पालक के औषधीय गुण

सर्दियों के मौसम में सब्जी सबसे अधिक स्वास्थ्यवर्धक मानी जाती है। इनमें भी पालक में जो गुण पाये जाते है वे समान्यतः अन्य सब्जियों में नहीं पाये जाते। पालक में लोहे का अंश भी बहुत अधिक रहता है, पालक में मौजूद लोहा शरीर द्वारा आसानी से सोख लिया जाता है। इसलिए पालक खाने से खून के लाल कणों की संख्या बढ़ती। पालक का नाम आते ही लोग कहते हैं कि पालक खाने वाला व्यक्ति को कभी भी डाक्टर के पास नहीं जाता, अर्थात पालक खाने वाला कभी बीमार नहीं पड़ता है। चिकित्सकों के अनुसार पालक में शरीर के लिए आवश्यक अनेक अमीनो अम्ल, विटामिन ए, फोलिक अम्ल, प्रोटीन और लौह तत्व भरपूर मात्रा में पाए जाते हैं। गर्भवती स्त्रियों के लिए भी पालक का सेवन लाभदायक होता है। पालक में कैल्शियम भी बहुत अधिक रहता है। इसलिए बढ़ते बच्चों, बूढ़े व्यक्तियों और गर्भवती स्त्रियों के लिए वह बहुत लाभदायक है। पालक खाने से स्तनपान कराने वाली माताओं के स्तनों में अधिक दूध बनता है। पालक त्वचा और शरीर के लिए भी बहत अच्छा होता है। जो लोग बाल गिरने से परेशान हैं उन्हें तो रोज पालक खाना चाहिए। पालक शरीर में आयरन की कमी को पूरा करके बालों का गिरना रोकता है। पालक त्वचा को रूखे होने से बचाता है। पालक आखों में चमक उत्पन्न करता है। पालक के पेस्ट को चेहरे पर लगाने से चेहरे से झाइयां दूर हो जाती है। इसलिए महंगी-महंगी दवाइयां खाने से अच्छा है कि आप पालक खाइये जिससे दवाइयां खाने की नौबत ही ना आये।
- पालक की शाक वायुकारक, शीतल, कफ बढ़ाने वाली, मल का भेदन करने वाली, श्वास, पित्त, रक्त विकार एवं ज्वर को दूर करने वाली होती है।
- आयुर्वेद के जानकारें के अनुसार पालक की सब्जी सामान्यतः रुचिकर और शीघ्र पचने वाली होती है। इसके बीज मृदु, विरेचक एवं शीतल होते हैं।
- गर्मी का नजला, सीने और फेफड़े की जलन में भी यह लाभप्रद है। यह पित्त की तेजी को शांत करती है, गर्मी की वजह से होने वाले पीलिया और खांसी में यह बहुत लाभदायक है।
- पालक का सेवन वजन घटाने में भी सहायक होता है, ऐसा इसलिए संभव हो सकता है, क्योंकि पालक में वजन घटाने संबंधित गुण पाए जाते हैं।
- पालक का प्रयोग कैंसर में भी लाभकारी साबित हो सकता है। दरअसल, पालक बीटा कैरोटीन और विटामिन-सी से समृद्ध होता है और ये दोनों पोषक तत्व विकसित हो रही कैंसर कोशिकाओं से सुरक्षा प्रदान कर सकते है। इसके अतिरिक्त ये एक एंटीऑक्सीडेंट की तरह फ्री-रेडिकल्स और कार्सिनोजन को भी रोक सकते है।
- पालक आंखों की समस्या कम करने में सहायक हैं, आंखों की दृष्टि को स्वस्थ रखने के लिए गहरे हरे रंग के पत्तेदार साग का सेवन करने की सलाह दी जाती है, जिनमें से एक पालक भी है। पालक में विटामिन-ए और विटामिन-सी पाया जाता है।
- शरीर में हड्डियों को स्वस्थ रखने के लिए कैल्शियम की आवश्यकता होती है। पालक में पोशक तत्व है, जो हड्डियों के निमार्ण से लेकर उनके विकास में मदद करता है और उन्हें मजबूती प्रदान करता है। पालक में कैल्शियम की मात्रा पाई जाती है, इसलिए हड्डियों के स्वास्थ्य रखने के लिए आप पालक को दैनिक आहार में शामिल किया जाता हैं।
- मस्तिष्क स्वास्थ्य और तंत्रिका तंत के लिए लाभकारी होता है। पालक में कैल्शियम की मात्रा पाई जाती और कैल्शियम नर्वस सिस्टम के कार्य को सामान्य रूप से चलने में मदद कर सकता है। पालक मस्तिष्क-स्वस्थ के लिए उपयोगी है, पालक का सेवन याददास्त शक्ति को मजबूत करने का काम करता है।
- हार्ट अटैक के खतरे से बचे रहने के लिए भी आप पालक का सेवन कर सकते हैं। पालक नाइट्रेट पोषक तत्व से भरपूर सब्जियों में गिना जाता है, जो स्ट्रोक और हार्ट अटैक की वजह से होने वाली मौत के जोखिम को कम कर सकता है।
- पालक खाने के फायदे ब्लड प्रेशर से होने वाले जोखिम को कम कर सकता है। पालक में नाइट्रेट की मात्रा पाई जाती है। नाइट्रेट युक्त पालक ब्लड प्रेशर को कम करने में लाभदायक परिणाम दिखा सकता है। साथ ही साथ यह स्थिति हृदय स्वास्थ्य को भी लाभ पहुंचाने के काम आ सकती है।
- एनीमिया शरीर में लाल रक्त कोशिकाओं की कमी का सबसे ज्यादा खतरा गर्भावस्था के दौरान देखने को मिलता है। आयरन की कमी के कारण यह स्थिति उत्पन्न हो सकती है। एनीमिया के जोखिम को कम करने के लिए आयरन की भरपूर मात्रा की आवश्यकता होती है, जो पालक के जरिए पूरी की जा सकती है।
- पालक आपके स्वास्थ्य को मजबूत बनाने के लिए एंटी-इन्फ्लामेट्री के रूप में भी कार्य करता है। एंटी-इन्फ्लामेट्री क्रिया सूजन को कम करने और क्रानिक इन्फ्लेमेषन को ठीक करने का गुण रखती है। इसलिए, पालक को एंटी-इन्फ्लामेट्री आहार के रूप में उपयोग करने की सलाह दी जाती है।
- रोग मुक्त रहने के लिए इम्यनिटी का मजबूत रहना बहुत जरूरी है। पालक में विटामिन-ई की मात्रा भरपूर रूप में पाई जाती है और विटामिन-ई रोग-प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने का काम कर सकता है।
- पालक को आयरन की पूर्ति के लिए ही जाना जाता है और आयरन की कमी से एनीमिया का खतरा हो सकता है। शरीर में आयरन की पूर्ति के लिए आप पालक का सेवन किया जा सकता हैं।
- पालक खाने के फायदे में शरीर को आराम पहुंचता है। पालक में कैल्शियम की पर्याप्त मात्रा पाई जाती है। एक वैज्ञानिक अध्ययन के अनुसार कैल्शियम का सेवन करने से शरीर की मांसपेशियों को आराम मिलता है।
- मुहांसों की समस्या से परेशान हैं, तो निश्चिंत रहिए क्योंकि पालक में मौजूद पोषक तत्व इस समस्या को ठीक करने के काम आ सकते हैं। क्योंकि, विटामिन-सी की कमी से मुहांसों की समस्या बढ़ सकती है। वहीं पालक में विटामिन-सी की पर्याप्त मात्रा पाई जाती है। इसलिए, पालक का सेवन करके विटामिन-सी की कमी से होने वाली मुहांसों की समस्या को दूर किया जा सकता है।
- बालों को झड़ने से रोकने के लिए भी पालक के फायदे देखे जा सकते हैं। क्योंकि, जिंक की कमी बालों के झड़ने का एक मुख्य कारण हो सकती है। पालक में जिंक और मैग्नीशियम की पर्याप्त मात्रा पाई जाती है। पालक को खाने में प्रयोग करके जिंक और मैग्नीशियम की पूर्ति कर सकते हैं, जिससे बालों का झड़ना रुक सकता है।
सावधानी:-
- पालक में कैल्शियम की मात्रा पर्याप्त होती है और कैल्शियम का अधिक सेवन हृदय रोग का कारण बन सकता है। इसमें फाइबर की मात्रा होती है, जिसके अधिक सेवन से आपको पेट फूलने, सूजन और पेट में ऐंठन की समस्या हो सकती है। पालक में मौजूद बीटा-कैरोटीन (फलों और सब्जियों में पाया जाने वाला विटामिन-ए का एक रूप) से धूम्रपान करने वाले लोगों में कैंसर होने का खतरा बढ़ सकता है। एक दिन में 1-2 कप उबला हुआ पालक या 1 कप हरे पालक का सेवन किया जा सकता है। हालांकि, पालक की सही मात्रा के सेवन के लिए एक बार आहार विषेशज्ञ से अवश्य सलाह लें।