झांसी में टिड्डी दल का हुआ प्रवेश

झाँसी। जनपद में टिड्डी दल का प्रकोप है। दल जनपद के विभिन्न क्षेत्रों में विचरण कर रहा है। खंड विकास अधिकारी सतर्क रहें और ऐसे गांवों की जानकारी अवश्य दें, जहां दल पहुंचा हो। ब्लॉक स्तर पर फायर ब्रिगेड की गाड़ियां तैयार रहें ताकि उनके माध्यम से कीटनाशक रसायनों का छिड़काव करते हुए नुकसान से बचा जा सके। टिड्डी दल प्रति घंटा 2 किलोमीटर के हिसाब से मूवमेंट कर रहा है और ऐसे स्थान जहां हरियाली है, वहां पहुंच रहा है। 
जिलाधिकारी आन्द्रा वामसी ने विकास भवन सभागार में आयोजित टिड्डी दल के संबंध में बैठक की अध्यक्षता करते हुए व्यक्त किए। उन्होंने जनपद के ग्रामीणों सहित आम जनमानस से अपील करते हुए कहा कि टिड्डी दल के विचरण की जानकारी तत्काल कंट्रोल रूम में दें।
जिलाधिकारी आन्द्रा वामसी ने कहा कि टिड्डी दल जहां हरि घास है, वहां अधिक प्रकोप हो सकता है। अतः ऐसे संभावित स्थान जहां हरियाली है उन स्थानों को चिन्हित कर लें और दल के मूवमेंट की जानकारी अवश्य साझा करें। उन्होंने कीटनाशक रसायन की उपलब्धता ब्लॉक स्तर पर सुनिश्चित करने के निर्देश दिए। जिलाधिकारी ने सुझाव देते हुए कहा कि साउंड (आवाज) से भी टिड्डी दल प्रभावित होता है। अतः ऐसे स्थानों पर डीजे आदि की व्यवस्था भी कर ली जाए ताकि क्षेत्र से भगाए जाने में मदद मिल सके।
बैठक में उप निदेशक कृषि कमल कटियार ने बताया कि जनपद में जो दल अभी विचरण कर रहा है। वह छोटा है, परंतु अभी जानकारी मिली है कि ढाई से तीन किलोमीटर लंबा एक बड़ा टिड्डी दल देश में आ गया है। उन्होंने बताया कि कोटा से टिड्डी दल से निबटने के लिए विशेषज्ञों का दल आ गया है। जनपद में अभी टिड्डी दल बंगरा मगरपुर में है। उन्होंने बताया कि जहां दल के रुकने की संभावना है वहां रात 8 बजे से रात 2 बजे तक कीटनाशक रासायनिक दवाओं का छिड़काव करना होगा। दवा की व्यवस्था कर ली गई है। कीटनाशक दवाओं के छिड़काव हेतु 6 फायर ब्रिगेड की गाड़ियों की मांग विशेषज्ञों द्वारा की गई है। जिसकी व्यवस्था भी कर ली गई है।
इस मौके पर सीडीओ निखिल टीकाराम फुंडे, नगर आयुक्त मनोज कुमार सिंह, सीएमओ डॉक्टर गजेंद्र कुमार निगम, डीडीओ उग्रसेन सिंह यादव, पीडी डा. आरके गौतम, कृषि रक्षा अधिकारी विवेक कुमार सहित अग्निशमन अधिकारी, आईजीएफआरआई के विशेषज्ञ उपस्थित रहे हैं।