जो लगन और मेहनत से अपना कार्य करता है, उसे सफलता जरूर मिलती है

भारतीय प्रशासनिक सेवा में वर्ष 2017 में चायनित पैतृक घर हमीरपुर, झांसी में जन्में अमन वैष्णव जनरल कैटागिरी में 155 वाँ स्थान प्राप्त किया। इनके पिता श्री राम सेवक व माता अनीता दोनों ही इंजीनियर है। अमन की सफलता पर उनसे इण्डियन स्पीड के प्रतिनिधी से विशेष बातचीत के कुछ अंशः-
अ अमन जी आपको आई.ए.एस. बनने की प्रेरणा कहाँ से मिली?
- स्वयं से
अ अमन जी आपकों कितनी भाषाओं का ज्ञान है?
- अंग्रेजी और हिन्दी
अ जब आई.ए.एस. परिणाम आया तो, आपको कैसा अनुभव हुआ?
- शब्दों में व्यक्त करना संभव नहीं
अ अमन जी आप ने आई.ए.एस. की तैयारी कहाँ से की और किस कोचिंग से की?
- दिल्ली में तैयारी किया।
अ आप अपनी इस सफलता का श्रेय किसको देना चाहते हैं?
- मेरी माँ ही सब कुछ है, आज जो भी हूँ माँ की देन है।
अ अमन जी आपका मन-पसंद न्यूज पेपर कौन सा है?
- इण्डियन एक्सप्रेस, जनसत्ता और इण्डियन स्पीड
अ आपके पिता जी किस विभाग और किस पद पर हैं?
- रेलवे विभाग में हैं। 
अ आप कितने भाई-बहन हैं?
- एक बहन याग्वी
अ अमन जी आप देश के बच्चों से क्या कहना चाहेंगे?
- बस इतना ही कहना है कि जो लगन और मेहनत से अपना कार्य करता है, उसे सफलता जरूर मिलती है। अपने माता-पिता के कहने में चलो सफलता कदम चूमेगी।