खाद्यान्न वितरण की समीक्षा


आजमगढ़। मण्डलायुक्त कनक त्रिपाठी तथा डीआईजी सुभाष चन्द्र दूबे ने कोरोना वायरस के प्रसार को रोकने तथा उसके संक्रमण से आम जन को सुरक्षित रखने के दृष्टिगत गैर प्रान्तों एवं विदेशों से आने वालों को क्वरेन्टाइन करने एवं उनके चिकित्सीय परीक्षण हेतु जनपद में स्थापित दो शेल्टर होम का सोमवार को निरीक्षण किया। नगर के मण्डलीय जिला चिकित्सालय के पीछे स्थापित शेल्टर होम में अभी तक किसी को रखा जाना नहीं पाया गया, जबकि आजमगढ़-बिलरियागंज मार्ग पर जैगहा स्थिति राहुल सांकृत्यायन कालेज आफ फार्मेसी में दिल्ली से आये कुल 11 लोग क्वरेन्टाइन में रखे पाये गये। मण्डलायुक्त श्रीमती त्रिपाठी द्वारा पूछे जाने के पर उन लोगों बताया कि वे लोग पास के गांव पटवध सरैया के रहने वाले हैं तथा दिल्ली में खजूर पैकिंग का काम करते हैं। रविवार को गांव पहुंचने पर ग्राम प्रधान ने उन सभी लोगों को मडिकल जाॅंच एवं क्वरेन्टाइन हेतु यहाॅं भर्ती कराया है। मण्डलायुक्त द्वारा उनके खाने पीने, चेकअप के सम्बन्ध में जानकारी करने पर अवगत कराया गया कि अध्यक्ष, नगर पालिका परिषद आजमगढ़ शीला श्रीवास्तव द्वारा उनके भोजन आदि की व्यवस्था की गयी है। मण्डलायुक्त कनक त्रिपाठी ने मौके पर उपस्थित सीएमओ तथा ईओ नगर पालिका को निर्देश दिया कि चूॅंकि इन सभी लोगों को 14 दिनों तक क्वरेन्टाइन किया जाना है, इसलिए मण्डलीय जिला चिकित्सालय के निकट वाले शेल्टर होम में इन सभी लोगों को तत्काल शिफ्ट किया जाय। मण्डलायुक्त श्रीमती त्रिपाठी एव डीआईजी श्री दूबे ने इस मौके पर सभी 11 लोगों में भोजन का वितरण किया गया।
मण्डलायुक्त कनक त्रिपाठी ने निरीक्षण से पूर्व अपने कैम्प कार्यालय पर अपर आयुक्त (प्रशासन) अनिल कुमार मिश्र, अपर निदेशक स्वास्थ्य डा. एनएल यादव, उपायुक्त खाद्य केपी मिश्र, आरएफसी राजेश कुमार, उप निदेशक मण्डी परिषद अमिताभ शुक्ल आदि मण्डलीय अधिकारियों के साथ बैठक कर विभागीय कार्यों की समीक्षा किया। मण्डलायुक्त ने कहा कि कतिपय व्यापारियों द्वारा किसी न किसी बहाने खाद्यान्नों की आपूर्ति बाधित एवं शार्टेज आदि बताकर स्टाक होर्डिंग एवं अधिक मूल्य वसूली का प्रयास किया जा सकता है। उन्होंने उपायुक्त खाद्य, संभागीय खाद्य नियन्त्रक एवं उप निदेशक मण्डी को सख्त हिदायत दी कि जमाखोरी, काला बाजारी और ओवर रेटिंग पर सतर्क नजर रखी जाय। यदि कही से भी इस प्रकार की शिकायत मिलती है तो उसे पूरी गंभीरता से लेते हुए सम्बन्धित के विरुद्ध सुसंगत अधिनियमों के तहत तुरन्त कार्यवाही सुनिश्चित की जाय। इसके साथ ही उन्होंने यह भी निर्देश दिया कि आम जन को उपलब्ध कराई जा रही सुविधाओं की निरन्तर मानीटरिंग करते रहें। मण्डलायुक्त श्रीमती त्रिपाठी ने खाद्यान्न वितरण की समीक्षा के दौरान उपायुक्त खाद्य को निर्देशित किया कि अप्रैल माह में वितरित किये जाने वाले खाद्यान्न का उठान आज ही सायं तक अनिवार्य रूप से हो जानी चाहिए तथा हर हालत में एक अप्रैल से वितरण प्रारम्भ करायें, इसमें किसी प्रकारी की शिथिलता और शिकायत नहीं आनी चाहिए।


इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

पक्षी आपका भाग्य बदले

जन्म कुंडली में वेश्यावृति के योग

भृगु संहिता के उपचार