिथ,जयदेव, डॉ.पी विश्वनाथ राव, लंका नारायण राव इत्यादि नाम है जोकि कंपनी सफलता में अपना योगदान दिया है।  
चैतन्य ने अपने करियर पर प्रकाश डालते हुए कहा, एमबीए के दौरान एक विज्ञापन परियोजना का काम करने के बाद, मैंने एक कार्टूनिस्ट के रूप में अपने कैरियर की शुरुआत की, और महसूस किया कि विजयवाड़ा में उचित ब्रांडिंग सेवा नहीं है और फिर, मैंने एक नई कंपनी रिसर्च मीडिया ग्रुपश् की स्थापना के बारे में सोचा,तब से मैंने कभी पीछे मुड़कर नहीं देखा। आगे चैतन्य जंगा ने कहा,ष्कॉर्पोरेट सामाजिक जिम्मेदारी के तहत, हम ऑर्गन डोनेशन का कार्यक्रम गिनीज बुक ऑफ रिकॉर्ड्सश् के लिए भी करनेवाले है। यह वास्तव में न केवल हमें पुरस्कार देता है बल्कि वास्तविक संतुष्टि देता है। इस आयोजन की सफलता से लाखों लोगों को जीवन मिलता है। सबसे कीमती अंग प्राप्त करने का तरीका। जैसा कि हम सभी जानते हैं कि सार्वजनिक रूप से जागरूकता की कमी के कारण अंग मिलना बहुत चुनौतीपूर्ण हो गया है। हम इस संबंध में जनता को जागरूक करना चाहते हैं और भारत सरकार और राज्य का समर्थन चाहते है।


इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

पक्षी आपका भाग्य बदले

परिवर्तन योग से करें भविष्यवाणी

जेल जाने के योग