आनलाइन पीसकीपर्स कान्फ्रेन्स

सिटी मोन्टेसरी स्कूल, अलीगंज (प्रथम कैम्पस), लखनऊ द्वारा इण्टरनेशनल डे आॅफ यूनाइटेड नेशन्स पीसकीपर्स के अवसर पर ‘पीसकीपर्स कान्फ्रेन्स’ का जूम एप पर आनलाइन आयोजन किया गया, जिसका विषय था ‘सी.एम.एस. एजूकेशन - ए पासपोर्ट फाॅर फ्यूचर’। इस आनलाइन सम्मेलन में विद्यालय के पूर्व छात्रों ने बड़ी संख्या में प्रतिभाग कर विश्व में एकता, शान्ति व सौहार्द स्थापित करने विभिन्न आयामों पर विस्तार से चर्चा की। कान्फ्रेन्स का शुभारम्भ विश्व एकता एवं सर्वधर्म प्रार्थना से हुआ एवं इसके उपरान्त टाक शो का आयोजन हुआ, जिसमें विद्यालय के पूर्व छात्रांे ने एक स्वर से कहा कि विश्व मानवता के विकास एवं उत्थान हेतु ‘विश्व एकता’ ही एकमात्र विकल्प है। छात्रों का कहना था कि सी.एम.एस. की ‘जय जगत’ एवं ‘वसुधैव कुटम्बकम’ की भावना से ओतप्रोत शिक्षा पद्धति आदर्श विश्व व्यवस्था के निर्माण में अहम भूमिका निभा रही है, जो भावी पीढ़ी को उत्कृष्ट शिक्षा प्रदान करने के साथ ही उच्च जीवन मूल्यों से भी परिपूर्ण कर रही है। 
 सी.एम.एस. अलीगंज (प्रथम कैम्पस) की वरिष्ठ प्रधानाचार्या श्रीमती ज्योति कश्यप ने विद्यालय के पूर्व छात्रों का आभार व्यक्त करते हुए कहा कि कोरोना महामारी के इस दौर में यह आनलाइन सम्मेलन छात्रों व युवा पीढ़ी में उत्साह व आत्मबल का संचार करने में बहुत महत्वपूर्ण है। सी.एम.एस. अलीगंज (प्रथम कैम्पस) की प्रधानाचार्या श्रीमती शिवानी सिंह ने कहा कि विद्यालय के पूर्व छात्रों का यह आनलाइन संगम अपने आप में अद्भुद है, जो यह दिखाता है कि भावी पीढ़ी एकता, शान्ति व सौहार्द के वातावरण में विकास पथ पर बढ़ने हेतु तत्पर है। उन्होंने विद्यालय के पूर्व छात्रों का आह्वान किया कि आप लोग अपने-अपने कार्यक्षेत्र में उत्कृष्ट प्रदर्शन करते हुए सी.एम.एस. की जय जगत की विचारधारा को बढ़ावा देते रहें। 
 सी.एम.एस. संस्थापक व प्रख्यात शिक्षाविद् डा. जगदीश गाँधी ने ‘पीसकीपर्स कान्फ्रेन्स’ के आनलाइन आयोजन हेतु वरिष्ठ प्रधानाचार्या श्रीमती ज्योति कश्यप एवं प्रधानाचार्या श्रीमती शिवानी सिंह का हार्दिक आभार व्यक्त किया और कहा कि वर्तमान परिस्थितियों में यह सम्मेलन बहुत ही सामयिक है। उन्होंने प्रसन्नता व्यक्त करते हुए कहा कि सी.एम.एस. के सभी वर्तमान व पूर्व छात्र पूरी दुनिया में ‘जय जगत’ की भावना को जन-जन तक पहुंचाने का सतत प्रयास कर रहे हैं, यह हमारे लिए गर्व की बात है। डा. गाँधी ने कहा कि विश्व के ढ़ाई अरब से अधिक बच्चों के सुरक्षित व सुखद भविष्य हेतु सी.एम.एस. द्वारा विगत 20 वर्षों से लगातार अन्तर्राष्ट्रीय मुख्य न्यायाधीश सम्मेलन का आयोजन लखनऊ में किया जा रहा है, जिसमें अब तक 136 देशों के 1299 मुख्य न्यायाधीश, न्यायाधीश तथा राष्ट्राध्यक्ष प्रतिभाग कर चुके हैं। सी.एम.एस. के इन प्रयासों को पूरी दुनिया में सराहा गया है।