ई परिचर्चा के माध्यम से किया गया ‘उत्तर प्रदेश क्षय रोग वरिष्ठ उपचार पर्यवेक्षक संघ’ का निर्माण

उत्तर प्रदेश राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन संविदा कर्मचारी संघ की इकाई के रूप में वरिष्ठ उपचार पर्यवेक्षक कैडर द्वारा उत्तर प्रदेश क्षय रोग वरिष्ठ उपचार पर्यवेक्षक संघ का नवनिर्माण निर्माण किया गया। कोरोना संक्रमण के चलते सभाओं की मनाही के कारण वेबिनार के माध्यम से संघ का सर्वसम्मति से गठन हुआ। जिसमें प्रदेश अध्यक्ष करुणा शंकर मिश्रा, महामंत्री अनुज शर्मा, प्रदेश उपाध्यक्ष धर्मेंद्र नाथ सिंह एवं राजेश गंगवार, वरिष्ठ उपाध्यक्ष अतुल सागर, प्रदेश प्रवक्ता सुरेश मिश्र, प्रदेश सह मंत्री मोहम्मद सद्दाम, प्रदेश सचिव अनुज मिश्र, मीडिया प्रभारी अजीत कुमार पटेल, कोषाध्यक्ष आशुतोष त्रिपाठी एवं प्रदेश मंत्री मोहम्मद अशफाक को सर्वसम्मति से नियुक्त किया गया। वहीं सदस्यों में मनोज कुमार, सुरेंद्र सिंह, विपिन पाठक, राज गौतम, नीरज शर्मा, शफीक अहमद, शिव शंकर यादव, देवेंद्र बंसल, दुष्यंत गुज्जर शामिल हैं।
अभय मित्रा, अशोक कुमार शुक्ला एवं रविंद्र सक्सेना को संरक्षक की भूमिका में रखा गया। लगभग डेढ़ घंटे चली आनलाइन वार्ता मैं सभी सदस्य एवं पदाधिकारियों ने अपनी-अपनी बात रखी एवं संघ को हर हाल में मजबूती प्रदान करने की शपथ ली। प्रदेश अध्यक्ष करुणा शंकर मिश्र ने कहा संघ की इस इकाई के निर्माण का बस एक ही कारण था कि हमारा जो साथी अपनी बात नहीं कह पा रहा है, हमें उसकी मदद करनी है हमें हर हाल में एसटीएस कैडर के साथियों को कार्यक्षेत्र में आने वाली समस्याओं से निजात दिलाना है। प्रदेश महामंत्री अनुज शर्मा ने वरिष्ठ उपचार पर्यवेक्षक संघ इकाई के निर्माण की सभी को शुभकामनाएं दी एवं हर हाल में कंधे से कंधा मिलाकर चलने की बात कही।


प्रदेश संरक्षक अशोक शुक्ल ने भी सभी को शुभकामनाएं दी एवं सभी साथियों को कहा कि हमें अपने एसटीएस साथियों का तो ध्यान रखना है परंतु किसी का विरोध नहीं करना है, और जहां तक हो सके हमें दूसरों की मदद ही करनी है। संघ के सभी साथियों में हर्ष का माहौल है। संघ के सभी साथी एवं पदाधिकारी संघ के निर्माण को लेकर उत्साहित हैं।