पुराने वैद्य के तीर वार करें गंभीर

कभी हम अचानक कुछ रोगों से असमय ग्रसित हो जाते है। जहां आस-पास डाक्टर, अस्पताल मेडिकल स्टोर कुछ नही होता है। यात्रा, रात-बिरात या गाँव या शादी, बरात, जनवासे उजाड़ बरात इलाके मे ऐसे मे आयुर्वेद के कुछ सरल उपाय तत्काल फस्ट एड का का काम करके राहत देते है। रोग को गंभीर होने से रोकते है।
उल्टी:-
1. अदरक का रस 1 चम्मच और प्याज का रस एक चम्मच मिला कर पीने से उल्टी रूक जाती है।
2. नीबू काट कर उसमे सेंधा नमक और काली मिर्च का चूर्ण मिला कर चुसने से उल्टी रूक जाती है।
3. गुनगुने पनी मे बताषे मिला कर पीयें।
4. एक कप पानी मे दो चम्मच शहद मिला कर पीयें।
दस्त:-
1. मीठे सेब का रस दिन मे तीन बार रस पियें।
2. सौंफ और जीरा बराबर मात्रा मे लेकर पीसकर भून लें फिर उसकी आधी चम्मच की मात्रा चार चार घंटे से लें।
3. चुटकी भर सौंठ शहद के साथ लें।
4. 50 ग्राम दही मे 2 चम्मच ईसबगोल या बेल का चूर्ण मिला कर दिन मे तीन बार लें।
5. दही मे मेथी मिलाकर सेवन करें।
एसिडिटी-
1. दो लौंग चूसें। तत्काल लाभ होगा।
2. छोटी या बड़ी इलायची शहद के साथ चूसें।
पेट दर्द:-
1. दो ग्राम सेंधा नमक व एक ग्राम अजवायन का चूर्ण लें तुरन्त आराम मिले।
2. सरसों के जेल मे हींग और काला नमक मिला कर गर्म करें और इस तेल की मालिश करें।
3. दही मे मेथी मिला कर सेवन करें।
सिर दर्द:-
1. एक कप दूध मे इलायची पीस कर पीने से सिर दर्द मे लाभ होता है।
2. गुड़ को पानी मे घोल कर पियें।
3. दालचीनी या लौकी का गूदा पीस कर माथे या सिर पर मलें।
4. गैस से उत्पन्न सिरदर्द मे गर्म पानी मे नीबू निचोड़ कर पियें।
5. सर्दी जुकाम के सिरदर्द मे साबुत धनिया और मिश्री का काढा बना कर पियें।